ब्लॉग

तालेबान से वार्ता : अफ़ग़ानिस्तान में ईरान की भूमिका, ईरान की तालेबान से वार्ता क्यों?

तालेबान से वार्ता : अफ़ग़ानिस्तान में ईरान की भूमिका, ईरान की तालेबान से वार्ता क्यों?

8th January 2019 at 10:59 pm 0 comments

अबू धाबी में अमरीकी अधिकारियों और तालेबान के प्रतिनिधियों के बीच वार्ता होने के कुछ ही दिन बाद ईरान की सर्वोच्च राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद के सचिव अली शमख़ानी ने काबुल की यात्रा और अफ़ग़ानिस्तान के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार हम्दुल्लाह मुहिब्ब से मुलाक़ात के साथ ही घोषणा की कि तालेबान से […]

Read more ›
अपने ही जाल में बुरी तरह फंसने जा रहा है इस्राईल!

अपने ही जाल में बुरी तरह फंसने जा रहा है इस्राईल!

8th January 2019 at 4:47 pm 0 comments

इस्राईली टीवी चैनलों में एक ख़बर आ रही है कि इस्राईली सरकार की मांग पर एक अंतर्राष्ट्रीय आडिट संस्था एक दस्तावेज़ तैयार कर रही है जिसमें यह बताया जाएगा कि अरब देशों से पलायन करके फ़िलिस्तीन जाने वाले यहूदियों की इन देशों में लगभग 250 अरब डालर की संपत्तियां हैं […]

Read more ›
तुर्की और पाकिस्तान में बढ़ती नज़दीकी का क्या है मतलब, समझिये

तुर्की और पाकिस्तान में बढ़ती नज़दीकी का क्या है मतलब, समझिये

6th January 2019 at 5:20 pm 0 comments

इस समय सऊदी अरब की तो यह हालात है कि वह वरिष्ठ पत्रकार जमाल ख़ाशुक़जी की हत्या के बाद की गंभीर अंतर्राष्ट्रीय परिस्थितियों से जूझ रहा है जबकि दूसरी ओर सऊदी अरब के प्रतिद्वंद्वी तुर्क राष्ट्रपति रजब तैयब अर्दोग़ान दो महत्वपूर्ण इस्लामी देशों के नेताओं से मिले जिसकी विशेष महत्व […]

Read more ›
इनको तो आपने ही नंगा किया

इनको तो आपने ही नंगा किया

6th January 2019 at 12:31 am 0 comments

नीलोफर अनवर ============= पहले आप जानते ही होंगे तारिक बिन ज़ियाद रज़ ने 711 इसवी में स्पेन में मुसलमानों को फतह देकर 800 साल इस्लामी हुकूमत रही भले ही ये 800 साल मुसमानो की बादशाहत में गुज़रे मगर यहां मुसलमान हमेशा अल्पसंख्यक ही रहे क्यूंकि इस्लाम में कहीं भी जबरन […]

Read more ›
ज़ालिम को ज़लील ही होना पड़ता है चाहे अमेरिका हो या भाजपा

ज़ालिम को ज़लील ही होना पड़ता है चाहे अमेरिका हो या भाजपा

5th January 2019 at 8:41 pm 0 comments

Mohd Sharif *************************** किसी के अधिकारों का हनन करना ज़ुल्म कहलाता है। ज़ुल्म गुनाह है और ज़ुल्म के अलावा कोई बात गुनाह नहीं है। मिसाल के तौर पर देखें कि अल्लाह ने सबको पैदा किया, वही खाने को देता है और उसी के हाथ में मौत भी है इसलिए यह […]

Read more ›
ट्रिपल तलाक़ कोई साधारण तलाक़ नहीं

ट्रिपल तलाक़ कोई साधारण तलाक़ नहीं

5th January 2019 at 2:04 am 0 comments

Hardeep Singh Puri ============== मैं घरेलू राजनीति की दुनिया के लिए एक अपेक्षाकृत नई प्रेरितों हूँ, एक पेशे में चार दशक खर्च कर रहा हूँ, जो कूटनीति के रूप में वर्गीकृत है. यह मुझे आश्चर्यचकित करता है कि ऐसी कब्र के कारण राजनीतिक दलों को वोट-बैंक की राजनीति पसंद है, […]

Read more ›
मुसलमानों से ज़बरदस्ती वन्देमातरम कहलवाने वाले ज़लील होंगे

मुसलमानों से ज़बरदस्ती वन्देमातरम कहलवाने वाले ज़लील होंगे

5th January 2019 at 1:25 am 0 comments

Mohd Sharif ******************** सरकार या सरकार के समर्थन से जो लोग मुसलमानों के ईमान और आस्था से खिलवाड़ करते हुए उन पर कुफ़्र की बातें थोपते हैं या काफ़िराना बातें ज़बान से कहलवाने के लिए मजबूर करते हैं, वह संविधान के ख़िलाफ़ भी है और मुसलमानों पर जुल्म भी है। […]

Read more ›
‘ट्रम्प का बयान इस्राईल पर बिजली बनकर गिरा’

‘ट्रम्प का बयान इस्राईल पर बिजली बनकर गिरा’

4th January 2019 at 10:09 pm 0 comments

अमरीका के राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रम्प ने बुधवार को एक बयान देकर अपने घटक इस्राईल तथा उसके समर्थकों को बुरी तरह चौंका और डरा दिया। ट्रम्प ने संकेत किया कि उनका मानना है कि यह अमरीका के हित में नहीं है कि वह सीरिया या अफ़ग़ानिस्तान की लड़ाई का हिस्सा बने, […]

Read more ›
नारे नहीं सही क्रांति चाहिए : अभय

नारे नहीं सही क्रांति चाहिए : अभय

3rd January 2019 at 2:45 am 0 comments

Abhay Vivek Aggroia =========== नारे नहीं सही क्रांति चाहिए ==अभय == CPI के जन्म से लेकर आज कम्युनिस्ट आंदोलन हासिये पर आ चूका है क्या समाजवाद और पूंजीवाद अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर प्यार के बंधन में बांध कर रह सकते हैं ? समाजवादी क्रांति आर्थिक पिछड़े देश में होगी या अधिकतम […]

Read more ›
‘हिन्दु राष्ट्र बनाने की मुहिम को भड़काने के लिये आज़ादी मिलते ही बाबरी मस्जिद में राम की मूर्ति रखी गई’

‘हिन्दु राष्ट्र बनाने की मुहिम को भड़काने के लिये आज़ादी मिलते ही बाबरी मस्जिद में राम की मूर्ति रखी गई’

3rd January 2019 at 2:15 am 0 comments

Suryansh Mulnivashi ============ एक युवक से फोन पर बातचीत हुई, वो राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़े हुए थे। बहुत लम्बी बातचीत में उनकी कई शंकाओं का समाधान हुआ। मैनें उन्हें RSS के सांस्कृतिक पुनरउत्थान के षडयंत्र के बारे में समझाया। RSS कहता है कि हमें भारत का स्वर्ण युग […]

Read more ›