ब्लॉग

दलितों के घर भोजन करने वाले मौत की नींद सो चुके मासूमों के घर दुख बाँटने कब जाएँगे : रविश कुमार

दलितों के घर भोजन करने वाले मौत की नींद सो चुके मासूमों के घर दुख बाँटने कब जाएँगे : रविश कुमार

14th August 2017 at 7:47 pm 0 comments

गोरखपुर जो मंत्री लोग अभी जा रहे हैं सिलेंडर ख़रीदने जा रहे हैं या परिवार वालों के यहाँ सांत्वना देने ? कहाँ कहाँ गए हैं ? या हर कोई कलक्टर के साथ बैठकर मीटिंग कर रहा है ? खाना खाने तो सब जा रहे हैं परिवारों में, सांत्वना देने साठ […]

Read more ›
आरएसएस ने 1948 में तिरंगे को पैरों तले रौंदा था : शेष नारायण सिंह

आरएसएस ने 1948 में तिरंगे को पैरों तले रौंदा था : शेष नारायण सिंह

14th August 2017 at 7:24 pm 0 comments

श्रीनगर के लाल चौक पर झंडा फहराने की बीजेपी की राजनीति पूरी तरह से उल्टी पड़ चुकी है. बीजेपी की अगुवाई वाले एनडीए के संयोजक शरद यादव तो पहले ही इस झंडा यात्रा को गलत बता चुके हैं, अब बिहार के मुख्यमंत्री और बीजेपी के महत्वपूर्ण सहयोगी नीतीश कुमार ने […]

Read more ›
क्या पाकिस्तान-भारत संबंध बहाल हो सकते हैं?

क्या पाकिस्तान-भारत संबंध बहाल हो सकते हैं?

14th August 2017 at 7:20 pm 0 comments

पाकिस्तान और भारत 70वां यौमे आज़ादी मना रहे हैं तो एक लम्हे के लिए उन्हें आत्ममंथन भी ज़रूर करना चाहिए। दोनों के संबंधों की कहानी टकराव और लड़ाई का एक लंबा इतिहास पेश करती है। दोनों देशों की आज़ादी के समय के पीड़ादायक हालात आज भी लोगों के मन में […]

Read more ›
‘हामिद अंसारी का बयान सौ फीसदी सही है’

‘हामिद अंसारी का बयान सौ फीसदी सही है’

14th August 2017 at 5:56 am 0 comments

ताहिर महमूद – पूर्व अध्यक्ष, राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग ———————- हाल ही में उप-राष्ट्रपति पद का कार्यकाल पूरा होने से पहले हामिद अंसारी ने एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा था कि देश के मुस्लिमों में बेचैनी और असुरक्षा की भावना दिखाई पड़ती है. इसके अलावा उन्होंने राज्यसभा में […]

Read more ›
‘कश्मीर में जो हो रहा है उससे दिल्ली ख़ुश होगी’

‘कश्मीर में जो हो रहा है उससे दिल्ली ख़ुश होगी’

14th August 2017 at 5:53 am 0 comments

बशीर मंज़र – बीबीसी हिंदी डॉट कॉम के लिए ——————- कश्मीर घाटी में संविधान के अनुच्छेद 35ए के समर्थन में शनिवार को पूर्ण बंद रहा. चारों ओर से घिरी मुख्यमंत्री महबूबा मुफ़्ती को उस समय राहत मिली जब उनकी गठबंधन सहयोगी बीजेपी के मुखिया और राज्य के उपमुख्यमंत्री निर्मल सिंह […]

Read more ›
वे सब अफ़ीम के नशे में धुत है….गोरखपुर मे क्या किए अब तक?

वे सब अफ़ीम के नशे में धुत है….गोरखपुर मे क्या किए अब तक?

13th August 2017 at 10:34 pm 0 comments

Santosh Kumar Pyasa ————————– विश्व मे भारत ही एकमात्र देश है जिसमे बच्चों की मौत इंसिफिलाइटिस से होती है… 1978 मे यह बीमारी भारत में आयी.. गोरखपुर मे बाबा जी बीस साल से अधिक संसदीय जीवन जी रहे हैं… उससे पहले उनके गुरू और उसके पहले गुरू के गुरू. कुल […]

Read more ›
ओवैसी भाइयों का विरोध बीजेपी – संघ से ज़यादा मुस्लिम “नामधारी” बुद्धिजीवी करते नज़र आते हैं! .

ओवैसी भाइयों का विरोध बीजेपी – संघ से ज़यादा मुस्लिम “नामधारी” बुद्धिजीवी करते नज़र आते हैं! .

13th August 2017 at 6:45 am 0 comments

Mohammad Arif Dagia ——————————— ओवैसी भाइयों का जितना विरोध बीजेपी -संघ के लोग या हिन्दू भी नहीं कर रहे हैं , उससे ज्यादा उनका विरोध मुस्लिम ” नामधारी ” बुद्धिजीवी करते नज़र आ रहे हैं . . ओवैसी अगर कहीं से अपने उम्मीदवार खड़ा करे तो विरोध— ओवैसी अगर अवलिया […]

Read more ›
CPI(M) पर बहुमतवादियों का यह कैसा मकड़जाल है!

CPI(M) पर बहुमतवादियों का यह कैसा मकड़जाल है!

13th August 2017 at 4:45 am 0 comments

Sagar_parvez ——————— सीपीआई(एम) के अंदर 1996 के बाद से ही जब मतदान और बहुमत के जरिये संयुक्त मोर्चा के सर्वसम्मत चयन के बावजूद ज्योति बसु को प्रधानमंत्री बनने से रोक दिया गया, प्रकाश करात के नेतृत्व में बहुमतवादियों ने एक अनोखी परिपाटी चला दी है कि देश और पार्टी के […]

Read more ›
चोटी के साथ नाक भी तो कट रही है!

चोटी के साथ नाक भी तो कट रही है!

13th August 2017 at 12:23 am 0 comments

आर्य प्रतिनिधि सभा – आर्य प्रतिनिधि सभा दिल्ली | ————————— कई राज्यों में महिलाओं की चोटी कटने की घटना से सभी सकते में हैं ऐसे में शासन से लेकर प्रशासन तक इसका सच जानने की कोशिश में, तो आमजन भयभीत सा नजर आ रहा है- किसी ने अपने घर के […]

Read more ›
दुनिया के और देशों के महापुरुषों को लेकर ऐसी असहमति शायद ही कभी देखी गई हो!

दुनिया के और देशों के महापुरुषों को लेकर ऐसी असहमति शायद ही कभी देखी गई हो!

13th August 2017 at 12:20 am 0 comments

देश की आजादी के लिए वर्ष 1942 में छेड़े गए ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ के 75 वर्ष पूरे होने के अवसर को संसद में जिस तरह याद किया गया, उससे कई सवाल उठते हैं। यह सरकार और सभी राजनीतिक दलों के लिए एक प्रचार दिवस बनकर रह गया। उन्होंने ‘भारत छोड़ो’ […]

Read more ›