देश

कैथल : पुलिस अधीक्षक मक़सूद अहमद के मार्गदर्शन में ज़िला पुलिस ने साईबर अपराध से लोगों को जागरूक किया : रवि जैस्ट की रिपोर्ट

Ravi Press
===========
साईबर अपराध जागरूकता पुलिस ने लोगों को किया जागरूक।*
*साईबर अपराधों से बचाव उनकी पहचान व साईबर ठगों के तरीकों के बारे में जानकारी देकर जागरूक किया गया।*
*साईबर अपराध का शिकार होने पर अपना शिकायत तुरन्त साईबर अपराध की हेल्पलाइन नंबर 1930 पर देना सुनिश्चित करने के बारे में भी बताया गया।*

पुलिस प्रवक्ता कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिला पुलिस अधीक्षक श्री मकसूद अहमद आईपीएस के कुशल मार्गदर्शन में जिला पुलिस की विभिन्न टीमें आमजन को साइबर जागरूकता के लिए चलाए जा रहे इस विशेष अभियान पर लगातार कार्य कर रही है। इसी कड़ी में आज महिला थाना एसएचओ निरीक्षक नन्ही के नेतृत्व में टीम ने दशहरा के अवसर पर कैथल में चंदाना गेट पर साइबर जागरूकता अभियान चलाया। टीम द्वारा लोगों को साईबर अपराधी किस प्रकार से साईबर अटैक करके लोगों को अपना शिकार बनाते है तथा उन्हें मानसिक, आर्थिक व सामाजिक नुकसान पहुँचाते है के बारे में जानकारी देकर इन अपराधों से कैसे बचाव करें इत्यादि के बारे में बताकर जागरूक किया गया व साईबर अपराध का शिकार होने पर अपना शिकायत तुरन्त साईबर अपराध की हेल्पलाइन नंबर 1930 पर देना सुनिश्चित करने के बारे में भी बताया गया।

इस अवसर पर आमजन को संबोधित करते हुए निरीक्षक नन्ही ने कहा की आधुनिकता के युग में आज हर क्षेत्र का डिजिटलीकरण हो गया है ।जिसके कारण आम नागरिकों को जहाँ इस कारण बहुत लाभ हुआ है वही अपराधी किस्म के लोग इसमें सेंध लगाकर साइबर क्राइम कर आम जनता के साथ रोज नित नए तरीके अपनाकर फ्रांड़ कर रहे हैं । इन्हें रोकने के लिए हम सबको मिलकर सांझे प्रयास करने होंगे । उन्होनें आमजन से भी अपील की, कि वे किसी भी प्रकार से प्राप्त हुए लिंक को ना खोले और किसी भी फोन कॉल, संदेश, ईमेल इत्यादि पर दिए गए प्रलोभन या विश्वास में आकर अपनी कोई भी निजी जानकारी किसी के साथ सांझा ना करे । उन्होनें बताया की आपकी सहायता करने के लिए आपको यदि कोई बैंक, बिजली निगम, टेलीफोन एक्सचेंज, आयकर या किसी भी विभाग का कर्मचारी बताकर आपसे कोई जानकारी मांगता है तो आप उसे अपनी कोई भी जानकारी ना दें । उन्होनें बताया कि साइबर ठगों के निशाने पर हर वह आदमी है, जो किसी भी डिजिटल माध्यम से जुड़ा है फिर चाहे वह इंटरनेट मीडिया हो या फिर इंटरनेट बैंकिंग । बदलते वक्त के साथ साइबर ठगों ने अपने पैंतरे भी बदले है