देश

अखिलेश यादव ने पार्टी कार्यकर्ताओं की मीटिंग में कहा- पता नहीं कि 2024 के बाद वोट देने का मौका रहेगा या नहीं!

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने रविवार को पार्टी कार्यकर्ताओं की एक मीटिंग में कहा कि उन्हें पता नहीं कि 2024 के बाद वोट देने का मौका रहेगा या नहीं.

उन्होंने कहा, “मैं उम्मीद करता हूं कि जो एजेंडा सेट किया गया है उस पर मिलकर काम करेंगे क्योंकि हम सभी 2024 में बदलाव चाहते हैं. अगर हम यह मौका हाथ से गंवाते हैं तो हम नहीं जानते कि इसके बाद वोट देने का मौका मिलेगा या नहीं.. ये भी सोचना होगा.”

अखिलेश यादव इस समय लोकसभा चुनाव के पूर्व पार्टी की तैयारी में लगे हुए हैं और शनिवार को पूर्वी उत्तर प्रदेश के बलिया में उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए धर्म की आड़ लेने का आरोप लगाया.

उन्होंने कहा कि बीजेपी के विकसित भारत में किसानों और नौजवानों के कल्याण की चर्चा नहीं होती, बेरोज़गार नौजवानों की बात नहीं होती.

उन्होंने कहा, “रोज़गार देने के लिए बीजेपी ने क्या किया. बीजेपी इन सवालों का जवाब नहीं देती. इसलिए वो धर्म और भगवान के पीछे छुप जाती है.”

इंडिया गठबंधन में सीट साझेदारी को लेकर कोशिशें शुरू हो गई हैं और जब शनिवार को इस बारे में एक पत्रकार ने अखिलेश यादव से पूछा तो उन्होंने कहा कि गठबंधन से सभी दल चाहते हैं कि कांग्रेस की भारत जोड़ो न्याय यात्रा से पहले सभी प्रदेशों में सीट साझेदारी पर सहमति बन जाए. इसके बाद सभी लोग इस यात्रा में उत्साह से शामिल होंगे.