बीमार बच्चा गोद में लिए रास्ता देने की गुहार लगाती रही एक महिला, फिर भी रोके रहे ABVP के कार्यकर्ता!!!!

इंदौर। एबीवीपी ने सोमवार को इंदौर में एक रैली का आयोजन किया, जिसके चलते शहर का यातायात बुरी तरह प्रभावित रहा। देशभर से यहां आए कार्यकर्ताओं को शहर की संस्कृति से रूबरू करवाने के लिए एबीवीपी के नेताओं ने रैली रखी थी। इसमें एक महिला बीमार बच्चे को अस्पताल ले जाने के लिए व्यवस्था संभाल रहे कार्यकर्ताओं से रास्ता देने की गुहार लगाती रही लेकिन वे बेपरवाह होकर अनसुना करते रहे।

नई दुनिया की खबर के मुtjताबिक उनकी इस रैली के चलते इंदौर के एक बड़े इलाके में तीन घंटे से भी ज्यादा वक़्त तक जाम लगा रहा। जिसके चलते सैकड़ो वाहन इस जाम में फंस गए।

दरअसल, बीमार बच्चे को अस्पताल लेकर जाने के लिए मोटरसाइकल पर निकले उसके पिता किशोर और बुआ महक इस जाम में फंस गए। जाम में फंसे इस बीमार बच्चे की तबियत जब ज्यादा बिगड़ने लगी तो उसकी बुआ उसे गोद में लिए नंगे पैर ही दौड़ने लगी ताकि उसे जल्द से जल्द अस्पताल पहुंचाया जाए। जब इस महिला ने एबीवीपी के कार्यकर्ता के आगे बच्चे को अस्पताल पहुचाने के लिए रास्ता छोड़ने की गुहार लगाई तब भी एबीवीपी के कार्यकर्ताओं ने रास्ता रोके रखा और वहां खड़े लोग भी तमाशा देखते रहे।

महिला वाहनों की भीड़ के बीच रास्ता देने की गुहार लगाती रही। बोलतीं रहीं, ‘मुझे अस्पताल जाना है… मेरा बच्चा मर रहा है… मुझे रास्ता दो… मेरे बच्चे को बचाओ। लेकिन वहां ड्यूटी दे रहे पुलिस वालों ने भी उसकी कोई मदद नहीं की। लेकिन उसी भीड़ में एक फोटो जर्नलिस्ट जिसका नाम चेतन सोनी ने इस सारी घटना को अपने कैमरें में कैद किया और उस महिला को जल्दी अस्पताल पहुंचाया।

BY – नेशनल दस्तक ब्यूरो

Share

Leave a Reply

%d bloggers like this: