धर्म

संत स्वर्ग से ऊपर है, संत में स्वर्ग है, स्वर्ग में संत नहीं!

संत स्वर्ग से ऊपर है, संत में स्वर्ग है, स्वर्ग में संत नहीं!

9th December 2017 at 8:23 pm 0 comments

Mudit Mishra ============ ◼◾संत स्वर्ग से ऊपर है। संत में स्वर्ग है, स्वर्ग में संत नहीं। संत का घेरा बड़ा है। ऐसी यहूदी कथा है कि एक यहूदी फकीर झुसिया ने रात सपना देखा कि वह स्वर्ग पहुंच गया है। वह बड़ा हैरान हुआ; उसने कभी सोचा भी न था। […]

Read more ›
पैग़म्बर मुहम्मद ﷺ_की शिक्षाएं : समाज_सेवा, भाई_चारा और अधिकार!

पैग़म्बर मुहम्मद ﷺ_की शिक्षाएं : समाज_सेवा, भाई_चारा और अधिकार!

9th December 2017 at 9:59 am 0 comments

दीने इस्लाम की बुनियाद आपसी भाईचारे और मुहबत पर है, रसूल अल्लाह की कितनी ही हदीसें सिर्फ समाज में लोगों के व्यवहार पर आधारित हैं, जिन में उन्होंने लोगों को सिखाया है कि उसका आचरण केसा होना चाहिए| समाज-सेवा: ‘‘सारी दुनिया अल्लाह का परिवार है। अल्लाह को सबसे अधिक प्रिय […]

Read more ›
ईश्वरीय वाणी पार्ट 12 : सूरए अंफ़ाल : : पवित्र क़ुरआन अज्ञानता और अंधकार से मुक्ति दिलाता है!

ईश्वरीय वाणी पार्ट 12 : सूरए अंफ़ाल : : पवित्र क़ुरआन अज्ञानता और अंधकार से मुक्ति दिलाता है!

8th December 2017 at 4:20 pm 0 comments

इब्ने अब्बास के अनुसार, पैग़म्बरे इस्लाम (स) ने बद्र युद्ध में मुसलमान लड़ाकों के प्रोत्साहन के लिए इनामों की घोषणा की। इब्ने अब्बास के अनुसार, पैग़म्बरे इस्लाम (स) ने बद्र युद्ध में मुसलमान लड़ाकों के प्रोत्साहन के लिए इनामों की घोषणा की। इस घोषणा के कारण युवा सैनिकों ने गौरवपूर्ण […]

Read more ›
इस्लाम में गैर मुस्लिम से दोस्ती करना माना है, हराम है! जानिये सत्य क्या है!

इस्लाम में गैर मुस्लिम से दोस्ती करना माना है, हराम है! जानिये सत्य क्या है!

8th December 2017 at 2:58 am 0 comments

Anwarul Hassan ================= कुछ गैर मुस्लिम भाई अपनी अज्ञानता के कारण तो कुछ जानते हुवे भी इस्लाम पर यह झुटा इलज़ाम लगाते है की इस्लाम में गैर मुस्लिम से दोस्ती करना माना है हराम है आइये हम और आप देखते है सत्य क्या है । सवाल-क्या गैर मुस्लिमो से दोस्ती […]

Read more ›
#रिसर्च_में_सामने_आई_आबे ज़मज़म_की_खूबियाँ!

#रिसर्च_में_सामने_आई_आबे ज़मज़म_की_खूबियाँ!

7th December 2017 at 2:26 am 0 comments

by – सिकन्दर कायमखानी ============== हम आपको रूबरू करवा रहे हैं उस इंजीनियर शख्स से जिसने करीब चालीस साल पहले खुद आब-ए-ज़मज़म का निरीक्षण किया था! ज़म-ज़म पानी का सैंपल यूरोपियन लेबोरेट्री में भेजा गया! जांच में जो बातें आई उस से साबित हुआ कि ज़म-ज़म पानी इंसान के लिए […]

Read more ›
अमेरिका में तेज़ी से फैल रहे इस्लाम मज़हब की वजह जानिये : देखें वीडियो

अमेरिका में तेज़ी से फैल रहे इस्लाम मज़हब की वजह जानिये : देखें वीडियो

7th December 2017 at 2:13 am 0 comments

अमेरिका में तेज़ी से फैल रहे इस्लाम मज़हब की वजह का हुआ खुलासा, हर साल इतने लोग बन जाते हैं मुसलमान…. अमेरिका को जहाँ एक तरफ गंदे फैशन को अपनी तहजीब समझता है वहीँ दूसरी तरफ वहां इस्लाम बहुत तेजी से फैल रहा है. इस बात का खुलासा एक मैगजीन […]

Read more ›
#नमाज़ का सही और मुक़म्मल तरीक़ा!

#नमाज़ का सही और मुक़म्मल तरीक़ा!

7th December 2017 at 2:06 am 0 comments

Sikander Kaymkhani ============= मुकम्मल नमाज़ का सहीह तरीक़ा अहादीस के मुताबिक़ بِسْمِ اللّٰهِ الرَّحْمٰنِ الرَّحِيْمِ रसूलुल्लाह ﷺ ने फ़रमाया “ नमाज़ उस तरह पढ़ो जिस तरह मुझे पढ़ते हुए देखते हो. ” [बुख़ारी ह० 631] क़याम का सुन्नत तरीक़ा ◾ पहले ख़ाना-ए- काबा की तरफ़ रुख़ करके खड़े होना [इब्न […]

Read more ›
#अल्लाह_और_उसके_रसूल ﷺ_से_मुहब्बत

#अल्लाह_और_उसके_रसूल ﷺ_से_मुहब्बत

7th December 2017 at 1:55 am 0 comments

इमाम ज़ोहरी फ़रमाते हैं: बंदे की अल्लाह और रसूल (ﷺ) से मुहब्बत के मानी उनकी फ़र्मांबरदारी और उनके अहकाम की ताबेदारी है। अ़ल्लामा बैज़ावी फ़रमाते हैं: मुहब्बत इताअ़त का नाम है। इब्ने अ़रफ़ाकहते हैं: एहले अ़रब के नज़दीक मुहब्बत के मानी किसी चीज़़ का इरादा करना और इसका क़स्द करना […]

Read more ›
रिसर्च : पैगम्बर मोहम्मद रसूलुल्लाह ﷺ की ये सुन्नत इंसानी दिमाग़ को तेज़ करती है

रिसर्च : पैगम्बर मोहम्मद रसूलुल्लाह ﷺ की ये सुन्नत इंसानी दिमाग़ को तेज़ करती है

7th December 2017 at 1:45 am 0 comments

Sikander Kaymkhani =============== आज हम आपको बताने जा रहे हैं नबी पैगम्बर मुहम्मद रसूलुल्लाह ﷺ की उस सुन्नत के बारे में जिसे करने से इंसान का दिमाग बहुत तेज़ी से काम करने लगता है. या तेज़ हो जाता है. अक्सर दीनी मदारिस में इस सुन्नत का एहतमाम किया जाता है. […]

Read more ›
दो औरतें गवाही में एक पुरुष के बराबर क्यों हैं?

दो औरतें गवाही में एक पुरुष के बराबर क्यों हैं?

5th December 2017 at 4:20 am 0 comments

Anwarul Hassan \\\\\\\\\\\\\\\\\\\ प्रश्न : दो औरतें गवाही में एक पुरुष के बराबर क्यों हैं? उत्तर : यह बात सही नहीं है कि हमेशा दो औरतों की गवाही एक पुरुष ही के बराबर होती है। यह केवल कुछ मामलों में है। क़ुरआन में कम से कम पाँच ऐसी आयतें हैं […]

Read more ›