विशेष

एक मुर्दाघर ग्लैमरस लड़कियों के भविष्य की शिक्षा देता है, कल की देवियाँ आज के कीड़ों का आहार बन गई हैं!

सुलैमान के नीतिवचनों से बुद्धि
===============
नीतिवचन 23:17
तेरा मन पापियों से डाह करने न पाए, परन्तु तू सारे दिन परमेश्वर से डरता रह।
दुनिया पापियों को ऊंचा उठाती और उनका प्रचार करती है। फिल्मी सितारे, एथलीट, नृत्य कलाकार, व्यवसायी, राजघराने, राजनेता, और अन्य अमीर और प्रसिद्ध पापी हर दिन आप पर थोपे जाते हैं। सुलैमान ने, एक बुद्धिमान पिता के रूप में प्रेम के साथ साथ, अपने बेटे को सांसारिक पापियों से डाह न करने की चेतावनी भी दी (नीतिवचन 24:1,19)। वह जानता था कि परमेश्वर का भय मानना ही उसकी एकमात्र महत्वाकांक्षा होनी चाहिए (सभो 12:13-14)।
हर पीढ़ी में, हर देश में नायक और सितारे होते हैं; लेकिन हाल ही में इन लोकप्रिय पापियों की छवियों और शब्दों को आप पर हर समय थोपा जा रहा है। यदि यह चेतावनी सुलैमान के दिनों में महत्वपूर्ण थी, तो यह आज कहीं अधिक महत्वपूर्ण है। ये सभी पापी अधोगति में जा रहे हैं, और प्रत्येक मसीही को इस पर विश्वास करना चाहिए और इसके अनुसार दृष्टिकोण रखते हुए जीना चाहिए (नीतिवचन 23:18; भजन 37:1-3)।


डाह करने के लिए इस पीढ़ी में और दुनिया में 10,000 पापी हैं। हर उम्र के लोग, पुरुष और स्रियाँ दोनों, और सभी स्वभाव के लोग, किसी न किसी पापी के समान बनने की परीक्षा में पड़ते हैं। वे उन्हें देखकर कल्पना करते हैं कि जीवन कितना शानदार हो सकता है, अगर उनमें भी इन प्रसिद्ध हस्तियों के समान क्षमताएं, रूप, सफलता, जीवनसाथी या परिस्थितियां हों। यह प्रसिद्ध व्यक्ति हॉलीवुड का कोई सितारा हो सकता है; या वह स्कूल का सहपाठी या पड़ोसी भी हो सकता है।

यहोवा का भय मानना सर्वश्रेष्ठ है। प्रत्येक पापी, चाहे वह कितना ही धनी या प्रसिद्ध क्यों न हो, मरेगा और नरक में जाएगा (भजन संहिता 49:6-20)। इसलिए यहोवा का भय मानना मनुष्य का संपूर्ण कर्तव्य है (सभो 12:13-14)। अगर परमेश्वर का आशीर्वाद और अनुग्रह हो, तो अंधकार और गरीबी भी दुष्टों के बेकार, आशाहीन जीवन और अनन्त पीड़ा से बेहतर हैं (नीतिवचन 15:16; भजन 37:16)। इस पर विश्वास करो!

मूसा ने फिरौन या अपने समय के उभरते साथियों से डाह नहीं किया; उसने मसीह के कारण निन्दित होने को मिस्र के भण्डार से बड़ा धन समझा, क्योंकि देखा की उसका और उनका अनन्त भविष्य क्या था (इब्रानियों 11:24-26)। आसाप ने अद्भुत शब्दों में कब्र के पार देखने की बुद्धिमता का वर्णन किया (भजन 73:1-28)। जबकि देमास ने इस वर्तमान संसार से प्रेम किया, पौलुस ने आनेवाले नए जगत से प्रेम किया (2 तीमुथियुस 4:7-8,10)।

एक मुर्दाघर ग्लैमरस लड़कियों के भविष्य की शिक्षा देता है। कल की देवियाँ आज के कीड़ों आहार बन गई हैं। इससे भी बढ़कर, किसी अस्पताल में कैंसर वार्ड का दौरा करें। कब्र में सड़ने से पहले, वे भयानक और भूतिया रूप धारण कर लेते हैं। और फिर नरक आता है। मॉडल से ईर्ष्या करने वाली युवा लड़कियां एक बात है, परन्तु इन मॉडल से ईर्ष्या करने वाली अधेड़ उम्र की महिलाएं दोगुनी व्यर्थ हैं। परन्तु भली स्त्री, जो मसीह को खोजने के लिए इस संसार के प्रलोभनों से दूर रहती है, सदा के लिए सुखद वैभव में जीवित रहेगी (नीतिवचन 23:18; 1 तीमुथियुस 2:15)।

पापियों को महिमामंडित करने वाली पत्रिकाएँ क्यों पढ़ना? उन्हें टेलीविजन पर क्यों देखना? दुनिया केवल उनके मोहक लक्षण दिखाती है: आप उन्हें नशे में, तलाकशुदा, उदास, मरते या मरे हुए नहीं देखते। उनके विषय में दिन में सपने क्यों देखना? आपका धोखेबाज नाम उनके मोहक गुणों पर आ जाता है: वह उनकी वर्तमान परेशानियों और भविष्य में उनपर आनेवाले भयानक न्याय के विषय में आपसे झूठ बोलता है, और आप इस पर विश्वास करते हैं। धर्मियों से ईर्ष्या करना और उनके चरित्र और प्रतिष्ठा का लालच करना कहीं बेहतर होगा।

परमेश्वर का भय मानना ही आपका निरंतर विचार होना चाहिए, जो कि बुराई से घृणा करना और उसकी आज्ञाओं का पालन करना है (नीतिवचन 8:13; 14:2; भजन 112:1; 128:1)। प्रभु का भय मानना भक्ति, संकट के समय, प्रार्थना, रविवार की आराधना, या प्रभु भोज की एक मानसिकता पालना नहीं है – यह जीवन शैली, दृष्टिकोण और विश्वदृष्टि है जिसका वास्तविक मसीही पूरे दिन हर पल पालन करते हैं। आप पापियों के लिए डाह को एक पल के लिए भी अपने मन या आत्मा में पैर नहीं जमाने दे सकते!