साहित्य

#देश ख़तरे में है_चीन ‘डोकलाम में_सरकार ‘कोमा’ में_आप मुस्कराये!

#देश ख़तरे में है_चीन ‘डोकलाम में_सरकार ‘कोमा’ में_आप मुस्कराये!

19th January 2018 at 8:57 pm 0 comments

Shalini Jyothi ————-· 1. पहले के जवांई के जब आने का पता चलता तो ससुर जी दाढ़ी बनाकर और नए कपङे पहनकर स्वागत के लिए कम्पलीट रहते थे। 😂😂 2. जवांई आ जाते तो बहुत मान मनवार मिलती और छोरी दौड़कर रसोई में घुस जाती थी। सासुजी पानी पिलाती और […]

Read more ›
#’शहीद’ सफ़दर हाशमी_एक कम्युनिस्ट, नाटककार, कलाकार, निर्देशक, गीतकार और कलाविद!

#’शहीद’ सफ़दर हाशमी_एक कम्युनिस्ट, नाटककार, कलाकार, निर्देशक, गीतकार और कलाविद!

19th January 2018 at 12:31 am 0 comments

asim Baig Mughal ============== ‘शहीद’ सफ़दर हाशमी ***************** सफ़दर हाशमी एक कम्युनिस्ट नाटककार, कलाकार, निर्देशक, गीतकार और कलाविद थे। उन्हे नुक्कड़ नाटक के साथ उनके जुड़ाव के लिए जाना जाता है। भारत के राजनैतिक थिएटर में आज भी वे एक महत्वपूर्ण स्थान रखते हैं। सफदर जन नाट्य मंच और दिल्ली […]

Read more ›
#सआदत हसन मंटो : क्रांतिकारी दिमाग़ और अतिसंवेदनशील हृदय ने उन्हें ‘मंटो’ बना दिया

#सआदत हसन मंटो : क्रांतिकारी दिमाग़ और अतिसंवेदनशील हृदय ने उन्हें ‘मंटो’ बना दिया

19th January 2018 at 12:24 am 0 comments

‎Aasim Baig Mughal‎ =============== ‘सआदत हसन मंटो’ ============ पूरा नाम – सआदत हसन उपनाम – मंटो जन्म – 11 मई, 1912 जन्म भूमि – समराला, पंजाब ( ब्रिटिश भारत ) मृत्यु – 18 जनवरी, 1955 मृत्यु स्थान – लाहौर, पंजाब ( पाकिस्तान ) अभिभावक – ग़ुलाम हसन, सरदार बेगम पत्नी […]

Read more ›
ताजमहल पर काला चश्मा : महान कवि अशोक चक्रधर

ताजमहल पर काला चश्मा : महान कवि अशोक चक्रधर

18th January 2018 at 3:20 am 0 comments

Ashok Chakradhar – ============ · ताजमहल पर काला चश्मा —चौं रे चम्पू! तू फिर ताजमहल देखि आयौ, मन नायं भरै तेरौ? —वाकई मन नहीं भरता चचा! इस बार आपकी बहूरानी के साथ गया था। हमने कवयित्री डॉ. ज्योत्स्ना शर्मा को अपनी ताजमहल जाने की कामना बताई। मित्रवर अशोक चौबे ने […]

Read more ›
“एक लेडी डॉक्टर का पहला प्यार!

“एक लेडी डॉक्टर का पहला प्यार!

17th January 2018 at 12:36 am 0 comments

Tbassum Siddiqui ================= डॉक्टर बन जाने के बाद रिश्ते का इंतिज़ार शुरू हो गया। लेकिन अम्मी अब्बु को कोई रिश्ता पसंद ही नही आता था। चुनांचे उमर रफ्ता-रफ्ता ढलने लगी। लेकिन कहते है खुदा के घर मे देर है अंधेर नही। फिर जब एक दिन होस्टेल से लोटी तो क्या […]

Read more ›
मलिक मुहम्मद और लंगड़े दैत्य की कहानी : पार्ट 7

मलिक मुहम्मद और लंगड़े दैत्य की कहानी : पार्ट 7

16th January 2018 at 2:23 am 0 comments

हमने कहा था कि प्राचीन काल में एक राजा था, जिसके सात बेटे थे जिनमें से एक जिसका नाम मलिक मोहम्मद था सौतेला था। बाप का उत्तराधिकारी बनने के लिए सातों बेटे सोने का पिंजरा और तोता लेने गए। पहले 6 बेटों को न यह कि तोता हाथ नहीं लगा […]

Read more ›
🙋🏻बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ🙋🏻ग़रीबी की हालत में इसकी शादी कैसे करेंगे ?

🙋🏻बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ🙋🏻ग़रीबी की हालत में इसकी शादी कैसे करेंगे ?

14th January 2018 at 4:43 pm 0 comments

एक दिन की बात है लड़की की माँ खूब परेशान होकर अपने पति को बोली की एक तो हमारा एक समय का खाना पूरा नहीं होता और बेटी दिन ब दिन बड़ी होती जा रही है गरीबी की हालत में इसकी शादी कैसे करेंगे ? बाप भी विचार में पड़ […]

Read more ›
मलिक मुहम्मद और लंगड़े दैत्य की कहानी : पार्ट 6

मलिक मुहम्मद और लंगड़े दैत्य की कहानी : पार्ट 6

13th January 2018 at 3:22 am 0 comments

हमने बताया था कि पुराने ज़माने में एक राजा था जिसके सात लड़के थे। छः बेटे एक पत्नी से थे और सातवां सौतेला था। सौतेले बेटे का नाम मलिक मोहम्मद था। सभी बेटे राजा का उत्तराधिकारी बनने के लिए सोने के पिंजरे में बंद तोते को लेने गए। पहले छः […]

Read more ›
कविता संग्रह, जो वाक़ई ख़ास है

कविता संग्रह, जो वाक़ई ख़ास है

12th January 2018 at 4:48 pm 0 comments

-फ़िरदौस ख़ान ================ कविता अभिव्यक्ति का ऐसा माध्यम है, जिसके द्वारा मन की भावनाओं को सुंदरता से व्यक्त किया जाता है। आचार्य रामचंद्र शुक्ल के शब्दों में, हृदय की मुक्ति की साधना के लिए मनुष्य की वाणी जो शब्द विधान करती आई है, उसे कविता कहते हैं। हज़ारी प्रसाद द्विवेदी […]

Read more ›
सीमुर्ग़ की कहानी – पार्ट 3

सीमुर्ग़ की कहानी – पार्ट 3

11th January 2018 at 10:40 am 0 comments

हमने बताया था कि एक निर्धन व्यक्ति समुद्र में डूबकर आत्महत्या करना चाहता था, लेकिन सीमूर्ग़ ने उसकी सहायता की और उसे मछली दी जिसके पेट में हीरा और सोना भरा हुआ था। एक धोखेबाज़ व्यक्ति रास्ते में थोड़े से आटे के बदले में उससे मछली ले लिया करता था। […]

Read more ›