दुनिया

इमरान ख़ान का ऐतिहासिक लांग मार्च शुरु, भारी जनसमूह ने तोड़े सारे रिकॉर्ड : रिपोर्ट

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान ख़ान अपने समर्थकों की भारी संख्या के साथ शुक्रवार को लांग मार्च पर निकल पड़े हैं। इमरान ख़ान लाहौर से इस्लामाबाद रवाना हुए हैं। इस मार्च का मक़सद सरकार पर तत्काल चुनाव करवाने के लिए दबाव डालना है।

लाहौर में इमरान ख़ान के समर्थक दसियों हज़ार की संख्या में एकत्रित हो गए और अपेक्षा की जा रही है कि इतनी ही संख्या और भी इस लांग मार्च में जुड़ जाएगी। 380 किलोमीटर का यह लांग मार्च एक सप्ताह तक चलेगा और इस बीच इमरान ख़ान रुक रुक कर जनसभाएं करेंगे।

इमरान ख़ान नेएक वीडियो ट्वीट किया जिसमें वे एक कंटेनर के ऊपर खड़े दिखाई दे रहे हैं और उनके सामने भारी जनसमूह है जो सरकार के ख़िलाफ़ नारे लगा रहा है।

शहबाज़ शरीफ़ की सरकार के ख़िलाफ़ लोग नारे लगा रहे थे कि इम्पोर्टेड सरकार क़ुबूल नहीं। इस्लामाबाद में मार्च को रोकने की बड़े पैमाने पर तैयार की जा चुकी हैं।

यह लांग मार्च एसे हालात में निकाला गया है कि सरकार गंभीर आर्थिक चुनौतियों से जूझ रही है और बाढ़ से होने वाली तबाही में देश को 30 अरब डालर से ज़्यादा नुक़सान हो चुका है।

इमरान ख़ान अब तक कई बार सेना और ख़ुफ़िया एजेंसी आईएसआई को भी घेर चुके हैं। आरोपों का जवाब देने के लिए गुरुवारको सेना के जनसंपर्क विभाग के अधिकारी और आईएसआई चीफ़ ने पत्रकार सम्मेलन किया।