ब्लॉग

एक बार फिर मेरठ खून में डूब गया!!!

एक बार फिर मेरठ खून में डूब गया!!!

22nd May 2018 at 1:29 am 0 comments

Saleem Akhter Siddiqui ================ जब पंजाब संकट चल रहा था। अकाली नेता हरचंद सिंह लोंगोवाल के साथ राजीव गांधी की मीटिंग थी। जब लोंगोवाल मीटिंग से बाहर आए तो एक पत्रकार ने पूछा, कैसे लगे राजीव गांधी? लोंगोवाल ने कहा, यह पूछना हो तो किसी बीरबानी (महिला) से पूछना। राजीव […]

Read more ›
भारतीय मुस्लिम युवाओं से ”मेराज हसन” की अपील….!!!

भारतीय मुस्लिम युवाओं से ”मेराज हसन” की अपील….!!!

22nd May 2018 at 1:19 am 0 comments

Meraj Hasan – Forbesganj ================= भारतीय मुस्लिम युवाओं से मेरी अपील….. भारतीय राजनीति में आज सब से ज्यादा अगर कोई “confused” दीखता है तो वो है भारतीय मुसलमान… आज इस क़ौम के पास ना राजनितिक दुनिया में ना कोई “Vision” है ना आधार है। सच पूछो तो मेरे क़ौम के […]

Read more ›
सर सैयद के ख्वाबों की ताबीर : Down Fall Of Aligarh

सर सैयद के ख्वाबों की ताबीर : Down Fall Of Aligarh

22nd May 2018 at 1:01 am 0 comments

Azfar Ali Khan ================== *”सर सैयद के ख्वाबों की ताबीर – अंजुमन अल फ़र्ज़ (ड्यूटी सोसाइटी)”* *”Down Fall Of Aligarh”* सर सैयद के जानशीन जनाब ए मोहतरम तारिक़ मंसूर साहिब ने 63 दिन यानी डेढ़ हजार घंटे 10 मिनट 60 सेकंड ग़ुज़र जाने के बाद भी मज़लूम की आवाज़ को […]

Read more ›
मोदी-शाह की जोड़ी सत्ता के नशे की लत का शिकार हो चुकी है, पढ़िए Manini Chatterjee का लेख

मोदी-शाह की जोड़ी सत्ता के नशे की लत का शिकार हो चुकी है, पढ़िए Manini Chatterjee का लेख

22nd May 2018 at 12:55 am 0 comments

Arun Maheshwari ================== आज के ‘टेलिग्राफ’ में मानिनि चटर्जी का एक बेहद दिलचस्प लेख है – कर्नाटक का धक्का (Karnataka Jolt) । नशा शराब का हो या सत्ता का, कैसे वह हल्के से सुरूर से बढ़ता हुआ धीरे-धीरे मस्ती और भारी गरूर से होकर सोचने-समझने की शक्ति तक को गंवा […]

Read more ›
…अगर वो जीवन इंदिरा गांधी के बेटे को समर्पित नहीं है…तो वो जीवन कहाँ का?

…अगर वो जीवन इंदिरा गांधी के बेटे को समर्पित नहीं है…तो वो जीवन कहाँ का?

21st May 2018 at 11:56 pm 0 comments

Satyendra PS ================= 21 मई, 1991 को शाम के आठ बजे थे. कांग्रेस की बुज़ुर्ग नेता मारगाथम चंद्रशेखर मद्रास के मीनाबक्कम हवाई अड्डे पर राजीव गांधी के आने का इंतज़ार कर रही थीं. थोड़ी देर पहले जब राजीव गांधी विशाखापट्टनम से मद्रास के लिए तैयार हो रहे थे तो पायलट […]

Read more ›
इन कुछ प्रश्नों के सही उत्तर नहीं तो आप के पास RSS की सही पहचान नहीं है.

इन कुछ प्रश्नों के सही उत्तर नहीं तो आप के पास RSS की सही पहचान नहीं है.

21st May 2018 at 8:17 pm 0 comments

JAYANTIBHAI MANANI·MONDAY =========== आरएसएस के बारे मे क्या सच है और क्या जुठ है ? इस के बारे में संघ के समर्थक और विरोधियो को सही पता नहीं है. उनका परीक्षण संघ के बारे मे कुछ प्रश्न उठा कर उनके उतर ढूंढने से ही हो सकता है. – – – […]

Read more ›
उस दिन की कल्पना करते हैं जब फिलिस्तीन आज़ाद होगा और वह आज़ाद होकर रहेगा

उस दिन की कल्पना करते हैं जब फिलिस्तीन आज़ाद होगा और वह आज़ाद होकर रहेगा

21st May 2018 at 4:49 am 0 comments

अमरीका के खज़ाना मंत्रालय ने हिज्बुल्लाह के महासचिव सैयद हसन नसरुल्लाह, उप महासचिव शेख नईम क़ासिम और संगठन के परिषद के कुछ सदस्यों पर नये प्रतिबंध लगा दिये हैं। अमरीका के इस फैसले पर आश्चर्य नहीं नहीं हो रहा है खास कर इस लिए भी कि यह फैसला लेबनान के […]

Read more ›
😌मनूवाद और अम्बेडकरवाद😌

😌मनूवाद और अम्बेडकरवाद😌

21st May 2018 at 12:22 am 0 comments

साथियो ब्राह्मणबाद (मनुबाद) इतना कमजोर नही है कि कोइ जादू की छड़ी चलाएगा और वह खत्म हो जाएगा। जबतक इस देश मे ब्राह्मण रहेगा तबतक ब्राह्मणबाद भी रहेगा और प्रतिक्रिया मे अम्बेडकरबाद को भी कोई खत्म नही कर सकता है। “बात” कुछ नही एक विचारधारा है, व्यक्तिपूजा या भगवान पूजा […]

Read more ›
मुसलिम कयादत का सवाल

मुसलिम कयादत का सवाल

20th May 2018 at 5:43 pm 0 comments

Saleem Akhter Siddiqui ============ बहुत लोगों को इस बात की बेचैनी है कि मुसलमान अपनी कयादत क्यों खड़ी नहीं करते? उनकी नजर में भाजपा समेत सभी राजनीतिक दल मुसलिम विरोधी हैं। वे मिसाल देते हैं कि दलितों, यादवों, ब्राह्म्णों ने अपनी कयादत खड़ी कर ली लेकिन मुसलमान नहीं कर पाए। […]

Read more ›
भारत के मुसलमानों से क्या चाहते हैं कट्टपंथी हिंदूवादी?

भारत के मुसलमानों से क्या चाहते हैं कट्टपंथी हिंदूवादी?

20th May 2018 at 1:42 am 0 comments

मुसलमानों के पास अगर नमाज़ पढ़ने के लिए जगह नहीं है तो वे क्या करें. हिंदूवादी कट्टरपंथियों की मानें तो उन्हें जो मर्ज़ी हो वह करें पर यहाँ से दफ़ा हों. आतंकवाद, लव जेहाद, गोमांस, तीन तलाक, दाढ़ी टोपी, और अब नमाज़, हैरानी कैसी कि अगला निशाना भाषा और नाम […]

Read more ›