राजस्थान : प्रदेश में पहली बार उर्दू के फ़रोग के लिए काम करने की सहूलियते मिलीं

अख्तर खान अकेला, कोटा राजस्थान

—————————-
राजस्थान में ,,,अगर उर्दू साहित्य एकेडमी के,, नवtjनियुक्त चेयरमेन ,,,अशरफ अली ने ,,,पार्टी विचारधारा से ऊपर उठ कर ,,उर्दू के फरोग के लिए,,,, टीम भाव से ,,,काम शुरू किया ,,तो,,, निश्चित तोर पर ,,राजस्थान में ,,,उर्दू के फरोग के लिए ,,पहली बार,,, उर्दू एकेडमी का नाम ,,उर्दू विकास के इतिहास में,,, लिखा जाना सम्भव है ,,,राजस्थान में,,, एक तरफ ,,,शिक्षा विभाग की,,, उर्दू के खिलाफ साज़िशें चली है ,,वहीं दूसरी तरफ ,,मुख्यमंत्री राजस्थान सरकार ने ,,,पहली बार ,उर्दू एकेडमी के प्रति ,,,अपनी सद्भावना दिखाते हुए ,,उर्दू एकेडमी के चेयरमेन को ,,,राज्यमंत्री का दर्जा देकर ,,प्रदेश में ,,,उर्दू के फरोग के लिए,,, काम करने की सहूलियते दी है ,,,इस टीम में ,,, टोंक के विख्यात शायर ,,,उर्दू अदब के फनकार ,,ज़िया टोंकी भी शामिल है ,,जो पूर्व में भी ,,,उर्दू एकेडमी का कार्यभार देखते रहे है ,,उनके अनुभवो का लाभ ,,अगर उठाया गया ,,,तो सही में,, उर्दू के फरोग का,,, इतिहास लिखा जा सकेगा ,,,,उर्दू एकेडमी में कोटा के निज़ाम खान बबलू ,,अब्दुल अलीम को भी प्रतिनिधित्व दिया गया है ,,,यह लोग यूनुस खान और केंद्र में सांसद ओम बिरला के ज़रिये ,,,केन्द्रिय मंत्री मुख़्तार अब्बास नक़वी से ,,,अतिरिक्त आर्थिक मदद ,,उर्दू के फरोग के लिए ,,,दिलवाने में सक्षम ,,साबित हो सकते है ,,,,,नवनियुक्त चेयरमेन अशरफ अली को ,,मेने ,,राजस्थान में ,,सरकार की उर्दू के साथ बेवफाई के बारे में विस्तृत जानकारी दी ,,उन्हें प्राइमरी स्कूलों से लेकर ,,मिडिल ,,,सेकेंडरी ,,हायरसेकेंडरी ,,कॉलेज स्तर ,,,सहित मदरसों ,,में उर्दू को खत्म करने की साज़िशो से आगाह किया ,,,स्कूली टीचर्स के पद खत्म करने ,,,नयी नियुक्तियां नहीं करने की भी जानकारी दी ,,अशरफ अली ने कहा के ,,आप लोगो का उर्दू के फरोग के लिए कोटा में जो ,,तहरीक ऐ उर्दू ,,के ज़रिये आंदोलन छेड़ा गया है ,,हमारा इस ,,तहरीक ऐ उर्दू ,,को पूरा समर्थन है ,, अशरफ अली ने कहा ,के में उर्दू के फरोग के लिए हर मुमकिन कोशिश करूँगा ,,जल्द ही राज्यभर का दौरा कर ,,उर्दू के फरोग के लिए एक एक्शन प्लान तैयार किया जाएगा ,,,,जबकि मुशायरे ,,,उर्दू की नशिस्तें ,,स्कूल कॉलेजों में उर्दू के फरोग के कार्यकम चलाने सहित ,,उर्दू की मैगज़ीन ,,नियमित प्रकाशित की जाएगी ,,,हर ज़िले ,,हर मोहल्ले में उर्दू के प्रति लोगो का प्यार बढे ,,उत्साह बढे ,,ऐसे कार्यक्रम भी चलाये जाएंगे ,,,,,,अल्लाह अशरफ अली तेली ,,नवनियुक्त चेयरमेन उर्दू एकेडमी के इन मनसूबों को कामयाब करे ,,,उनकी टीम को एकजुटता ,,हिम्मत दे ताके ,,राजस्थान में उर्दू जुबांन का क़त्ल करने के लिए शिक्षाविभाग की जो क़ातिल साज़िशें है उस पर विराम लग सके ,,और उर्दू सिर्फ किसी धर्म मज़हब की जुबां नहीं ,,आम हिंदुस्तानी की जुबा ,,,साहित्य की जुबां ,,अदब की जुबां ,,तहज़ीब की जुबां ,,मोहब्बत की ज़ुबान ,,,,देश को अगंरेजो की गुलामी से आज़ाद करवाने वाली जुबां ,,कोमी एकता ज़िंदाबाद ,,,,इंक़लाब ज़िंदाबाद ,,सारे जहाँ से अच्छा हिंदुस्तान हमारा ,,जैसे खूबसूरत नारे देने वाली जुबां है ,,लोगो के सामने यह सच लाया जा सके ,ध्यान रहे अकादमी की साधारण परिषद में 11 गैर सरकारी सदस्यों में टोंक जिले के जिआ टोंकी, श्रीगंगानगर जिले के हाजी दादू खां जोईया, जयपुर जिले के आसेफा अली एवं रेशमा हुसैन, अलवर के हाजी अब्दूल सलीम कोहिनूर, डूंगरपुर की फरीदा बोहरा, हनुमानगढ़ के लाल मोहम्मद मुलावाज,धौलपुर के रियाज खान (नूर धौलपुरी), कोटा के हाजी अलीम एवं निजामुद्दीन खान और जोधपुर के आमीर खान मनोनीत किये गये हैं।

,,अख्तर खान अकेला कोटा राजस्थान

Share

Leave a Reply

%d bloggers like this: