साहित्य

सुनो ?,,,”मर्द तो बैठा ही है मंडी सजा कर, इंतज़ार में”

सुनो ?,,,”मर्द तो बैठा ही है मंडी सजा कर, इंतज़ार में”

April 27, 2017 at 3:03 am 0 comments

Mohd Zahid via Arham Zubairi —————————— सुनो ?,,,”मर्द तो बैठा ही है मंडी सजा कर, इंतज़ार में” तुम पैदा होते ही दफ्न कर दी जाती थी, कोख से सीधे कब्र में, ज़िन्दा, चंद साँस ही ले पाती थी । सुनो ? किसी वजह से तुम बच जाती तो धोखे से […]

Read more ›
#एजुकेशन_फ़ॉर_यूथ : पढ़ अपने रब के नाम से जिसने तुम्हें पैदा किया!

#एजुकेशन_फ़ॉर_यूथ : पढ़ अपने रब के नाम से जिसने तुम्हें पैदा किया!

April 27, 2017 at 2:47 am 0 comments

Arham Zubairi ———————— #एजुकेशन_फ़ॉर_यूथ इस्लाम मे इल्म की अहमियत ऐसी है जैसे अंधेरे में रौशनी की, इसलिए क़ुरान मे अल्लाह ने सबसे पहली आयत जो अपने नबी पर नाज़िल(उतारना) फरमाई वो तालीम ही के संबंधित थी, अल्लाह क़ुरान मे फरमाता है (ِاقرَأ بِاسمِ رَبّکَ الَّذِی خَلَق , خَلَق لاِالنسَانَ مِن […]

Read more ›
”नौकर की पुत्री”

”नौकर की पुत्री”

April 27, 2017 at 2:41 am 0 comments

Nishant Mishra ——————————- भारत के किसी राज्य में बहुत पहले एक राजकुमार था जो जल्द ही राजा बनने वाला था. राज्य की परंपरा के अनुसार राजा बनने से पहले उसे विवाह करना आवश्यक था. दरबार के एक बुद्धिमान व्यक्ति ने उसे सलाह दी कि वह राज्य की सभी विवाह योग्य […]

Read more ›
*यह सिर्फ़ आज का बिल है, इसे आज ही चुकता कर दे तो अच्छा है*

*यह सिर्फ़ आज का बिल है, इसे आज ही चुकता कर दे तो अच्छा है*

April 26, 2017 at 4:52 pm 0 comments

Rizwan Khan ———————- *“ये बिल क्या होता है माँ ?” 8 साल के बेटे ने माँ से पूछा।* *माँ ने समझाया* — “जब हम किसी से कोई सामान लेते हैं या काम कराते हैं, तो वह उस सामान या काम के बदले हम से पैसे लेता है, और हमें उस […]

Read more ›
!!~!!नहीं तुम ये गुडिया नहीं ख़रीद सकते, तुम्हारे पास पैसे कम है!!~!!

!!~!!नहीं तुम ये गुडिया नहीं ख़रीद सकते, तुम्हारे पास पैसे कम है!!~!!

April 26, 2017 at 4:19 am 0 comments

Vikash Arora ——————- एक छोटा सा लड़का जिस की उम्र कोई 6 या 7 साल थी. एक खिलोने की दूकान पर खड़ा दुकानदार से कुछ बात कर रहा था, दुकानदार ने न जानेउससे क्या कहा की वो वह से थोडा सा दूर हट गया और वहां से खड़े खड़े वो […]

Read more ›
अगर टू पीस बिकनी पहनने से महिला सशक्तिकरण होता हैे तो अवश्य करिये!!!!

अगर टू पीस बिकनी पहनने से महिला सशक्तिकरण होता हैे तो अवश्य करिये!!!!

April 26, 2017 at 4:04 am 0 comments

Muhammad Aaftab Quraishi ———————– अगर टू पीस बिकनी पहनकर मार्च करने से महिला सशक्तिकरण होता हैे तो अवश्य करिए | अगर चरसी फेमिस्टोँ के साथ शराब पीकर सामूहिक सेक्स करने से महिला सशक्तिकरण होता हैे तो जरुर कीजिये | अगर समलेंगिकता से महिला सशक्तिकरण होता हैे तो नह भी कीजिये […]

Read more ›
अपने ऊपर थोड़ी सी चादर लटका लें, तो उनको कोई न सताएगा और अल्लाह बख़्शने वाला मेहरबान है!

अपने ऊपर थोड़ी सी चादर लटका लें, तो उनको कोई न सताएगा और अल्लाह बख़्शने वाला मेहरबान है!

April 26, 2017 at 3:49 am 0 comments

Muhammad Aaftab Quraishi ————————— तर्जुमा-“ऎ नबी (सल्लल्लाहु अलैहिवसल्लम) ! अपनी औरतों, अपनी बेटियों और मुसलमानों की औरतों से कह दीजिये के अपने ऊपर थोड़ी सी अपनी चादरें लटका लें इसमें ज़्यादा उम्मीद है के वो पहचान ली जाएँगी तो उनको कोई न सताएगा और अल्लाह बख़्शने वाला मेहरबान है.” (सूरह:अल-अहज़ाब) […]

Read more ›
सुशीला ने कुबूल किया इस्लाम मज़हब बनी ‘समीरा’ : अल्लाह ने मुझे नरक से बचा लिया, इस्लाम बड़ा महान धर्म है!

सुशीला ने कुबूल किया इस्लाम मज़हब बनी ‘समीरा’ : अल्लाह ने मुझे नरक से बचा लिया, इस्लाम बड़ा महान धर्म है!

April 26, 2017 at 12:48 am 0 comments

नेपाल के पूर्वी भाग में स्थित मोरंग जिला की रहने वाली 28 वर्षीय महिला ‘सुशीला’ तीन साल पहले रोज़गार की खोज में कुवैत आईं, इन बिते दिनों में शायद उनकी आर्थिक स्थिति में कोई खास सुधार न आ सकी लेकिन ईमान के बहुमूल्य धन से सुनिश्चित समृद्ध हुई हैं। एक […]

Read more ›
इस्लाम व अन्य धर्मों में औरतों के अधिकार, जानिये!

इस्लाम व अन्य धर्मों में औरतों के अधिकार, जानिये!

April 25, 2017 at 5:42 pm 0 comments

इस्लाम के पहले दुखी और कष्टपुर्ण वैवाहिक जीवन को समाप्त करके पति पत्नी के अलग अलग सुखी जीवन जीने का कोई वैज्ञानिक उपाय किसी धर्म में नहीं था। इस्लाम ने ही दुनिया को यह व्यवस्था दी है कि यदि कोई वैवाहिक जीवन से संतुष्ट नहीं है तो वह इस प्रक्रिया […]

Read more ›
”सिकंदर की परेशानी और अरस्तू की हिकमत”

”सिकंदर की परेशानी और अरस्तू की हिकमत”

April 25, 2017 at 5:33 pm 0 comments

Uzer Mansuri via Arham Zubairi —————————- सिकंदर जब दुनिया जीतने निकला तो एक मकाम ऐसा आया जब उसके लड़ाकू उससे थोड़ा खफा हो गए, उन्हें अपने घर की याद सताने लगी, और लश्कर में बे-आराम सी कैफियत हो गई, उन्होंने उसका हुक्म मानने से इंकार करते हुए चहल कदमी रोक […]

Read more ›