देश

इस्लाम और मुसलमानों के ख़िलाफ़ विवादित बयान देने वाले रामदेव के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज!

इस्लाम और मुसमलानों के ख़िलाफ़ विवादित बयान देने वाले योग गुरु बाबा रामदेव के ख़िलाफ़ राजस्थान के बाड़मेर ज़िले के चौहटन थाने में रविवार को एक एफ़आईआर दर्ज की गई है।

रामदेव के ख़िलाफ़ एक व्यक्ति की शिकायत पर आईपीसी की धाराओं में एफ़आईआर दर्ज की गई है।

बाबा रामदेव 2 फ़रवरी को एक धार्मिक कार्यक्रम में शामिल होने बाड़मेर पहुंचे थे। वहां उन्होंने सभा को संबोधित करते हुए इस्लाम और मुसलमानों के ख़िलाफ़ एक विवादित बयान दिया था।

उनके इस बयान की सोशल मीडिया पर ख़ूब चर्चा हुई थी और लोगों ने इसे सांप्रदायिक सद्भाव के ख़िलाफ़ बताया था।

रामदेव ने कहा थाः मुसलमानों को सिर्फ़ इतना सिखाया जाता है कि नमाज़ पढ़ो, बाक़ी जो करना है करो। मुस्लिम समाज के बहुत से लोग ऐसा करते हैं, वे नमाज़ पढ़ते हैं और इसके बाद जो अपराध चाहते हैं करते हैं, यहां तक कि आतंकवादी बन जाते हैं।

रामदेव यहीं नहीं रुके, बल्कि उन्होंने कहा कि मुसलमानों के लिए स्वर्ग का मतलब है, टख़्ने के ऊपर पायजामा पहनो, मूंछ कटवा लो, टोपी पहन लो। ऐसा क़ुरान कहता है या इस्लाम कहता है। ऐसा ही कर रहे हैं यह लोग, फिर कहते हैं तुम्हारी जन्नत में जगह पक्की हो गई। जन्नत में क्या मिलेग? जन्नत में हूरें मिलती हैं। ऐसी जन्नत तो जहन्नुम से भी बेकार।

उनके ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज करवाने वाले व्यक्ति का कहना है कि बाबा रामदेव ने हमारे धर्म के बारे में ग़लत और अपमानजनक बयान दिया है। इसलिए हमने थाने में एफ़आईआर दर्ज करवाई है।

बाबा रामदेव ने मुस्लिम धर्म के ख़िलाफ़ निराधार दावा करने के साथ ही ईसाई धर्म को लेकर भी विवादित बयान दिया है।

उन्होंने कहाः चर्च में जाओ और दिन में भी मोमबत्ती जलाकर ईसा मसीह के सामने खड़े हो जाओ, सारे पाप साफ़ हो जाते हैं। ईसाई धर्म यही सिखाता है। लेकिन, हिंदू धर्म में ऐसा नहीं है।