धर्म

☆☆••एक सुन्नत ने बचा ली एक आदमी की जान••☆☆

☆☆••एक सुन्नत ने बचा ली एक आदमी की जान••☆☆

23rd January 2018 at 1:20 am 0 comments

एक आदमी गोश्त को फ़्रीज करने वाली कम्पनी में काम करता था. एक दिन कारखाना बन्द होने से पहले अकेला गोश्त को फ्रिज करने वाले कमरे का चक्कर लगाने गया तो गलती से दरवाजा बंद हो गया और वह अंदर बर्फ वाले हिस्से में फंस गया. “ छुट्टी का वक़्त […]

Read more ›
फ्रेंच रैप स्टार जिन्होंने इस्लाम क़ुबूल कर लिया

फ्रेंच रैप स्टार जिन्होंने इस्लाम क़ुबूल कर लिया

22nd January 2018 at 3:59 am 0 comments

“जब मैंने पहली बार नमाज़ पढ़ी और सजदह किया तो मुझे ऐसा लगा की मेरे कंधो से बहुत भारी बोझ उत्तर गया हो” – डीआम्स, फ्रेंच रैप स्टार (जिन्होंने इस्लाम क़ुबूल कर अपना नाम मेलिना रख लिया) “मैंने सोचा की सिर्फ ईश्वर ही एक ऐसा है जिसके सामने हम बिना […]

Read more ›
बुरी मौत और बीमारी से बचाता है सदक़ा!

बुरी मौत और बीमारी से बचाता है सदक़ा!

22nd January 2018 at 2:22 am 0 comments

Sikander Kaymkhani ================ बुरी मौत और बीमारी से बचाता है सदक़ा, ज़कात का नकद फायदा और ज़कात अदा ना करने पर… मुस्लिम समुदाय के लोग ने रमज़ान में रोज़ेदार उमस भरी गर्मी में रोजे रखते है मुसलमानों ने जकात व सदका देना शुरू कर देता है साल का जकात ज़कात […]

Read more ›
#एक_मुसलमान_से_बेहतर_दुनिया_मे_कोई_और_इंसान_हो_ही_नही_सकता!#आइये_जानते_है!

#एक_मुसलमान_से_बेहतर_दुनिया_मे_कोई_और_इंसान_हो_ही_नही_सकता!#आइये_जानते_है!

22nd January 2018 at 1:43 am 0 comments

#दुनिया_के_सबसे_महान_इंसान_के_बारे_में_रोल_मॉडल_फ़ॉर_एव्री_सोल इंसान कुदरती अच्छाई को पसन्द करना मानव-प्रकृति की शाश्वत विशेषता है. अच्छा मनुष्य, अच्छा ख़ानदान, अच्छा समाज और अच्छी व्यवस्था-यह ऐसी चीज़ें हैं जिन्हें हमेशा से, हर इन्सान पसन्द करता आया है क्योंकि अच्छाई को पसन्द करना मानव-प्रकृति की शाश्वत विशेषता है। पैग़म्बर मुहम्मद (सल्ल॰) ने इन्सान, ख़ानदान, समाज […]

Read more ›
#एक_फ़तवे_ने_सुपरपावर ‘उस्मानिया हुकुमत’ को तबाह किया था, क्या उलेमा अपनी ग़लतियों से सबक लेंगे?

#एक_फ़तवे_ने_सुपरपावर ‘उस्मानिया हुकुमत’ को तबाह किया था, क्या उलेमा अपनी ग़लतियों से सबक लेंगे?

22nd January 2018 at 1:38 am 0 comments

Sikander Kaymkhani =============== बुजुर्ग कहते है इतिहास इसीलिए ही लिखा जाता है ताकि भूतकाल में की गयी गलतियों से सबक लिया जाये लेकिन इतिहास में की गयी गलतियों का ना तो कभी हिन्दू धर्माचार्यो ने और ना ही मुस्लिम उलेमाओ ने कभी भी सबक लिया.यहाँ बात मुस्लिम उलेमाओ या धर्माचार्यो […]

Read more ›
#हराम_कमाई_बहुत जल्द नष्ट हो जाती है

#हराम_कमाई_बहुत जल्द नष्ट हो जाती है

22nd January 2018 at 1:32 am 0 comments

हराम कमाई =========== हराम कमाई बहुत जल्द नष्ट हो जाती है। हराम कमाई एक नैतिक बीमारी है, मानव प्रकृति और दुनिया का सारा धर्म इसके खिलाफ है। जब हम किसी के सम्बन्ध में सुनते हैं कि फलां आदमी हराम कमाता या खाता है तो तबीयत में हमें उससे नफरत सी […]

Read more ›
पवित्र क़ुरआन पार्ट 17_हिंदी अनुवाद ‘सूरए बनी इसराईल’

पवित्र क़ुरआन पार्ट 17_हिंदी अनुवाद ‘सूरए बनी इसराईल’

21st January 2018 at 4:54 am 0 comments

17 सूरए बनी इसराईल ================= बनी इसराईल सूरा मक्का में नाजि़ल हुआ और इसकी एक सौ ग्यारह (111) आयतें हैं ख़ुदा के नाम से शुरु करता हूँ जो बड़ा मेहरबान रहम वाला है वह ख़ुदा (हर ऐब से) पाक व पाकीज़ा है जिसने अपने बन्दों को रातों रात मस्जिदुल हराम […]

Read more ›
मस्जिद और इबादत part 10_इस्लाम में मस्जिद की अहमियत!

मस्जिद और इबादत part 10_इस्लाम में मस्जिद की अहमियत!

20th January 2018 at 4:00 am 0 comments

‘एतेकाफ़’ ऐसी विशेष उपासना है जो मस्जिद में की जाती है। हालांकि उपसाना और ईश्वर का स्मरण करना हर समय हर जगह अच्छा है लेकिन कुछ रिवायतों के अनुसार, कुछ स्थान ऐसे हैं जो इंसान की दुआ के जल्द क़बूल होने और ईश्वर के निकट करने में अधिक प्रभावी बताए […]

Read more ›
इस्लाम और मानवाधिकार : पार्ट 16

इस्लाम और मानवाधिकार : पार्ट 16

20th January 2018 at 3:49 am 0 comments

जीवन व्यतीत करने का अधिकार इंसान का मूल अधिकार है। इस्लाम के अनुसार जीवन दो प्रकार का है, भौतिक एवं आध्यत्मिक। भौतिक जीवन शरीर से संबंधित सांसारिक जीवन है। आध्यात्मिक जीवन का इंसान की आत्मा से मज़बूत संबंध है और आत्मा ईश्वरीय प्रकृति पर आधारित होती है। इंसान एक अमर […]

Read more ›
ईश्वरीय वाणी पार्ट 19 : सूरए हूद : : पवित्र क़ुरआन अज्ञानता और अंधकार से मुक्ति दिलाता है!

ईश्वरीय वाणी पार्ट 19 : सूरए हूद : : पवित्र क़ुरआन अज्ञानता और अंधकार से मुक्ति दिलाता है!

20th January 2018 at 3:45 am 0 comments

और निसंदेह हमारे फ़रिश्ते शुभ सूचना लेकर इब्राहीम के पास आए और उन्होंने कहा कि तुम पर सलाम हो और निसंदेह हमारे फ़रिश्ते शुभ सूचना लेकर इब्राहीम के पास आए और उन्होंने कहा कि तुम पर सलाम हो, इब्राहीम ने भी कहा कि तुम पर भी सलाम हो तो थोड़ा […]

Read more ›