साहित्य

*नौजवान और बुढिया*

*नौजवान और बुढिया*

28th March 2018 at 11:48 pm 0 comments

‎Tabassum Shaikh Kashid‎ —————————- सड़क के किनारे एक औरत झुंझलाई सी खड़ी थी। और सामान की गठरी इस के सामने पड़ी थी। वो इस बात की मुन्तजिर थी के कोई मजदुर मिल जाए जो इसका सामान मंजिले मकसूद तक पहोचाए। इत्तेफाक की बात उधरसे एक नौजवान का गुजर हुआ। परेशान […]

Read more ›
तो यह उसे उसके रोग से ज्यादा दर्द देता!

तो यह उसे उसके रोग से ज्यादा दर्द देता!

28th March 2018 at 11:29 pm 0 comments

Er Himanshu Mittal Gupta =============== एक आदमी ने एक बहुत ही खूबसूरत लड़की से शादी की। शादी के बाद दोनो की ज़िन्दगी बहुत प्यार से गुजर रही थी। वह उसे बहुत चाहता था और उसकी खूबसूरती की हमेशा तारीफ़ किया करता था। लेकिन कुछ महीनों के बाद लड़की चर्मरोग (skinDisease) […]

Read more ›
मोहब्बत की इंतहा इश्क़ है तो इश्क़ की इंतेहा क्या है ?

मोहब्बत की इंतहा इश्क़ है तो इश्क़ की इंतेहा क्या है ?

27th March 2018 at 1:17 am 0 comments

Shariq Husain Aligarian =========== नीचे तस्वीर में जो शख्स है उसका नाम जाफ़र है, इसकी पैदाइश 1977ई० में हुई थी, यह मइशत (ECONOMY) का स्टूडेंट था , तालीमी दौर में एक लड़की मरयम से मुलाक़ात हुई इसने उससे मोहब्बत की , और मोहब्बत भी ऐसी जो अकीदत पाकीज़गी और एहतराम […]

Read more ›
अनारकली ऑफ़ आरा – सरला माहेश्वरी

अनारकली ऑफ़ आरा – सरला माहेश्वरी

26th March 2018 at 8:33 pm 0 comments

By – Arun Maheshwari =============== अनारकली ऑफ़ आरा ! -सरला माहेश्वरी अनारकली ऑफ आरा वाह ! तुम्हारा पारा ग़ुस्सा तुम्हारा खारा खारा बजबजाता शहर आरा नंगा बेचारा उस पर टमाटर जैसा चेहरा बन गया अंगारा क्या खूब ललकारा ! धो धो कर मारा धूम मचाकर मारा कुलपति को भरे बाजार […]

Read more ›
तुम नारी हो,,,,फिर कैसे सहती रही, सदियों से ये अत्याचार, उठो, और….

तुम नारी हो,,,,फिर कैसे सहती रही, सदियों से ये अत्याचार, उठो, और….

25th March 2018 at 5:52 pm 0 comments

Preet Pratima ==================== तुम नारी हो, शक्ति हो, तुम्हीं तो क्षृष्टी हो, पौरष की जननी हो, किस ने कहा? कि, तुम अबला हो, तुम दुर्गा का रूप हो, लक्ष्मी का स्वरूप हो, दानव संहारनी, ममता मई कृपालिनी, फिर कैसे सहती रही, सदियों से ये अत्याचार, उठो, और अपने को पहचानो, […]

Read more ›
#हबीब जालिब : वो इंक़लाबी शायर जो अक्सर जेल में रहता था!

#हबीब जालिब : वो इंक़लाबी शायर जो अक्सर जेल में रहता था!

25th March 2018 at 1:43 pm 0 comments

Sagar_parvez =============== “अब और नया क्या सितम इज़ाद करोगी लाहौर की गलियों तुम मुझे याद करोगी” आज उस शायर का यौम-ए-पैदाइश है, जिसका नाम है हबीब जालिब. जालिब इक आवाज जो हमेशा गरीब, शोषित और मजदूरों के अधिकारों की मांग में उठती रही. ये वो आवाज थी जिसे दबाने और […]

Read more ›
सारी उम्र बादशाह ने ऐसे ही गुज़ार दी!!!

सारी उम्र बादशाह ने ऐसे ही गुज़ार दी!!!

25th March 2018 at 2:25 am 0 comments

Ahmad Rais Khan ================ एक बादशाह अपने मुंह जोर घोड़े पर सवार था। घोड़ा किसी वजाह से भड़का तो बादशाह सर के बल जमीन पर गिर गया। और उसकी गर्दन की हड्डी की मोहरे हिल गई अब वह गर्दन को हरकत करने पर भी क़ादिर न रहा। शाही तबीबो ने […]

Read more ›
लड़की वाले आज इनके बाप के नौकर है!!!

लड़की वाले आज इनके बाप के नौकर है!!!

22nd March 2018 at 5:03 pm 0 comments

चौधरी साब ================ गोस्त की बोटियाँ टापा टाप नीचे गिराए जा रहा था, और बार बार वेटर से “अबे टांग ले आ इसमें, बिल्कुल ठंडा लाया, गर्म क्यों नहीं लाया, इसे क्या तेरा बाप खायेगा” बोलकर हड़का रहा था। एक रोटी हाथ मे ली और “ठंडी है” बोलकर निवाला तोड़ा […]

Read more ›
गौरैया तुझे देखकर मुझे मेरा बचपन याद आ जाता है

गौरैया तुझे देखकर मुझे मेरा बचपन याद आ जाता है

21st March 2018 at 2:41 am 0 comments

Nahida Qureshi ================= · गौरैया तुझे देखकर मुझे मेरा बचपन याद आ जाता है, न जाने कहाँ खो गयी है तू या हम सबने खो दिया है तुझ को” मुझे आज भी वो दिन याद है जब मैं और मेरा छोटा भाई अब्दुल अव्वल खान जो कि अब इस दुनिया […]

Read more ›
सिन्दबाद की कहानी

सिन्दबाद की कहानी

17th March 2018 at 9:25 am 0 comments

फार्स में सिन्दबाद नाम का एक राजा रहता था। फार्स में सिन्दबाद नाम का एक राजा रहता था। उसके पास प्रशिक्षित बाज़ एक बाज़ था जिसे वह बहुत चाहता था और उसे अपने से अलग नहीं करता था। सिन्दबाद के आदेश से बाज़ की गर्दन में सोने का बना एक […]

Read more ›