देश

उत्तराखंड में बेरोज़गार युवाओं का आंदोलन गंभीर रुख़ अख़्तियार करता जा रहा है, युवाओं का आंदोलन पूरे प्रदेश में फैला : रिपोर्ट

उत्तराखंड में भर्ती घोटालों की सीबीआई जांच की मांग को लेकर बेरोज़गार युवाओं का आंदोलन गंभीर रुख़ अख़्तियार करता जा रहा है.

सड़क पर बैठे हज़ारों बेरोज़गारों की ज़ोरदार नारेबाज़ी के बीच माहौल में तनाव पसरा हुआ है.

भर्तियों में धांधली होने का आरोप लगा रहे युवाओं ने आंदोलन कर रहे युवाओं ने राजधानी देहरादून के गांधी पार्क के बाहर सड़क जाम कर दिया.

उत्तराखंड में सरकारी नौकरियों में कथित धांधली के ख़िलाफ़ युवाओं का आंदोलन पूरे प्रदेश में फैल गया है.

गढ़वाल, कुमाऊं के कई क्षेत्रों से युवाओं के प्रदर्शन की ख़बरें हैं.

उत्तराखंड राज्य के गठन के बाद युवाओं का यह सबसे बड़ा प्रदर्शन है.

कांग्रेस ने भी गुरुवार को युवाओं पर लाठीचार्ज के ख़िलाफ़ प्रदेश भर में प्रदर्शन किया है.

बता दें कि बुधवार रात को गांधी पार्क में भर्ती घोटालों की सीबीआई जांच की मांग कर रहे बेरोज़गार युवकों को पुलिस ने जबरन उठा लिया था.

इस दौरान उत्तराखंड बेरोज़गार संघ के अध्यक्ष बॉबी पंवार को पीटे जाने के वीडियो भी वायरल हुए.

इससे युवाओं में आक्रोश बन गया और गुरुवार सुबह से ही हज़ारों की संख्या में युवा देहरादून में इकट्ठे होने लगे थे.

गुरुवार को प्रशासन बेरोज़गारों के प्रतिनिधियों से बात कर रहा था कि भीड़ हिंसक हो गई और पुलिस ने लाठीचार्ज किया.

पुलिस ने 300 से ज़्यादा युवाओं को हिरासत में लिया था लेकिन गिरफ़्तार बॉबी पंवार समेत 13 लोगों को ही किया.

उत्तराखंड बेरोज़गार संघ ने गुरुवार को ही प्रदेश बंद का आह्वान किया था.

इसे देखते हुए देहरादून जिला प्रशासन ने शुक्रवार को परेड ग्राउंड के 300 मीटर के दायरे में धारा 144 (निषेधाज्ञा) लगा दी थी.

हालांकि बड़ी संख्या में युवा प्रदर्शन के लिए बाहर निकले.

देहरादून तहसील में स्थित शहीद स्मारक के साथ ही ज़िलाधिकारी कार्यालय पर भी एकत्र हो गए.

पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत भी बेरोज़गारों के समर्थन में एक धरने में शामिल होने पहुंचे थे, जहां उनकी तबियत ख़राब हो गई और वह बेहोश हो गए.

हालांकि थोड़ी देर में ही उन्हें होश आ गया था.

समाचार लिखे जाने तक युवा देहरादून तहसील स्थित शहीद स्मारक में जमे हुए थे.

उनके साथ कई वकील और सामाजिक कार्यकर्ता भी हैं.

बेरोज़गार संघ के अध्यक्ष बॉबी पंवार के बारे में पुलिस ने कोई जानकारी नहीं दी है.

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष करन माहरा ने बॉबी पंवार को रिहा करने और लोगों को उनके बारे में तुरंत जानकारी देने की मांग की है.