उत्तर प्रदेश राज्य

कानपुर में तापमान का उतार-चढ़ाव सेहत पर भारी पड़ रहा है, हार्ट अटैक से दो, ब्रेन अटैक से एक और निमोनिया से दो रोगियों की मौत!

कानपुर में तापमान का उतार-चढ़ाव लोगों की सेहत पर भारी पड़ रहा है। लोगों का ब्लड प्रेशर अचानक बढ़ जा रहा है। इससे हार्ट अटैक और ब्रेन अटैक के रोगी बढ़ रहे हैं। वायरल संक्रमण फैलने के कारण लोगों को निमोनिया हो जा रहा है। बुधवार को हार्ट अटैक से दो, ब्रेन अटैक से एक और निमोनिया से दो रोगियों की मौत हुई है।

हैलट इमरजेंसी में ब्रेन अटैक के पांच रोगी भर्ती हुए हैं। कार्डियोलॉजी की इमरजेंसी में 25 रोगियों को भर्ती किया गया। कार्डियोलॉजी की इमरजेंसी में हार्ट अटैक के दो रोगी मृतावस्था में लाए गए। रोगियों की तबियत अचानक बिगड़ी, बेहोश होकर गिरे और मौत हो गई।

कार्डियोलॉजी की ओपीडी में आए कई रोगी ऐसे आए जिन्हें जाड़े के पहले ब्लडप्रेशर की दिक्कत नहीं थी। उनका ब्लडप्रेशर अचानक बढ़ गया। चकेरी के रहने वाले रामदेव (47) की ब्रेन अटैक से मौत हुई। परिजन उन्हें लालबंगला के एक अस्पताल ले गए थे, जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
निमोनिया से दो रोगियों की मौत हुई थी। ये सीओपीडी के रोगी थे। चेस्ट हॉस्पिटल में ओपीडी स्तर पर इनका इलाज चल रहा था। जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के मेडिसिन विभाग के सीनियर फिजीशियन डॉ. बीपी प्रियदर्शी ने बताया कि जाड़े में धमनियों और नसों में सिकुड़न आने से खून का थक्का जम जाता है।

इन बातों का रखें ध्यान
30 साल से अधिक उम्र के लोग ब्लडप्रेशर चेक करा लें।
दवाओं से बीपी नियंत्रित न हो रहा हो तो खुराक दुरु स्त कराएं।
खानपान दुरुस्त रखें, गरिष्ठ भोजन न करें।
गर्म कमरे से अचानक बाहर ठंड में न आएं।
सुबह-शाम बाहर निकलें तो ढंग से गर्म कपड़े पहने रहें।

Shehla J
@Shehl
·
जबलपुर में एक गुरू कृपा नाम के होटल में काम करते करते एक कर्मचारी की मौत
होटल में काम करने वाला शख्स टेबल पर सिर रखकर सो गया और फिर कभी उठा ही नहीं।
माना जा रहा है कि हार्ट अटैक से चिंटू की मौत हुई है।