धर्म

आयतें और निशानियां : क्योंकि तुम सिर्फ़ नसीहत करने वाले हो : पार्ट 14

आयतें और निशानियां : क्योंकि तुम सिर्फ़ नसीहत करने वाले हो : पार्ट 14

14th January 2019 at 12:42 am 0 comments

मकड़ी ईश्वर की एक अन्य रहस्यमयी प्राणी है। उदाहरण स्वरूप पवित्र क़ुरआन में सूरए अनकबूत या मकड़ी के बारे मे में पूरा सूरा ही उतरा है। ईश्वर सूरए अनकबूत की आयत संख्या 41 में कहता है कि और जिन लोगों ने ईश्वर को छोड़कर दूसरों को अभिभावक बना लिए हैं […]

Read more ›
सृष्टि के रहस्य : पार्ट 6

सृष्टि के रहस्य : पार्ट 6

14th January 2019 at 12:39 am 0 comments

ज़्यादातर लोग अपने जीवन में कुछ सवालों का जवाब चाहते हैं। इसमें साधारण लोगों से लेकर विचारक भी शामिल हैं। लोगों को अपने जीवन के विभिन्न चरणों में कुछ ऐसे सवालों का सामना होता है कि अगर उन्होंने उसकी अनेक बार अनदेखी की हो लेकिन अंत में उसके बारे में […]

Read more ›
इस्लाम में बाल अधिकार : पार्ट 3

इस्लाम में बाल अधिकार : पार्ट 3

14th January 2019 at 12:31 am 0 comments

भ्रूण की सुरक्षा के संदर्भ में इमाम मूसा काज़िम अलैहिस्सलाम का एक कथन है। उनका यह कथन उस महिला के बारे में है जो दवा खाकर गर्भपात कराना चाहती थी। ऐसी महिला के बारे में इमाम ने कहा था कि उसको इस प्रकार से गर्भपात कराने का अधिकार नहीं है […]

Read more ›
#ईश्वरीय वाणी पार्ट 47 : सूरे अहज़ाब : : पवित्र क़ुरआन अज्ञानता और अंधकार से मुक्ति दिलाता है!

#ईश्वरीय वाणी पार्ट 47 : सूरे अहज़ाब : : पवित्र क़ुरआन अज्ञानता और अंधकार से मुक्ति दिलाता है!

14th January 2019 at 12:18 am 0 comments

पवित्र क़ुरआन के सूरै अहज़ाब की ३३वीं आयत में महान ईश्वर कहता है” बेशक ईश्वर ने आप अहलबैत को हर प्रकार की गन्दगी व पाप से उस तरह से दूर रखने का इरादा किया है जिस तरह से दूर रखने का हक़ है।“ पैग़म्बरे इस्लाम की एक पत्नी उम्मे सल्मा […]

Read more ›
#इस्लाम और मानवाधिकार : पार्ट 44

#इस्लाम और मानवाधिकार : पार्ट 44

14th January 2019 at 12:12 am 0 comments

हमने इस्लामी अदालत में आरोपी व्यक्ति के कुछ अधिकारों की चर्चा की थी। यातना देने और प्रतिड़ित करने पर रोक वह चीज़ है जिसे अंतरराष्ट्रीय स्तर पर स्वीकार किया गया है और मानवाधिकार के समझौतों और आधुनिक व्यवस्था में भी इसे स्वीकार किया गया है और मानवाधिकार विरोधी कार्यवाही यानी […]

Read more ›
#मस्जिद और इबादत part 38_इस्लाम में मस्जिद की अहमियत *मस्जिद शैख लुत्फुल्लाह*

#मस्जिद और इबादत part 38_इस्लाम में मस्जिद की अहमियत *मस्जिद शैख लुत्फुल्लाह*

14th January 2019 at 12:06 am 0 comments

राजनीति का मस्जिद से संबंध स्पष्ट चीज़ों में से है और आज के कार्यक्रम में हम इसी चीज के बारे में चर्चा करेंगे। इसी प्रकार कार्यक्रम के दूसरे भाग में ईरान के इस्फ़हान नगर की प्रसिद्ध और एतिहासिक मस्जिद शैख लुत्फुल्लाह की चर्चा करेंगे। आशा है हमारा यह प्रयास भी […]

Read more ›
#इस्लाम ने मनुष्य को ज़िम्मेदार इन्सान बनाया : अल्लाह के ख़ास बन्दे पार्ट 24

#इस्लाम ने मनुष्य को ज़िम्मेदार इन्सान बनाया : अल्लाह के ख़ास बन्दे पार्ट 24

13th January 2019 at 11:52 pm 0 comments

आपको बताया था कि लोगों की अप्रसन्नता के बाद उनके भीतर विद्रोह पैदा हुआ और उन्होंने उस्मान ग़नी की हत्या कर दी। इस हत्या के बाद लोग हज़रत अली के पास आए। यह लोग हज़रत अली की बैअत करना चाहते थे किंतु इमाम अली इसके लिए तैयार नहीं थे। लोगों […]

Read more ›
#इमान_की_हिफाज़त : शराब ज़रूर पिए….

#इमान_की_हिफाज़त : शराब ज़रूर पिए….

13th January 2019 at 5:01 am 0 comments

■जीवन प्रणाली की आवश्यकता: ★धरती पर मनुष्य ही वह प्राणी है जिसे विचार तथा कर्म की स्वतंत्रता प्राप्त है, इसलिए उसे संसार में जीवन-यापन हेतु एक जीवन प्रणाली की आवश्यकता है। मनुष्य नदी नहीं है जिसका मार्ग पृथ्वी की ऊंचाई-नीचाई से स्वयं निश्चित हो जाता है। मनुष्य निरा पशु-पक्षी भी […]

Read more ›
क्या मरने के बाद रूहें दुनियाँ मे आती – जाती हैं, आईये क़ुरआन से जानते हैं

क्या मरने के बाद रूहें दुनियाँ मे आती – जाती हैं, आईये क़ुरआन से जानते हैं

13th January 2019 at 4:46 am 0 comments

क्या मरने के बाद रूहें दुनियाँ मे आती जाती हैं? आइए क़ुर्आन से पूछते हैं। अल्लाह का फरमान है। حَتَّىٰ إِذَا جَاءَ أَحَدَهُمُ الْمَوْتُ قَالَ رَبِّ ارْجِعُونِ ﴿٩٩﴾ لَعَلِّي أَعْمَلُ صَالِحًا فِيمَا تَرَكْتُ ۚكَلَّا ۚ إِنَّهَا كَلِمَةٌ هُوَ قَائِلُهَا ۖ وَمِن وَرَائِهِم بَرْزَخٌ إِلَىٰ يَوْمِ يُبْعَثُونَ﴿١٠٠﴾ فَإِذَا نُفِخَ فِي الصُّورِ […]

Read more ›
अगर शौहर बीबी के साथ कर रहा है ऐसा काम तो वो होगा बड़ा गुनाहगार, रसूल ने फ़रमाया…

अगर शौहर बीबी के साथ कर रहा है ऐसा काम तो वो होगा बड़ा गुनाहगार, रसूल ने फ़रमाया…

13th January 2019 at 4:34 am 0 comments

मियां बीबी का रिश्ता इस्लाम में बहुत अहम् है.इस्लाम ऐसा धर्म है जो मियां और बीबी दोनों के लिए अलग अलग कोड ऑफ़ कंडक्ट बनाता है.ये रिश्ता है ऐसा जो ख्वातीन और मोमिन खुद अपनी मर्ज़ी से चुनता है बाकि रिश्ते अल्लाह खुद बनाता है.इसलिए ये रिश्ता सबसे बड़ा है […]

Read more ›