FIFA World Cup 🏆 : फ्रांस ने सेमीफ़इनल में बेल्जियम को 1-0 से मात दी

Posted by

फ्रांस और बेल्जियम के बीच हुए पहले सेमीफइनल मैच में फ्रांस ने एक गोल कर फाइनल में जगह बना ली है|

सैमुअल उमटीटी (51वें मिनट) के एकमात्र गोल की बदौलत फ्रांस ने 12 साल के बाद फीफा विश्व कप के फाइनल में प्रवेश कर लिया है। फ्रांस ने सेंट पीटर्सबर्ग स्टेडियम पर मंगलवार को फीफा विश्व कप 2018 के पहले सेमीफाइनल में बेल्जियम को 1-0 से मात दी।

इसी के साथ फ्रांस का विश्व कप के इतिहास में बेल्जियम के खिला फ रिकॉर्ड और बेहतर हो गया है। फ्रांस ने बेल्जियम को विश्व कप में लगातार तीसरी बार मात दी। फ्रांस की टीम का फाइनल में मुकाबला इंग्लैंड और क्रोएशिया के बीच बुधवार को होने वाले दूसरे सेमीफाइनल की विजेता से होगा। यही नहीं, फ्रांस की टीम फीफा विश्व कप के पिछले 6 एडिशन में तीसरी बार फाइनल में पहुंची है।

फ्रांस के पास दूसरी बार विश्व कप चैंपियन बनने का मौका है। इससे पहले उसने घरेलू जमीन पर 1998 में विश्व कप जीता था। फ्रांस और बेल्जियम के बीच मुकाबला शुरुआत से ही बेहद रोमांचक हुआ। बेल्जियम का गेंद पर कब्जा ज्यादा रहा, लेकिन फ्रांस ने गोलपोस्ट पर निशाने ज्यादा साधे। पहले हाफ में दोनों टीमों ने गोल करने के कई मौके बनाए, लेकिन किसी के हाथ सफलता नहीं लगी।

हाफ टाइम से पहले फ्रांस की टीम ने 11 बार गोलपोस्ट पर निशाना साधा। हालांकि, उसे सफलता नहीं मिली। यह भी ध्यान देने वाली बात रही कि दोनों ही टीमों ने बेहतरीन आक्रमण और डिफेंस का नमूना पेश किया।

बेल्जियम का शुरुआत से गेंद पर कब्जा अधिक रहा। मगर वह गोल करने के मौके नहीं बना सके। वहीं फ्रांस की टीम एक चैंपियन की तरह खेली और अधिकांश गोल करने के मौके बनाए। बहरहाल, पहले हाफ में फैंस और दोनों ही टीमों के हाथ निराशा लगी क्योंकि गोल नहीं हुआ और स्कोर 0-0 रहा।

दूसरे हाफ में फ्रांस ने शुरुआत से ही अपने आक्रमण तेज किए, जिसका फायदा उसे 51वें मिनट में मिला जब सैमुअल उमटीटी ने हेडर के जरिए गोल दाग दिया। उमटीटी ने बेल्जियम के फेलानी के सामने आकर हेडर जमाया और कोरटोइस के पास से गेंद जाली में भेदकर फ्रांस को 1-0 की बढ़त दिलाई।

फेलानी इस गोल से काफी निराश हुए। इसके बाद बेल्जियम ने अपने हमले तेज किए, लेकिन फ्रांस ने काफी अच्छा डिफेंस किया और रेड डेविल्स को गोल करने का कोई मौका नहीं दिया। अंत में फ्रांस ने दूसरा गोल करने का मौका बनाया, लेकिन सफल नहीं हुए।

लाइव अपडेट्स
फुल टाइम – फ्रांस 1-0 बेल्जियम
===================
फ्रांस की तरफ से सैमुअल उमटीटी ने 51वें मिनट में गोल दागा।

90+3 मिनट: मैच में चौथा पीला कार्ड। मबापे को गिराने के लिए बेल्जियम के विंसेंट कंपनी को मिला पीला कार्ड। इस बीच ग्रीजमैन ने तेजी से किक जमाई, लेकिन कोरटोइस ने इसे रोक दिया। ग्रीजमैन के पैरों में थकावट नजर आई।

90 मिनट: मौजूदा विश्व कप में पहली बार किसी मैच में 6 मिनट का स्टॉपेज टाइम मिला। फ्रांस के खिलाड़ी समय बर्बाद किए जा रहे हैं।

87 मिनट: फ्रांस के कांटे को मिला पीला कार्ड। मैच का तीसरा पीला कार्ड। बेल्जियम के एडन हेजार्ड को पेनल्टी बॉक्स के बाहर गिराने के लिए रेफरी ने कांटे को किया बुक।

81 मिनट: बेल्जियम ने किया बदलाव। फेलानी को बाहर बुलाकर कारास्को को मैदान में भेजा। विटसेल ने शॉट जमाया, जिस पर लोरिस ने पंच मारकर गेंद दूर भेजी।

80 मिनट: बेल्जियम के पास 10 मिनट का समय शेष। अगर वह गोल नहीं कर पाया तो पहली बार फाइनल में पहुंचने का उसका सपना अधूरा रह जाएगा।

75 मिनट: केविन डी ब्रूइन ने पेनल्टी बॉक्स के बाहर से किक जमाई, लेकिन गेंद काफी ऊंची और दूर रही। बेल्जियम का कोई दांव काम नहीं आ रहा है। फ्रांस की 1-0 की बढ़त बरकरार।

71 मिनट: एल्डरवील्ड को मिला पीला कार्ड। रेफरी ने बेल्जियम के एल्डरवील्ड को बुक किया, जिन्होंने मैटउइदी को नीचे गिराया। मैच में दूसरा पीला कार्ड दिखाया गया और दोनों ही कार्ड बेल्जियम के खिलाड़ियों को मिले।

68 मिनट: फ्रांस ने तेजी से आक्रमण करने की ठानी। मबापे ने गेंद ग्रीजमैन को पास की, जिन्होंने बॉक्स के अंदर मौजूद जिरू को पास दिया। फ्रांस के फॉरवर्ड ने शॉट जमाया, लेकिन गेंद हवा में उछलकर गोलपोस्ट के ऊपर से चली गई।

65 मिनट: मर्टेंस ने दाएं ओर से बॉक्स में अच्छा पास दिया, लेकिन गोलपोस्ट के पास खड़े फेलानी का हेडर सही नहीं लगा। गेंद गोलपोस्ट से दूर चली गई।

63 मिनट: मैच में पहला पीला कार्ड। बेल्जियम के एडन हेजार्ड को रेफरी ने दिखाया पीला कार्ड। उन्होंने मैटउइदी की जर्सी पहनकर खींची और नीचे गिरा दिया।

60 मिनट: विश्व कप 2018 में पिछले 10 में से 8 गोल हेडर के जरिए आए। उमटीटी का इनमें से सबसे महत्वपूर्ण गोल कहना गलत नहीं होगा।
55 मिनट: फ्रांस ने दूसरा गोल करने का अद्भुत मौका गंवाया। मबापे ने पेनल्टी बॉक्स में जिरू को शानदार पास दिया। जिरू ने मौका बनाकर जोरदार किक जमाई, लेकिन बेल्जियम के डिफेंडर ने पैर अड़ाकर शानदार बचाव किया।

51 मिनट: गोल!!! फ्रांस ने खाता खोला। डिफेंडर उमटीटी ने दागा गोल। उमटीटी ने बेल्जियम के फेलानी के सामने आकर हेडर जमाया और कोरटोइस के पास से गेंद जाली में भेदकर फ्रांस को 1-0 की बढ़त दिलाई।

48 मिनट: विटसल ने लुकाकु को अच्छा पास दिया, लेकिन स्ट्राइकर को मार्क किया हुआ था। उन्होंने हेडर जरूर जमाया, लेकिन गेंद गोलपोस्ट के ऊपर से गई। दूसरे हाफ की भी तेज शुरुआत देखने को मिली।

हाफ टाइम
==============
फ्रांस 0-0 बेल्जियम

45+1 मिनट: रोमेलु लुकाकु ने गोल करने का मौका गंवाया। केविन डी ब्रूइन ने दाएं ओर से बेहतरीन पास दिया, जिस पर लुकाकु का हाथ लग गया और गेंद फ्रांसीसी गोलपोस्ट से दूर चली गई।

43 मिनट: बेहद मनोरंजक मुकाबला देखने को मिल रहा है। दोनों ही टीमें गोल करने के मौके पर मौके बनाती जा रहीं हैं, लेकिन अब तक गोल करने का सौभाग्य कोई हासिल नहीं कर पाया।

39 मिनट: पवार्ड भी गोल करने से चूके। फ्रांस ने बहुत अच्छा मूव बनाया। पवार्ड दाएं ओर से दो डिफेंडरों को छकाकर पेनल्टी बॉक्स तक पहुंचे और किक जमाई। मगर गोलकीपर कोरटोइस ने पैर अड़ाकर बचाव किया।

32 मिनट: ग्रीजमैन का शानदार किक गया बेकार। फ्रांस ने अपने आक्रमण से बेल्जियम को चौंकाया। पहले ग्रीजमैन ने जिरू को पेनल्टी बॉक्स में अच्छा पास दिया, लेकिन जिरू गोल करने में नाकाम रहे। अगले ही पल ग्रीजमैन ने अपने साथी के साथ दाएं पट्टी पर छोटे-छोटे पास खेलते हुए गोल करने का मौका बनाया। मगर ग्रीजमैन का किक गोलपोस्ट के काफी ऊपर चला गया।

30 मिनट: मजेदार बात यह है कि अब तक मैच में कुल 4 चार फाउल हुए हैं। चारों ही फाउल बेल्जियम ने किए। इस बीच फ्रांस के जिरू गोल करने से चूक गए।

24 मिनट: फ्रांस को पहला कॉर्नर मिला। एंटोनी ग्रीजमैन ने लिया किक। फेलानी ने हेडर के जरिये किया क्लीयरेंस।

21 मिनट: ह्यूगो लोरिस ने शानदार बचाव किया। चाडली के कॉर्नर किक पर फेलानी ने पैर से गेंद रोककर केविन डी ब्रूइन को पास दिया, जिन्होंने घूमकर गोलपोस्ट पर अच्छा किक जमाया। लोरिस ने बाएं ओर हवा में उछलहर अच्छा बचाव किया।

15 मिनट: बेल्जियम का शानदार काउंटर अटैक। एडन हेजार्ड ने बाएं ओर से अच्छी किक जमाई, लेकिन गेंद गोलपोस्ट से दूर चली गई।

11 मिनट: मबापे के पास गोल करने का मौका। पोल पोग्बा ने मिडफील्ड से शानदार पास दिया, लेकिन मबापे गेंद को चेस नहीं कर सके। बेल्जियम के गोलकीपर कोरटोइस ने गेंद लपकी।

6 मिनट: फ्रांस ने गोल टाला। डिफेंडर उमटीटी का शानदार बचाव। बेल्जियम के कप्तान ने बाएं ओर से क्रॉस पास डाला, लेकिन उन्हें किसी का साथ नहीं मला और उमटीटी ने किक जमाकर गेंद बाहर मारी। बेल्जियम को पहला कॉर्नर मिला, लेकिन इस पर कोई सफलता हाथ नहीं लगी।

2 मिनट: दोनों ही टीमों की धीमी शुरुआत। बेल्जियम ने हालांकि पहली बार फ्रांस के खेमे में दस्तक दी। मगर यह सिर्फ अटैक की झलक भर दिखी।

दोनों टीमों के नेशनल एंथम पूरे हो चुके हैं। अब फुटबॉल का धमाका शुरू होने में बस कुछ ही पल बचे हैं।

दोनों टीमों के खिलाड़ियों ने मैदान पर पहुंचकर अच्छा अभ्यास किया। आज दोनों ही टीमों के खिलाड़ियों के लिए बड़ा दिन है।

मजेदार फैक्ट – एंटोनी ग्रीजमैन ने फ्रांस के लिए मेजर टूर्नामेंट्स के पिछले 6 नॉकआउट चरण मुकाबलों में कुल 7 गोल दागे हैं।

मजेदार फैक्ट – 1986 में बेल्जियम ने फीफा विश्व कप के सेमीफाइनल में प्रवेश किया था, जहां उसे अर्जेंटीना से शिकस्त झेलनी पड़ी थी। अर्जेंटीना ने आगे चलकर खिताब जीता था।

फ्रांस के लिए सबसे बड़ा खतरा थिएरा हेनरी बने हुए हैं, जो इस समय बेल्जियम खेमे में शामिल हैं। हेनरी बेल्जियम के साथ कोचिंग स्टाफ में शामिल हैं।

मुकाबला शुरू होने में अभी आधे घंटे का समय बचा है। बहरहाल, बेल्जियम और फ्रांस के में किसी प्रकार का युद्ध नजर नहीं आया। दोनों टीमों के खिलाड़ियों ने मैदान में आते ही एक-दूसरे से हाथ मिलाया और फाइनल में पहुंचने के लिए शुभकामनाएं दी।

टीमें
===========
बेल्जियम – कोरटोइस गोलकीपर, एल्डरवीरेल्ड, विंसेंट कंपनी, वर्टोनघेन, विटसेन, केविन डी ब्रूइन, फेलानी, डेमबेले, चाडली, रोमेलु लुकाकु आर एडन हेजार्ड।

फ्रांस – लोरिस, पवार्ड, वराने, उमटीटी, हर्नांडेज, पोल पोग्बा, कांटे, मैटउइडी, एंटोनी ग्रीजमैन, जिरू और कायली मबापे।