धर्म

मस्जिद और इबादत part 4_इस्लाम में मस्जिद की अहमियत और मौजूदा दौर में इसके रोल!

मस्जिद और इबादत part 4_इस्लाम में मस्जिद की अहमियत और मौजूदा दौर में इसके रोल!

24th November 2017 at 11:19 pm 0 comments

मस्जिद पहली ऐसी सामाजिक संस्था है, जिसकी बुनियाद इस्लामी शासन की शुरूआत में ख़ुद पैग़म्बरे इस्लाम ने मदीने में रखी। यह ऐसी पवित्र संस्था है, जिसने 1400 साल के अपने इतिहास में काफ़ी उतार चढ़ाव देखे हैं। कभी इसमें ऐसे परिवर्तन हुए कि ज़ाहिरी रूप से इसने राजाओं के महलों […]

Read more ›
ईश्वरीय वाणी पार्ट 9 : सूरए अनआम : : पवित्र क़ुरआन अज्ञानता और अंधकार से मुक्ति दिलाता है!

ईश्वरीय वाणी पार्ट 9 : सूरए अनआम : : पवित्र क़ुरआन अज्ञानता और अंधकार से मुक्ति दिलाता है!

24th November 2017 at 10:14 pm 0 comments

पवित्र क़रआन के सूरए अनआम की 32वीं आयत में आया हैः संसार का जीवन खेल तमाशे के अतिरिक्त कुछ नहीं और परलोक, ईश्वर से डरने वालों के लिए सबसे अच्छा ठिकाना है। पवित्र क़रआन के सूरए अनआम की 32वीं आयत में आया हैः संसार का जीवन खेल तमाशे के अतिरिक्त […]

Read more ›
इस्लाम और मानवाधिकार : पार्ट 8

इस्लाम और मानवाधिकार : पार्ट 8

24th November 2017 at 9:48 pm 0 comments

मानवाधिकार का, मानवीय विचारधारा में बड़ा गहरा अर्थ है। प्राचीन काल से ही दार्शनिकों व विचारकों का मानना था कि मनुष्य के कुछ मूल अधिकार हैं। पश्चिमी दार्शनिकों की दृष्टि से इन अधिकारों का स्रोत मानवीय प्रवृत्ति है और बुद्धि भी इसे स्वीकार करती है। पुनर्जागरण के काल से पहले […]

Read more ›
मनुष्य क्यों व्यर्थ की बातों में उलझा रहता है?

मनुष्य क्यों व्यर्थ की बातों में उलझा रहता है?

24th November 2017 at 2:50 pm 0 comments

Mudit Mishra ================== प्रश्न : मनुष्य क्यों व्यर्थ की बातों में उलझा रहता है? डर के कारण। भय के करण। भय किस बात का? एक ही भय है जो लोगों को छाया की तरह पीछा कर रहा है, चौबीस घंटे, जागते—सोते और वह भय यह है कि अगर मैं व्यस्त […]

Read more ›
12 रबीउल अव्वल और खुलफ़ाए राशदीन का दौर

12 रबीउल अव्वल और खुलफ़ाए राशदीन का दौर

22nd November 2017 at 5:42 pm 0 comments

हज़रत अबूबक्र सिद्दीक़ी के दौर में 12 रबीउल अव्वल 2 मर्तबा 12 रबीउल अव्वल आया झुलुस नही जशन नही – फारूक ऐ आज़म की के दौर ऐ खिलाफत में 12 मर्तबा रबीउल अव्वल आया मदीने की गलियो में कोई जशन नही झुलुस नही – हज़रत उस्मान (र.अ) के दौर ऐ […]

Read more ›
सब्र करो यहां तक कि अल्लाह फ़ैसला कर दे!

सब्र करो यहां तक कि अल्लाह फ़ैसला कर दे!

22nd November 2017 at 5:50 am 0 comments

Sikander Kaymkhani ========= #सब्र_क़ुरआन_की_हिदायत_बार_बार_आइए_जानिए #अल्लाह_रबुल_आलमीन_का_फरमान_सब्र_की_एहमियत ऐ लोगो जो ईमान लाए हो सब्र और नमाज से मदद लो, अल्लाह सब्र करने वालों के साथ है। और जो लोग अल्लाह की राह में मारे जाएं उन्हें मुर्दा न कहो, ऐसे लोग तो हकीकत में जिन्दा हैं, लेकिन तुम्हें उनकी जिन्दगी का शऊर […]

Read more ›
एक शख्स के यूरोप में इस्लाम क़बूल करने वाक़िया : देखें वीडियो

एक शख्स के यूरोप में इस्लाम क़बूल करने वाक़िया : देखें वीडियो

22nd November 2017 at 5:47 am 0 comments

Prince Shalemani‎ =========== उससे पूछा गया के इस्लाम की कौन सी बात ने तुम्हे मोतासिर किया । उसने कहा सिर्फ़ एक वाक़ीया ने मुझे हिदायत का सबब बना दिया । उसने कहा हुज़ूर सल्लल्लाहु अलैहे वस्सलाम की मजलिस लगी है सारे लोग बैठे हैं एक आदमी उठ कर कहता है […]

Read more ›
#नमाज़ क़ायम करो और मुशरिकों में न हो जाओ

#नमाज़ क़ायम करो और मुशरिकों में न हो जाओ

22nd November 2017 at 5:36 am 0 comments

Sikander Kaymkhani =============== #नमाज_परेयर_इबादत_सल्लात ऐ इन्सानो! इबादत (बन्दगी, वंदना) करो अपने रब की जिसने तुमको पैदा किया और उनको जो तुमसे पहले हुए हैं – ताकि तुम जहन्नम (नर्क, दोजख) से बचे रहो। उस परवरदिगार की इबादत करो, जिसने तुम्हारे लिए जमीन को फर्श बनाया और आसमान को छत की […]

Read more ›
#धरती_पर_बेहतरीन_घर_वो_है_जिसमे_यतीम_की_इज़्ज़त_की_जाए, रसूल अल्लाह का फ़रमान

#धरती_पर_बेहतरीन_घर_वो_है_जिसमे_यतीम_की_इज़्ज़त_की_जाए, रसूल अल्लाह का फ़रमान

21st November 2017 at 5:11 am 0 comments

एक शख्स ने यूरोप में इस्लाम क़बूल किया । उससे पूछा गया के इस्लाम की कौन सी बात ने तुम्हे मोतासिर किया । उसने कहा सिर्फ़ एक वाक़ीया ने मुझे हिदायत का सबब बना दिया । उसने कहा हुज़ूर सल्लल्लाहु अलैहे वस्सलाम की मजलिस लगी है सारे लोग बैठे हैं […]

Read more ›
#कुरआन और #गैर_मुस्लिम!

#कुरआन और #गैर_मुस्लिम!

20th November 2017 at 4:28 pm 0 comments

Sikander Kaymkhani ================ #कुरआन और #गैर_मुस्लिम क़ुरआन को ले के जो गलत बाते फैलाई जाती हे उसको गैर मुस्लिम के दिल।से निकाला जा सके कुछ संस्थाओं और लोगो ने यह झूठा प्रचार किया हैं और निरन्तर किए जा रहे हैं कि कुरआन गैर-मुस्लिम को सहन नही करता। उन्हे मार डालने […]

Read more ›