धर्म

#ख़िलाफ़त पार्ट 7_ग़ज़नी की विलायत_ विश्व इतिहास का प्रसिद्ध शासक_महमूद ग़ज़नवी!

#ख़िलाफ़त पार्ट 7_ग़ज़नी की विलायत_ विश्व इतिहास का प्रसिद्ध शासक_महमूद ग़ज़नवी!

21st December 2017 at 1:32 am 0 comments

भारत के सिंध में इस्‍लामी हुकूमत का प्रारंभ बनी उमय्या के काल ही में हो गया था, जबकि मुहम्‍मद बिन क़ासिम ने मकरान, सिंध और मुल्‍तान को जीतकर उन इलाक़ों को इस्‍लामी ख़िलाफ़त में शामिल कर लिया था।भारत में इस्‍लामी विजयों का दूसरा दौर मुहम्‍मद बिन क़ासिम के तीन सौ […]

Read more ›
#ख़िलाफ़त पार्ट 6_विलायते बनू बुवैह_दुनिया में कोई अस्‍पताल इसका मुक़ाबला नहीं कर सकता था!

#ख़िलाफ़त पार्ट 6_विलायते बनू बुवैह_दुनिया में कोई अस्‍पताल इसका मुक़ाबला नहीं कर सकता था!

21st December 2017 at 1:18 am 0 comments

विलायते बनू बुवैह (320 हि./932 ई. से 447 हि./1055 ई.) ————— सामनियों की तरह यह भी एक ईरानी ख़ानदान था। इस हुकूमत के संस्‍थापक तीन भाई अली, हसन और अहमद थे, जिन्‍होंने क्रमश : इमादुद-दौला, रुकनुद-दौला और मअज्‍़ज़द-दौला की उपाधि ग्रहण की। बनु बुवैह का सबसे मशहूर हुक्‍मरान अजु़दुद-दौला (366 […]

Read more ›
#ख़िलाफ़त पार्ट 5_सामानी हुकूमत_इस्‍लामी सभ्‍यता का एक ऐसा नमूना है जिस पर गर्व किया जा सकता है!

#ख़िलाफ़त पार्ट 5_सामानी हुकूमत_इस्‍लामी सभ्‍यता का एक ऐसा नमूना है जिस पर गर्व किया जा सकता है!

21st December 2017 at 1:09 am 0 comments

सामानी (261 हि./874 ई. से 395 हि./1005 ई.) ================ सामानियों ने 395 हि./1005 ई. तक यानी कुल 134 साल हुकूमत की। इस अवधि में उनके दस हुक्‍मरान हुए। इनमें सबसे प्रसिद्ध और अच्‍छा हुक्‍मरान इस्‍माईल सामानी (279 हि./892 ई. से 295 हि./907 ई.) था। इस्‍माईल बडा़ नेक मिज़ाज और न्‍याय […]

Read more ›
#ख़िलाफ़त पार्ट 4_हुकूमते फ़ातिमिया!

#ख़िलाफ़त पार्ट 4_हुकूमते फ़ातिमिया!

21st December 2017 at 12:58 am 0 comments

हुकूमते फ़ातिमिया (297 हि./909 ई. से 567 हि./1171 ================= यह हुकूमत 297 हि./909 ई. में उत्‍तरी अफ्रीक़ा के क़ैरवान शहर में स्‍थापित हुई। इस सल्‍तनत का संस्‍थापक उबैदुल्‍लाह चूँकि प्‍यारे रसूल (صلى الله عليه وسلم) की बेटी हज़रत फ़ातिमा (رضي الله عنه) की औलाद में से था इसलिए उसे ‘सल्‍तनते […]

Read more ›
#ख़िलाफ़त पार्ट 3_ख़िलाफ़ते आब्बासिया के कारनामे!चीनियों से दारुल इस्लाम की जंग!

#ख़िलाफ़त पार्ट 3_ख़िलाफ़ते आब्बासिया के कारनामे!चीनियों से दारुल इस्लाम की जंग!

21st December 2017 at 12:53 am 0 comments

अब्‍दुल्‍लाह बिन मुहम्‍मद पहला अब्‍बासी ख़लीफ़ा है। उसकी शासन-अवधि मात्र चार साल है। यह सारा समय विरोधियों को कुचलने और नई हुकूमत को मज़बूत बनाने में गुज़रा। ख़लीफ़ा ने इराक़ में शहर अंबार को अपनी राजधानी बनाई और 134 हि./751 ई. में उस शहर के निकट हाशमिया के नाम से […]

Read more ›
#ख़िलाफ़त पार्ट 2_ख़िलाफ़ते बनू उमय्या के कारनामे पूरब और पश्‍चिम की फ़तह!

#ख़िलाफ़त पार्ट 2_ख़िलाफ़ते बनू उमय्या के कारनामे पूरब और पश्‍चिम की फ़तह!

21st December 2017 at 12:44 am 0 comments

अमीर मुआविया (رضي الله عنه) ================ हज़रत हसन (رضي الله عنه) के ख़िलाफ़त से हटने के बाद अमीर मुआविया (رضي الله عنه) मुसलमानों की आम सहमति से ख़लीफ़ा स्‍वीकार कर लिए गए। अमीर मुआविया (رضي الله عنه) ने बीस साल हुकूमत की। उनके ज़माने में पूरी रियासत में सुख-शान्ति रही। […]

Read more ›
#ख़िलाफ़त पार्ट 1_ख़िलाफ़ते राशिदा के कारनामे और उप्लब्धियाँ!

#ख़िलाफ़त पार्ट 1_ख़िलाफ़ते राशिदा के कारनामे और उप्लब्धियाँ!

21st December 2017 at 12:38 am 0 comments

हज़रत अबू बक्र (رضي الله عنه) ================ हुज़ूर (صلى الله عليه وسلم) ने चूँकि अपने बाद किसी को जानशीन (उत्‍तराधिकारी) मुक़र्रर नहीं किया था इसलिए अब यह फ़ैसला करना आम मुसलमानों की ज़िम्मेदारी थी कि आप (صلى الله عليه وسلم) की जगह इस्‍लामी रियासत का संचालक कौन हो। अत: मुसलमानों […]

Read more ›
क़ुरआन की तारीफ़ : क़्रुरआने पाक का कलामुल्लाह होना अक़्ल से साबित है!

क़ुरआन की तारीफ़ : क़्रुरआने पाक का कलामुल्लाह होना अक़्ल से साबित है!

21st December 2017 at 12:22 am 0 comments

क़ुरआन की तारीफ़ =============== ھو کلام اللّٰہ المنزل علی رسولہ محمد ﷺ بواسطۃ الوحي جبریلؑ ، لفظا و معنی، المعجز، المتعبد بتلاوتہ و المنقول لنا نقلا متواترا (वो कलामुल्लाह, जो अल्फाज़ और मानी में, उसने अपने रसूल मुहम्मद صلى الله عليه وسلم पर, जिब्रील के ज़रीये नाज़िल किया, जो मोजिज़ा […]

Read more ›
इस्लाम और कुफ़्र क़े दरमियान ख़ूँरेज़ जंगें_सलीबियों और मुसलमानों के दरमियान झगड़े!

इस्लाम और कुफ़्र क़े दरमियान ख़ूँरेज़ जंगें_सलीबियों और मुसलमानों के दरमियान झगड़े!

21st December 2017 at 12:07 am 0 comments

इस्लाम और कुफ़्र की फ़िक्र ओ मफ़ाहीम, नीज़ मुसलमानों और कुफ्फ़ार के माबैन इस्लाम के आग़ाज़ ही से शदीद मार्का आराई रही है। हुज़ूर अक्दस की बेअसत के वक़्त ये कश्मकश फ़िक्री सतह पर थी ना के माद्दी सतह पर और यही हालत मदीना मुनव्वरा में एक इस्लामी रियासत के […]

Read more ›
हसब नसब की शरई हैसियत जानिये!

हसब नसब की शरई हैसियत जानिये!

20th December 2017 at 11:51 pm 0 comments

हिक्मते इलाहिया का तक़ाज़ा ये है कि औरत गर्भ और बच्चे की पैदाइश का बोझ उठाए । लिहाज़ा औरत का निकाह एक ही मर्द तक क़ैद है और इसके लिए एक से ज़्यादा मर्द का होना हराम रखा गया। औरत के लिए एक से ज़्यादा मर्द से निकाह के हराम […]

Read more ›