धर्म

इस्लाम और मानवाधिकार : पार्ट 15

इस्लाम और मानवाधिकार : पार्ट 15

13th January 2018 at 3:12 am 0 comments

हमने मानवाधिकार के आधार के संबंध में इस्लाम और पश्चिम के दृष्टिकोण में अंतर का उल्लेख किया था। इसी मूल अंतर को विश्व मानवाधिकार घोषणापत्र के अनुच्छेद के संकलन में मद्देनज़र रखा गया है। विश्व मानवाधिकार घोषणापत्र का आधार कभी कभी दूसरी भूमि के लोगों की संस्कृति एवं उनके धार्मिक […]

Read more ›
ईश्वरीय वाणी पार्ट 18 : सूरए हूद : : पवित्र क़ुरआन अज्ञानता और अंधकार से मुक्ति दिलाता है!

ईश्वरीय वाणी पार्ट 18 : सूरए हूद : : पवित्र क़ुरआन अज्ञानता और अंधकार से मुक्ति दिलाता है!

13th January 2018 at 3:07 am 0 comments

वह वही है कि जिसने आसमानों और ज़मीन को छः दिन में बनाया और उसका अर्श (प्रभुत्व) पानी पर था, ताकि तुम्हें परखे कि तुम में से कौन सबसे अधिक भलाई करने वाला है। वह वही है कि जिसने आसमानों और ज़मीन को छः दिन में बनाया और उसका अर्श […]

Read more ›
क़ुरआन के वैज्ञानिक चमत्कार – औरतों के पर्दे में रहने के स्वाथ्य के फ़ायदे

क़ुरआन के वैज्ञानिक चमत्कार – औरतों के पर्दे में रहने के स्वाथ्य के फ़ायदे

13th January 2018 at 2:17 am 0 comments

Sikander Kaymkhani ==================== (औरतों के पर्दे ( हिजाब) में रहने के स्वाथ्य के फायदे) पार्ट -1 आधुनिक समय में हुये शोधों से यह पता चला है कि यदि शरीर का बहुत अधिक भाग नग्न रहे तो त्वचा के कैंसर की संभावना बढ जाती है, और त्वचा का कैंसर ऐसी बीमारी […]

Read more ›
जानिए वैवाहिक जीवन में तनाव के कारण : ज्योतिष एवं वास्तु दोष का वैवाहिक जीवन पर प्रभाव!

जानिए वैवाहिक जीवन में तनाव के कारण : ज्योतिष एवं वास्तु दोष का वैवाहिक जीवन पर प्रभाव!

12th January 2018 at 1:12 am 0 comments

पंडित दयानन्द शास्त्री – (ज्योतिष-वास्तु सलाहकार) =============== प्रिय पाठकों/मित्रों, विवाह हमारे पारम्परिक सोलह संस्कारों में से एक है, जीवन के एक पड़ाव को पार करके किशोरावस्था से युवास्था में प्रवेश करने के बाद व्यक्ति को जीवन यापन और सामाजिक ढांचे में ढलने के लिए एक अच्छे जीवन साथी की आवश्यकता […]

Read more ›
#इस्लामी अर्थव्यवस्था_ग़रीबी की समस्या का पुख़्ता और एकमात्र हल!

#इस्लामी अर्थव्यवस्था_ग़रीबी की समस्या का पुख़्ता और एकमात्र हल!

12th January 2018 at 12:53 am 0 comments

अल्लाह سبحانه وتعالى फरमाता है : كُنْتُمْ خَيْرَ أُمَّةٍ أُخْرِجَتْ لِلنَّاسِ تَأْمُرُونَ بِالْمَعْرُوفِ وَتَنْهَوْنَ عَنِ الْمُنْكَرِ وَتُؤْمِنُونَ بِاللَّهِ “तुम खैर उम्मत हो, तो इंसानो के लिए पैदा की गई है। क्योंकि नेक काम करने का हुक्म देते हो और बुरे कामों से रोकते हो और अल्लाह पर ईमान रखते हो”. […]

Read more ›
आप मुसलमान क्‍यों हैं_बिल्‍कुल साफ़ और ज़ाहिर सवाल!

आप मुसलमान क्‍यों हैं_बिल्‍कुल साफ़ और ज़ाहिर सवाल!

12th January 2018 at 12:39 am 0 comments

यह एक बिल्‍कुल साफ और ज़ाहिर सवाल है लेकिन हममें से कई लोगों के पास इसका साफ जवाब नहीं होता है। मुझे याद है जब मुझसे यह सवाल मेरे भाई के ज़रिए पूछा गया जब मैं 14 साल का था और मेरा पहला जवाब यह था अच्‍छा इसलिए के हमारा […]

Read more ›
मुसीबतों में सब्र करना अल्लाह की इताअ़त है

मुसीबतों में सब्र करना अल्लाह की इताअ़त है

12th January 2018 at 12:27 am 0 comments

जब अल्लाह के रसूल सल्ल0 अल्लाह की तरफ़ से तमाम इंसानियत के लिये इस्लाम का पैग़ाम लेकर आये तो सबसे पहले आप सल्ला0 ने अपनी ज़ौजा हज़रत ख़दीजतुल-कुबरा (रज़ि0) को दावत दी और वोह ईमान लाईं फिर आप सल्ला0 ने अपने चचा ज़ाद भाई हज़रत अ़ली इब्ने अबी तालिब रज़ि0 […]

Read more ›
अल्लाह वही है जिस ने सब कुछ तुम्हारे लिए पैदा किया है

अल्लाह वही है जिस ने सब कुछ तुम्हारे लिए पैदा किया है

12th January 2018 at 12:19 am 0 comments

अल्लाह سبحانه وتعال का फ़रमान है : هُوَ ٱلَّذِى خَلَقَ لَكُم مَّا فِى ٱلۡأَرۡضِ جَمِيعً۬ا अल्लाह वही है जिस ने सब कुछ तुम्हारे लिए पैदा किया है (अल बक़राह-29) यहां अल्लाह سبحانه وتعال ने हमारे लिए तमाम चीज़ों को मुबाह कर दिया है और यहीं से अशिया का मुन्दर्जा ज़ैल […]

Read more ›
*🌴🌷तीन चीज़ें याद रखे🌷🌴**सब्र ; शुक्र ; हलाल रिज़्क़*

*🌴🌷तीन चीज़ें याद रखे🌷🌴**सब्र ; शुक्र ; हलाल रिज़्क़*

11th January 2018 at 4:43 pm 0 comments

Chaitali Khattar – Kanpur *__________________________________* *🌴🌷तीन चीज़ें याद रखे🌷🌴* *✍تین چیزیں ایک ہی جگہ پرورش پاتی ہیں؛؛؛* پھول ؛ کانٹا ؛ خوشبو ؛ *✍🏻तीन चीजे एक ही जगह परवरिश पाती है;;;* *फूल ; कांटा ; खुशबु* *✍تین چیزیں ہر ایک کو ملتی ہیں ؛؛؛* خوشی ؛ غم ؛ موت ؛ […]

Read more ›
#दाढ़ी_और_बुरक़े_से_दुनिया_ख़ौफ़ज़दा_क्यों_है?

#दाढ़ी_और_बुरक़े_से_दुनिया_ख़ौफ़ज़दा_क्यों_है?

11th January 2018 at 10:54 am 0 comments

*एम. ए. अल-अज्मी* ___________________________________ *मर्द के लिये दाढ़ी और औरत के लिये बुर्क़ा,* यह ऐसे अमल हैं जिनके करने के बाद उन्हें अपनी ज़ुबान से अपना मज़हब नहीं बताना पड़ता बल्कि वह *बिना मुँह खोले इस बात का इक़रार करते हैं कि हम मुसलमान हैं.* दाढ़ी और बुर्क़ा चीख़ चीख़ […]

Read more ›