दुनिया

इसराइल और हमास के बीच ग़ज़ा में संघर्ष विराम लागू कराने के लिए प्रयास जारी, एंटनी ब्लिंकन सऊदी अरब पहुंचे : रिपोर्ट

इसराइल और हमास के बीच ग़ज़ा में संघर्ष विराम लागू कराने के लिए प्रयास जारी हैं.

यदि दोनों पक्षों के बीच समझौता हो जाता है तो इसराइल, दक्षिणी ग़ज़ा के रफ़ाह पर अपने हमले को टाल सकता है.

इसराइल के विदेश मंत्री इसराइल कैट्ज़ का कहना है कि यदि हमास अपने क़ब्ज़े में मौजूद बंधकों को रिहा कर देता है तो पहले से नियोजित इस हमले को टाला जा सकता है.

इसी बीच, अमेरिकी विदेश मंत्री अरब देशों के राजनेताओं से वार्ता के लिए सऊदी अरब की राजधानी रियाद पहुंच रहे हैं.

अमेरिकी विदेश विभाग के मुताबिक़ एंटनी ब्लिंकन इस बात पर ज़ोर देंगे कि ये संघर्ष और इलाक़ों में ना फैले.

शनिवार को हमास ने दो बंधकों का वीडियो जारी कर उनके ज़िंदा होने का सबूत दिया था.

वहीं दूसरी तरफ़ इसराइल में बंधकों की रिहाई को लेकर व्यापक विरोध प्रदर्शन भी हो रहे हैं.

हमास ने जारी किया नया वीडियो, अग़वा किए गए दो और इसराइली नागरिकों के ज़िंदा होने का सबूत दिया

हमास ने नया वीडियो जारी करते हुए अग़वा किए गए दो और इसराइली नागरिकों के ज़िंदा होने का सबूत दिया है.

वीडियो में ओमरी मिरान ने बताया है कि उन्हें 202 दिन से बंदी बनाकर रखा गया है. वहीं कीथ सीगल ने पिछले हफ्ते की एक छुट्टी का ज़िक्र किया है.

इससे पता चलता है कि इस वीडियो को हाल ही में रिकॉर्ड किया गया है.

दोनों इसराइली नागरिकों को हमास ने 7 अक्टूबर को किए हमले के दौरान अग़वा किया था.

वीडियो पर प्रतिक्रिया देते हुए ओमरी और कीथ के परिवारों का कहना है कि वे इनकी रिहाई तक लड़ाई जारी रखेंगे.

इसके साथ ही ओमरी और कीथ के परिवारों ने इसराइल की सरकार से रिहाई के लिए डील करने की अपील भी की है.

नया वीडियो उस वक्त में सामने आया है जब हमास ने कहा है कि वो संघर्ष विराम के लिए इसराइल के ताज़ा प्रस्ताव पर विचार कर रहा है.

इसराइल के विदेश मंत्री ने शनिवार को कहा है कि बंधकों की रिहाई के लिए अगर समझौता होता है तो वो रफ़ाह पर प्लान किए गए हमले के फैसले को वापस ले सकते हैं.