भारत के गणतंत्र दिवस समारोह में यूएई के शहज़ादे मोहम्मद बिन ज़ायद अल नाहयान बतौर मुख्य अतिथि शामिल होंगे!

“आजाद भारत के इतिहास में यह पहला मौका होगा, जब दिल्ली के राजपथ पर भारतीय सैनिकों के साथ अरब खाड़ी के किसी देश के सैनिक कदमताल करेंगे. इस बार गणतंत्र दिवस1j2hQoFYGdnvgWScMonNSheikh-Mohamed-bin-Zayed-Al-Nahyan-620x400 के समारोह में संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) के शहजादे मोहम्मद बिन जायद अल नाहयान बतौर मुख्य अतिथि शामिल हो रहे हैं । इसके साथ ही वहां का एक सैन्य दल भारत की गणतंत्र दिवस परेड में हिस्सा लेगा।

भारत के गणतंत्र दिवस समारोह के लिए यह अपवाद ही है जब कोई शहजादा इस आयोजन का मुख्य अतिथि बन रहा हो । द हिंदू के मुताबिक बीते 50 साल में गणतंत्र दिवस के मौके पर ऐसा कोई व्यक्ति मुख्य अतिथि नहीं बना है जो राष्ट्राध्यक्ष या सरकार का प्रमुख न हो । आखिरी बार 1965 में पाकिस्तान के कृषि मंत्री राणा अब्दुल हमीद गणतंत्र दिवस पर मुख्य अतिथि बने थे । लेकिन, इसके बाद केवल राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और सम्राटों को ही निमंत्रण देने का फैसला किया गया था।

इस रिपोर्ट के मुताबिक खाड़ी देशों में पाकिस्तान का असर कम करने और भारत का प्रभाव बढ़ाने की रणनीति के तहत सरकार ने यह फैसला लिया है । पाकिस्तानी सेना पारंपरिक तौर पर यूएई के सैनिकों को प्रशिक्षण देती रही है । यही नहीं, पाकिस्तानी सेना और आईएसआई के रिटायर्ड अधिकारी यूएई में सलाहकारी पदों पर नियुक्त होते रहे हैं । हाल ही में पाकिस्तान के पूर्व सेनाध्यक्ष जनरल राहिल शरीफ सऊदी अरब के नेतृत्व वाले 39 देशों के इस्लामिक मिलिट्री अलायंस के प्रमुख बने हैं।

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक गणतंत्र दिवस से पहले 20 जनवरी को भारत और यूएई के बीच सुरक्षा, आतंकरोधी रणनीति और खुफिया सूचना साझा करने जैसे मुद्दों पर एक बैठक भी होगी । इसमें भारत की तरफ से विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर और यूएई में उनके समकक्ष अनवर मोहम्मद गरघस हिस्सा ” – पहली बार किसी अरब देश के सैनिक गणतंत्र दिवस परेड का हिस्सा बनेंगे।

Share

Leave a Reply

%d bloggers like this: