धर्म

रोज़ा के शारीरिक लाभ

रोज़ा के शारीरिक लाभ

18th May 2018 at 2:54 am 0 comments

Sikander Kaymkhani ============ रोज़ा के शारीरिक लाभ (1) मनुष्य के शरीर में मेदा एक ऐसा कोमल अंग है जिसकी सुरक्षा न की जाए तो उस से विभिन्न प्रकार के रोग उत्पन्न होते हैं। इस प्रकार रोज़ा मेदा के लिए उत्तम औषधि है क्योंकि एक मशीन यदि सदैव चलती रहे और […]

Read more ›
रमज़ान के हर दिन का सवाब, बता रही हैं अंजली कुमारी, जानिये

रमज़ान के हर दिन का सवाब, बता रही हैं अंजली कुमारी, जानिये

18th May 2018 at 2:21 am 0 comments

अंजली कुमारी ============== **रमज़ान के हर दिन का सवाब** • “`💐ह़ज़रत अ़ली رَضِىَ اللّٰهُ تَعَالٰى عَنٔه से रिवायत हैं कि रसूलल्लाह صَلَّى اللّٰهُ تَعَالٰى عَلَئهِ وَ اٰلِهٖ وَسَلَّم से रमज़ान की तरावीह़ के बारे में सवाल किया गया तो आप صَلَّى اللّٰهُ تَعَالٰى عَلَئهِ وَ اٰلِهٖ وَسَلَّم ने फ़रमाया:- • […]

Read more ›
जब अल्लाह हर जगह है तो फिर मुसलमान मस्जिद में ही नमाज़ क्यों पढ़ते हैं, जानिये जवाब!

जब अल्लाह हर जगह है तो फिर मुसलमान मस्जिद में ही नमाज़ क्यों पढ़ते हैं, जानिये जवाब!

18th May 2018 at 1:50 am 0 comments

मरियम रहमान ========= एक भाई ने लिखा कि जब हर जगह अल्लाह (इस्वर) है तो फिर मस्जिद में ही क्यों मुसलमान नमाज पढ़ते हैं । उत्तर:- मै आपकी इस बात से सहमत हूँ कि ईश्वर (अल्लाह) हर जगह है । तो उसकी इबादत भी हर जगह की जा सकती है […]

Read more ›
#क्या_बिना_नमाज़_के_रोज़ा_रखना_जायज़_है, जानिये!

#क्या_बिना_नमाज़_के_रोज़ा_रखना_जायज़_है, जानिये!

18th May 2018 at 1:46 am 0 comments

Sikander Kaymkhani =============== हर प्रकार की प्रशंसा और गुणगान केवल अल्लाह के लिए योग्य है। नमाज़ छोड़ने वाले का कोई कार्य स्वीकार नहीं किया जायेगा, न ज़कात न रोज़ा न हज्ज और न कोई अन्य चीज़। बुखारी (हदीस संख्या : 520) ने बुरैदा रज़ियल्लाहु अन्हु से रिवायत किया है कि […]

Read more ›
*क्या कुंडली मिलान एक अभिशाप है*

*क्या कुंडली मिलान एक अभिशाप है*

16th May 2018 at 1:14 am 0 comments

डॉ. मुमुक्षु वाया मुदित मिश्र विपश्यी ================= *मित्रो जब से कंप्यूटर का चलन आया है तब से कुंडली मिलान की प्रथा हमारे जैन समाज में सबसे ज्यादा हो गई है । इससे पहले कभी भी हमारे पूर्वज कुंडली का मिलान नही करते थे ।* *आज आप के पूर्वज या माँ […]

Read more ›
रमज़ान में बीवी से सोहबत ‘Sex’ करना जाएज़ है या नहीं; पढे!

रमज़ान में बीवी से सोहबत ‘Sex’ करना जाएज़ है या नहीं; पढे!

16th May 2018 at 1:07 am 0 comments

Sikander Kaymkhani ============ रमज़ान उल मुबारक का पाक महीना अल्लाह तआला की जानिब से बन्दों के लिए नेकियां कमाने का सबसे बेहतरीन ज़रिया है! इस महीने में अल्लाह ताला अपनी रहमतों में बढ़ोतरी कर देता है! नफ़िल नमाज़ का सवाब फ़र्ज़ के बराबर हो जाता है और फ़र्ज़ का सवाब […]

Read more ›
पाक़, बरक़तों वाले माह, रमज़ान का इस्तक़बाल कैसे करें?

पाक़, बरक़तों वाले माह, रमज़ान का इस्तक़बाल कैसे करें?

16th May 2018 at 1:01 am 0 comments

Sikander Kaymkhani ========== कुछ दिनों के बाद हम अति महत्वपूर्ण महीना रमज़ान का स्वागत करने वाले हैं, जिस में जन्नत (स्वर्ग) के द्वार खोल दिए जाते हैं, जहन्नम (नरक) के द्वार बंद कर दिए जाते हैं, विद्रोही शैतान जकड़ दिए जाते हैं, नेकियों के पुण्य में वृद्धि कर दी जाती […]

Read more ›
अल्लाह जिसको चाहे इज़्ज़त बख़्शे, और जिसको चाहे ज़िल्लत

अल्लाह जिसको चाहे इज़्ज़त बख़्शे, और जिसको चाहे ज़िल्लत

15th May 2018 at 12:56 am 0 comments

Sikander Kaymkhani ============ एक मर्तबा ख़लीफा हारून रशीद कुरआन मजीद की तिलावत कर रहे थे, जब इस आयत पर पहुंचे जिस आयत में अल्लाह रब्बुल इज़्ज़त ने फिरऔन का ज़िक्र किया है, तो ख़लीफ़ा हारून रशीद बताते हैं कि वह फ़ख्र करता था। मुल्क मिस्र और नील के दरख़्तों पर […]

Read more ›
”ऐ अल्लाह हम तेरी ही इबादत करते हैं और तुझ से ही मदद मांगते हैं”

”ऐ अल्लाह हम तेरी ही इबादत करते हैं और तुझ से ही मदद मांगते हैं”

15th May 2018 at 12:50 am 0 comments

Sikander Kaymkhani ============= ★अल्लाह के रसूल ने हज़रत अब्दुल्लाह इब्न अब्बास से फ़रमाया, ऐ बेटे मैं तुम्हें कुछ बातें सिखाता हू★ हज़रत अब्दुल्लाह इब्न अब्बास रज़िअल्लाह अन्हु का बयान है कि एक दिन मैं अल्लाह के आखरी रसूल हज़रत मुहम्मद मुस्तफ़ा सल्लल्लाहु अलैहि वसल्लम के पीछे सवारी पर बैठा था […]

Read more ›
इन्टरनेट के ज़रिये लड़कियों से चैटिंग करना इस्लाम में कैसा है, जानिये

इन्टरनेट के ज़रिये लड़कियों से चैटिंग करना इस्लाम में कैसा है, जानिये

15th May 2018 at 12:34 am 0 comments

‎Sikander Kaymkhani‎ ================ फेसबुक और व्हाट्सअप आपस में बातचीत करने और राबते के ज़राएअ में से हैं जिन्हें जायज़ व नाजायज़ दोनों कामों के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है। जायज़ कामों के लिये ज़रूरत के वक़्त अगर इसका इस्तेमाल किया जाए तो जायज़ होगा जबकि दूसरी कोइ शरई खराबी […]

Read more ›