धर्म

#हिदुं धर्म और #इसलाम धर्म मे औरतों के अधिकार_अंजलि शर्मा का लेख!

#हिदुं धर्म और #इसलाम धर्म मे औरतों के अधिकार_अंजलि शर्मा का लेख!

6th November 2017 at 4:20 am 0 comments

Anjali Sharma ============== . 1.हिदुं धर्म मे पति के मरने के बाद लडकी को पति के साथ चिता मे जिंदा जला देते बाद मे मुसलमान राजाओं और अगंरेजो ने इस भयानक रिवाज को समाप्त किया 2. हिंदु धर्म मे विधवा लडकी को दोबारा शादी का अधिकार नहीं है जबकि इसलाम […]

Read more ›
कुरआन में बताये गये 25 नबी व रसूलों के नाम : देखें वीडियो

कुरआन में बताये गये 25 नबी व रसूलों के नाम : देखें वीडियो

6th November 2017 at 4:08 am 0 comments

‎Sikander Kaymkhani‎ ================== अल्लाह ने दुनिया में 1,24,000 नबी और रसुल भेजे और सब पर किताबे नाज़िल की… कुरआन में नाम से 25 नबी और 4 किताबों का ज़िक्र है….कुरआन में बताये गये 25 नबी व रसुलों के नाम बता रहा हूं…उनके नामों के इंग्लिश में वो नाम दिये है […]

Read more ›
रामायण की कहानी!

रामायण की कहानी!

6th November 2017 at 2:28 am 0 comments

आर्ष रामायण या वाल्मीकि रामायण से शुरू होकर श्रीराम कथा ऐसी फैली कि हर जगह वो किसी ना किसी रूप में घुसी हुई पाई जाती है। महाभारत में एक तो रामोपाख्यान है ही, उसके अलावा आरण्यकपर्व, द्रोण पर्व तथा शांतिपर्व में किसी ना किसी बड़े-छोटे रूप में चार बार राम-कथा […]

Read more ›
शेर को सिर्फ़ हराम ख़ोर पर ही मुसल्लत किया जाता है

शेर को सिर्फ़ हराम ख़ोर पर ही मुसल्लत किया जाता है

5th November 2017 at 5:57 am 0 comments

कश्तिये नूह में कुछ जानवरों की पैदाईश बताई जाती है जो कि इस तरह है जब कश्ती में जानवरों ने गोबर वग़ैरह करना शुरू किया तो कश्ती बदबू से भर गयी लोगों ने हज़रत नूह अलैहिस्सलाम की बारगाह में शिकायत की तो मौला ने फरमाया कि हाथी की दुम हिलाओ […]

Read more ›
जब गुरु नानक ने जनेऊ पहनने से किया इनक़ार

जब गुरु नानक ने जनेऊ पहनने से किया इनक़ार

5th November 2017 at 2:42 am 0 comments

गुरु नानक एक महान धार्मिक प्रवर्तक और सिख धर्म के संस्थापक थे. नानकशाही कैलेंडर के हिसाब से गुरु नानक का जन्मोत्सव अप्रैल में मनाया जाता है, लेकिन सामान्य रूप से उनकी जयंती चार नवंबर को होती है. गुरु नानक ने सिख धर्म में हिन्दू और इस्लाम दोनों की अच्छाइयों को […]

Read more ›
मस्जिद और इबादत part 1_इस्लाम में मस्जिद की अहमियत और मौजूदा दौर में इसके रोल!

मस्जिद और इबादत part 1_इस्लाम में मस्जिद की अहमियत और मौजूदा दौर में इसके रोल!

4th November 2017 at 4:43 am 0 comments

इस्लामी जगत में मस्जिद की अहमियत और मौजूदा दौर में इसके रोल के मद्देनज़र एक नई कार्यक्रम श्रंख्ला शुरु की है। इस कार्यक्रम में हम पवित्र क़ुरआन की आयतों, पैग़म्बरे इस्लाम और उनके पवित्र परिजनों के कथनों व आचरण को आधार बनाकर मस्जिद की विभिन्न उपयोगिताओं के बारे में बताएंगे। […]

Read more ›
पवित्र क़ुरआन पार्ट 3 _ हिंदी अनुवाद ‘सूरए आले इमरान’

पवित्र क़ुरआन पार्ट 3 _ हिंदी अनुवाद ‘सूरए आले इमरान’

4th November 2017 at 4:10 am 0 comments

03 सूरए आले इमरान सूरए आले इमरान मदीना में नाजि़ल हुआ और इसमे दो सौ (200) आयते और बीस रूकुअ है (मैं) उस ख़ुदा के नाम से शुरू करता हूँ जो बड़ा मेहरबान रहम वाला है। अलिफ़ लाम मीम अल्लाह ही वह (ख़ुदा) है जिसके सिवा कोई क़ाबिले परस्तिश नहीं […]

Read more ›
शास्त्रो में बांस की लकड़ी को जलाना वर्जित क्यों है, जानिये!

शास्त्रो में बांस की लकड़ी को जलाना वर्जित क्यों है, जानिये!

4th November 2017 at 1:25 am 0 comments

Krishan Kumar Dusad ================= हमारे शास्त्रो में बांस की लकड़ी को जलाना वर्जित है, किसी भी हवन अथवा पूजन विधि में बांस को नही जलाते हैं। यहां तक कि चिता में भी बांस की लकड़ी का प्रयोग वर्जित है। अर्थी के लिए बांस की लकड़ी का उपयोग होता है लेकिन […]

Read more ›
पवित्र क़ुरआन पार्ट 2 _ हिंदी अनुवाद ‘सूरए बक़रा’

पवित्र क़ुरआन पार्ट 2 _ हिंदी अनुवाद ‘सूरए बक़रा’

4th November 2017 at 12:17 am 0 comments

02 सूरए बक़रा सूरए बक़रा (गाय) मदीना में नाजि़ल हुआ और इसमें दो सौ छियासी आयतें और चालीस रूकू हैं। ख़ु़दा के नाम से शुरू करता हूँ जो बड़ा मेहरबान और रहम वाला है अलीफ़ लाम मीम (1) (ये) वह किताब है। जिस (के किताबे खु़दा होने) में कुछ भी […]

Read more ›
इस्लाम और मानवाधिकार : पार्ट 4

इस्लाम और मानवाधिकार : पार्ट 4

3rd November 2017 at 8:13 pm 0 comments

अमेरिका में जो वैचारिक सोच में वृद्धि हो रही थी वह अंततः 18वीं शताब्दी में अमेरिका में 13 मूल उपनिवेशों में इस बात का कारण बनी कि एकता व एकजुटता के साथ अपनी स्वतंत्रता की दिशा में आधारभूत क़दम उठायें। अमेरिका में जो वैचारिक सोच में वृद्धि हो रही थी […]

Read more ›