साहित्य

★दर्से हदीस★ : पडोसी को तकलीफ देने वाला मोमिन नही…”’

★दर्से हदीस★ : पडोसी को तकलीफ देने वाला मोमिन नही…”’

February 26, 2017 at 8:30 pm 0 comments

फरमाने नबी स. पडोसी को तकलीफ देने वाला मोमिन नही …………… हजरत अबु शुरैह रजीअल्लाहु अन्हु से रिवायत है के हुजूर स्व.ने फरमाया क़सम खुदा की वह शख्स मोमिन नही क़सम खुदा की वह शख्स मोमिन नही क़सम खुदा की वह शख्स मोमीन नही हजरात सहाबा ऐ किराम ने अर्ज […]

Read more ›
जानिये प्यारे नबी हज़रत मुहम्मद मुस्तफ़ा सल्लल्लाहो अलैही वसल्लम के बारे में अहम बातें!

जानिये प्यारे नबी हज़रत मुहम्मद मुस्तफ़ा सल्लल्लाहो अलैही वसल्लम के बारे में अहम बातें!

February 25, 2017 at 10:57 pm 0 comments

🕌 *क्या आप नबी सल्लल्लाहो अलैही वसल्लम के बारे में जानते है ?* __________________ 🕌 *हमारे नबी सल्लल्लाहो अलैही वसल्लम का नाम-* *हज़रत अहमद /मुहम्मद सल्लल्लाहो अलैही वसल्लम* ___________________ 🕌 *हुज़ूर के वालिद / वालदा का नाम-* /हज़रत अब्दुल्लाह /हज़रत आमिना ____________________ 🕌 *हुज़ूर के दादा और नाना का नाम-* […]

Read more ›
जिसकी नमाज़ अच्छी उसकी ज़िंदगी अच्छी

जिसकी नमाज़ अच्छी उसकी ज़िंदगी अच्छी

February 25, 2017 at 10:16 pm 0 comments

👽 कब्र की पुकार👽 क्या तुमने भी मुझे याद किया जरा सुन💬 मेरे अंदर अंधेरा है नमाज की रोशनी लेकर आना💭 मेरे अंदर घबराहट है तिलावत कुरान लेता आना📒 मेरे अंदर साँप बिछू है हुजूर की सुन नत लेते आना मेरे अंदर आग है खोफे खुदा लेते आना जिसकी नमाज़ अच्छी […]

Read more ›
40 खूबसूरत हदीसे : ”इल्म का हासिल करना हर मुसलमान मर्द और औरत पर फर्ज है”

40 खूबसूरत हदीसे : ”इल्म का हासिल करना हर मुसलमान मर्द और औरत पर फर्ज है”

February 25, 2017 at 10:02 pm 0 comments

1> सुबह के वक्त सोना रिज्क को रोकता है” “”””””””””””””””””” “””””””””””””””” 2> बात करने से पहले सलाम किया करो” “””””””””””””””””””‘””””””””””””””””” 3> पाकी आधा ईमान है” “”””””””””””””””””””””””””””””””””’ 4> वज़ू नमाज़ की कुंजी है” “””””””””””””””””’”””””””””””””””” 5> नमाज़ दीन का सुतून है ” “””””””””””””””””””””””””””””””””””” 6> दुआ इबादत का मग्ज़ है” “””””””””””””””””””””””””””””””””””” 7> कुरआन […]

Read more ›
अब दिल थाम लीजिये …..”अभी पिता जी थाने से छुड़वाकर लाए हैं”

अब दिल थाम लीजिये …..”अभी पिता जी थाने से छुड़वाकर लाए हैं”

February 25, 2017 at 4:24 am 0 comments

Shalini Jyothi ———————- “रेलवे स्टेशन” मे लिखा था, अंजान आदमी से कोई चीज ना ले! बस फिर क्या था, हमने टिकट ही नही लिया ” अभी पिता जी थाने से छुड़वाकर लाए हैं ” 😝😝😝 ***************** जीवन में इतनी सम्पति कमाकर क्या करोगे, आखिर मरने के बाद कुछ भी साथ […]

Read more ›
नमाज़ की हालत मे ऑखे बन्द करना मकरू है!

नमाज़ की हालत मे ऑखे बन्द करना मकरू है!

February 25, 2017 at 4:10 am 0 comments

Rashid Azim ———————- नमाज की हालत मे ऑखे बन्द करना मकरू है नमाज मे जब कयाम पर खडे हो तो नजरे सजदे की जगह रख्खो कि हमे इसी ज़मीन मे जाना है जब रूकू करो तो पाव देखो कि हमारी जान पाव से निकलना शुरू होगी जब सजदा करो तो […]

Read more ›
🍘👇👇👇👇👇👇👇 घर में गरीबी आने के असबाब 🍘👇👇👇👇👇👇👇

🍘👇👇👇👇👇👇👇 घर में गरीबी आने के असबाब 🍘👇👇👇👇👇👇👇

February 22, 2017 at 2:07 am 0 comments

1 = गुस्ल खाने में पैशाब करना 2 = टूटी हुई कन्घी से कंगा करना 3 = टूटा हूआ सामान इस्तेमाल करना 4 = घर में कूडा़ करकट रखना 5 = रिश्तेदारो से बदसलूकी करना 6 = बांए पैर से पेैजामा पहनना 7 = मगरीब ईशा के बीच सोना 8 […]

Read more ›
…इसलिये अपने रब के सामने रोना सीखो और अपने रब को मना लो!

…इसलिये अपने रब के सामने रोना सीखो और अपने रब को मना लो!

February 22, 2017 at 2:00 am 0 comments

हुजूर स.अ.व.ने फरमाया मुझे बच्चो की 5 आदतें पसंद हैं (1) वो रोकर माँगते हैं और अपनी बात मनवा लेते हैं (2) वो मिट्टी से खेलते हैं (यानी गुरूर खाक में मिलाते हैं ) (3) झगड़ते हैं फिर सुलह कर लेते हैं (यानी दिल में हसद, बुग्ज ओर कीना नहीं […]

Read more ›
तो तुम अपने रब की कौन-कौन सी नेमतो को झुठलाओगे!

तो तुम अपने रब की कौन-कौन सी नेमतो को झुठलाओगे!

February 22, 2017 at 1:41 am 0 comments

.-जो लोग खाने से पहले थोड़ा नमक चख लें वो लोग 30 किस्म की बीमारियों से मेहफूज रहते हें -.खजूर को नाश्ते में इस्तेमाल करो ताकि तुम्हारे अंदुरानी जिरासीम का खात्मा हो जाये -.ग़म का शिकार हो तो खीर खा लिया करो .-जुकाम से मत घबराओ ये तुम्हे जूनून से […]

Read more ›
“कुफ़्र और काफ़िर” शब्द की हकीक़त क़ुरआन की रौशनी में जानिये!

“कुफ़्र और काफ़िर” शब्द की हकीक़त क़ुरआन की रौशनी में जानिये!

February 22, 2017 at 1:31 am 0 comments

इस्लाम में ‘कुफ़्र’ और ‘काफ़िर’ कुछ विशेष पारिभाषिक शब्दों में से दो शब्द हैं। इसका एक विशेष अर्थ है, लेकिन दुख की बात यह है कि विभिन्न पारिभाषिक शब्दों की तरह इस शब्द को भी ग़लत अर्थ देकर ऐसा प्रभाव पैदा करने की कोशिश की जा रही है, जो इसके […]

Read more ›