दुनिया

इराक़ से इस्राईल पर ड्रोन हमला, इस्राईल के जासूसी केन्द्र को उड़ाया!

इराक़ियों ने इस्राईल के जासूसी केन्द्र को उड़ा दिया

इराक़ के इस्लामी प्रतिरोध आंदोलन ने एक बार फिर एरबिल के पूर्वोत्तरी क्षेत्र में ज़ायोनी शासन के जासूसी केंद्र को निशाना बनाया।

तस्नीम समाचार एजेंसी के अनुसार, उत्तरी इराक़ में ज़ायोनी शासन के जासूसी केंद्र को इस्लामी प्रतिरोध द्वारा निशाना बनाया गया था।

इराक़ के इस्लामी प्रतिरोध आंदोलन ने घोषणा की है कि यह हमला ग़ज़्ज़ा में लोगों की हत्या के जवाब में एरबील के उत्तर-पूर्व सुबह के समय किया गया।

इराक़ के इस्लामी प्रतिरोध ने इस बात पर भी ज़ोर दिया कि वह दुश्मन के ठिकानों को नष्ट करना जारी रखेगा।

जानकार सूत्रों ने तस्नीम को बताया कि इस हमले में इस जासूसी केंद्र में मौजूद कई लोग मारे गए या घायल हुए।

फ़िलिस्तीन का समर्थन, इराक़ से इस्राईल पर ड्रोन हमला

इराक़ के प्रतिरोधकर्ता गुटों ने आज सुबह दक्षिणी अवैध अधिकृत फ़िलिस्तीन के एक इलाके पर हमला किया।

इराक़ के प्रतिरोधकर्ता गुट ने घोषणा की है कि उसने अवैध अधिकृत फ़िलिस्तीन के दक्षिण में स्थित अलयाद ज़ायोनी कॉलोनी को निशाना बनाया है। इस संबंध में ज़ायोनी मीडिया ने दक्षिणी गोलान में एक इमारत पर आत्मघाती ड्रोन हमले की सूचना दी है।

इराक़ के प्रतिरोधकर्ता गुट ने एक बयान में कहा कि उसने ग़ज़्ज़ा की जनता के समर्थन और फ़िलिस्तीनी बच्चों और महिलाओं के नरसंहार के जवाब में बुधवार सुबह पूर्वोत्तरी एरबिल में ज़ायोनी शासन के एक जासूसी केंद्र को भी निशाना बनाया था।

बुधवार शाम को इराकी प्रतिरोधकर्ता गुटों ने भी इराक के एरबिल हवाईअड्डे के पास अमेरिकी सैन्य ठिकाने पर हमला किया था।

इराक़ के प्रतिरोधकर्ता गुट ने सोमवार रात को भी घोषणा की कि उसने उत्तरी इराक में एरबिल प्रांत के हरीर क्षेत्र में अमेरिकी सैन्य अड्डे पर ड्रोन हमला किया।