धर्म

हज़रत उमर फ़ारुक़ रजि.अन्हु के ज़माने का वाक्या जो आप की आँखों मे आंसू ला देगा!

हज़रत उमर फ़ारुक़ रजि.अन्हु के ज़माने का वाक्या जो आप की आँखों मे आंसू ला देगा!

10th June 2018 at 12:49 am 0 comments

Mohammad Faizan ============= 📚ईस्लामी हुक्मरान ! 📚 हज़रत उमर फारुक रजियल्लाहु अन्हु ! ( एक ऐसा वाक्या जो आप की आँखों मे आंसू ला देगा) हज़रत उमर फारुक रजियल्लाहु अन्हु के ज़माने में इस्लामी हुदूद 23 लाख मुरब्बा मिल तक फैल गइ | हज़रत उमर जो तख्त ए हुकुमत पे […]

Read more ›
गीता : एक सफ़ेद झूठ

गीता : एक सफ़ेद झूठ

9th June 2018 at 8:15 pm 0 comments

Yogi Surajnath वाया मुदित मिश्र विपश्यी =============== 🌞 गीता : एक सफ़ेद झूठ Geetā : an Arrant lie ~ ~ ~ ~ ~ ~ ~ ~ ~ ~ श्रेयान्स्वधर्मो विगुणः परधर्मात्स्वनुष्ठितात् । स्वधर्मे निधनं श्रेयः परधर्मो भयावहः ॥गीता 3/35 ॥ अर्थ : अच्छी प्रकार आचरणमें लाये हुए परधर्म से, गुणरहित […]

Read more ›
” मन शूद्र है अथवा ब्राह्मण”

” मन शूद्र है अथवा ब्राह्मण”

9th June 2018 at 7:57 pm 0 comments

‎Swami Bodhi Prasad‎ =============== ✳ प्रश्न:- कल आपने शूद्र और ब्राह्मण की परिभाषा की । कृपया समझाएं कि मन शूद्र है अथवा ब्राह्मण । 🌰ओशो:- देह शूद्र है । मन वैश्य है । आत्मा क्षत्रिय है । परमात्मा ब्राह्मण । इसलिए ब्रह्म परमात्मा का नाम है । ब्रह्म से ही […]

Read more ›
tj

मुस्लिम बस्तियों में तालीमी इज्तेमा

9th June 2018 at 3:12 pm 0 comments

Sara Nilofar ================ उमस भरी दुपहरी , मेरी फ्रेंड बुशरा तबस्सुम का अचानक मेरे घर आना । बुशरा तबस्सुम खुशमिजाज, जहीन, सुलझी हुई एक टीचिंग प्रोफेशनल( शिक्षाविद) है। बुशरा: “सारा ! मैं, तुम्हारे कालोनी के पीछे वाली मुस्लिम बस्ती में ए क तालीमी इज्तेमा करवाना चाहती हूं ।” मैंने बुशरा […]

Read more ›
मौत ऐसी चीज़ है जिसका हाल मालुम नहीं की कब आ पहुंचे

मौत ऐसी चीज़ है जिसका हाल मालुम नहीं की कब आ पहुंचे

9th June 2018 at 1:10 pm 0 comments

Salman Siddiqui =============== ﻛﻞ ﻧﻔﺲ ﺫﺍﺋﻘﺔ ﺍﻟﻤﻮﺕ हज़रत लुक्मान (रह) का इर्शाद अपने बेटे से है कि मौत ऐसी चीज़ है जिसका हाल मालुम नहीं की कब आ पहुंचे, उसके लिए इससे पहले-पहले तैयारी कर ले की दफ़अतन आ जाए और वाकई बड़े ताज्जुब की बात है, की अगर आदमी […]

Read more ›
#बिना_मुस्लिम_के_दुनिया_का_तसव्वुर_भी_नही_कर_सकते, मुसलमानों की ईजाद और खोज!

#बिना_मुस्लिम_के_दुनिया_का_तसव्वुर_भी_नही_कर_सकते, मुसलमानों की ईजाद और खोज!

9th June 2018 at 12:54 pm 0 comments

अगर कहीं न कहीं आप भी चिढ़ते हैं मुसलमानों से, तो इस पोस्ट को जरुर पढें। ताकि आप कल्पना कर सकें कि अगर दुनिया मैं मुस्लिम नही होते तो दुनिया कैसी होती? मुस्लिम विरोधी लोगों के लिए लिखे गए इस ब्लॉग मैं ब्लॉगर ने शुरुआत एक ताना मारने के साथ […]

Read more ›
..आखिर क्यों चीरी हनुमान जी ने अपनी छाती

..आखिर क्यों चीरी हनुमान जी ने अपनी छाती

9th June 2018 at 7:40 am 0 comments

Raj Babbar‎ ============ संसार में आज तक जितने भी भक्त हुए हैं उनमें हनुमान जी का स्थान सर्वोच्च है। हम अक्सर हनुमान जी का ऐसा स्वरूप देखते हैं जिसमें वह अपनी छाती चीर कर अपनी सेवा और भक्ति की अद्भुत मिसाल पेश करते हैं आखिर क्यों अपनी छाती चीरी थी […]

Read more ›
क्यो कहा जाता है भगवान बिष्णू को नारायणः

क्यो कहा जाता है भगवान बिष्णू को नारायणः

9th June 2018 at 7:36 am 0 comments

Raj Babbar‎ =========== प्रेम से बोलो_ 🚩🚩🚩जय श्रीहरी🚩🚩🚩 हिन्दू धर्म बहुत ही विस्तृत है यह एक विशाल संस्कृति है. जो युगों युगों से चली आ रही है. हिन्दू धर्म में देवताओ के अनेक नाम होते है. जैसे की भगवान विष्णु को भी नारायण और हरी भी कहा जाता है. हिन्दू […]

Read more ›
चश्मे मुस्लिम देख ले तफ़्सीर ए हरफ़े यर्सलुन👉खुल गए याजूज़-माजूज़ के लश्कर तमाम

चश्मे मुस्लिम देख ले तफ़्सीर ए हरफ़े यर्सलुन👉खुल गए याजूज़-माजूज़ के लश्कर तमाम

9th June 2018 at 6:30 am 0 comments

Salman Siddiqui ============== #शाहीन_का_इक़बाल (1) (अफगानिस्तान के शाहीन) !! चश्मे मुस्लिम देखले तफ़्सीर ए हरफे यर्सलुन !! अल्लामा कहते हैं कि ए मुस्लिम ज़रा यर्सलुन शब्द की मीनिंग और एक्सप्लेशन तो देख कुरआन में !! अल्लाह रब्बुल इज्ज़त फरमाता है “कि वह तुम्हारे ऊपर बुलंदियों (यर्सलुन) से हमला आवर होंगे […]

Read more ›
शायद आग बुझ चुकी है, ताकि गरकद के पेड़ न जल जाएँ

शायद आग बुझ चुकी है, ताकि गरकद के पेड़ न जल जाएँ

9th June 2018 at 6:11 am 0 comments

(अर्ज़े फिलिस्तीन, यहूद और गरकद के पेड़ ) शायद आग बुझ चुकी है, ताकि गरकद के पेड़ न जल जाएँ) . एक वाक़या आपने सुना होगा कि दो ऐसी औरतें हज़रते दाऊद अ. के पास आईं जो कि एक बच्चे पर खुद के माँ होने का दावा कर रही थीं […]

Read more ›