देश

#अमरोहा : गोडसे के समर्थन में उतरे मुस्लिम समाज के बीजेपी कार्यकर्ता, सांसद दानिश अली का फूंका पुतला : वीडियो

Knews
@Knewsindia

#अमरोहा

♦ बीजेपी कार्यकर्ताओं ने सांसद दानिश अली का फूंका पुतला

♦ गोडसे के समर्थन में उतरे मुस्लिम समाज के बीजेपी कार्यकर्ता

♦ बसपा सांसद दानिश पर की मुकदमा दर्ज करने की मांग

♦ सांसद ने गोडसे को बताया था देश का पहला आतंकवादी

Girijeshwar Prasad
==========
एक पक्ष यह भी है
कानपुर देहात में जो दीक्षित परिवार की मां बेटी जल मरी हैं उसमे पहले तो आप गरीब झोपड़ी वाले दिखाना बंद करिए उनको… गांव के भीतर उनका अच्छा खासा पक्का मकान है… झोपड़ी वाले नही हैं वो लोग… झोपड़ी सिर्फ ग्राम समाज की जमीन कब्जाने के लिए बनाई गई थी…
दूसरे आप परिवार को बेचारा दिखाना बंद करिए… मृतका का बड़ा बेटा शिवम बजरंग दल का सह संयोजक था… जरा सी देर में वहां विहिप और बजरंग दल वाले इकट्ठे हो जाते थे… गांव वालों ने बताया कि कुछ दिन पहले गांव के एक लड़के से विवाद होने पर शिवम के भाई अंश दीक्षित ने उस लड़के के मुंह में खेत में पड़ा माहवारी का कपड़ा ठूंस कर उसको मारा था…
तीसरी बात… परिवार की दबंगई का आलम ये था कि घटना से दो दिन पहले मृतका डीएम ऑफिस में घुस गई थी अपने जानवर लेकर… वहां बजरंग दल और विहिप वाले इकट्ठे हो गए थे… और खूब बवाल काटा था…
घटना वाले दिन होनी को कुछ और ही मंजूर था… झोपड़ी के भीतर आग इसी पक्ष के द्वारा लगाई गई… बस गलत ये हो गया कि प्रशासन ने बार बार मौखिक तौर पर बाहर निकलने का कहने के बाद झोपड़ी का छप्पर इस उद्देश्य से पलटाया कि छप्पर हटाते ही मां बेटी बाहर आ जायेंगी…. पर वो छप्पर भरभरा के वहीं गिर गया और मां बेटी जल मरी…
घटना का मुझे भी बहुत अफसोस है पर दीक्षित परिवार को जितना मासूम दिखाया जा रहा है उतना है नहीं…और इन सबके बीच लेखपाल और एसडीएम का जीवन जिस तरह तबाह किया जा रहा है वो भी गलत है… बुलडोजर प्रणाली योगी आदित्यनाथ की ईजाद की हुई है… एफआईआर योगी पर कराइए दम है तो… इन कर्मचारियों की जान बेकार में लिए हैं…
हर घटना के दो पहलू होते हैं…. और दूसरा पहलू देखने के लिए जमीन में उतरना पड़ता है… सोशल मीडिया पर बैठकर जजमेंटल बनना हमेशा सही नही होता…
Abha Shukla
Pankaj Chaturvedi की वॉल से।