देश

कैथल, हरियाणा की सत्तारूढ़ भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार के राज में महिलाएं असुरक्षित हैं : सोनिया दूहन

Ravi Press
==============
मनोहर सरकार के राज में महिलाएं असुरक्षित : युवा नेत्री सोनिया दूहन
कैथल
19 फरवरी
( रवि प्रेस )
को संदीप सिंह के खिलाफ कैथल में होगी महापंचायत
युवा नेत्री ने गावों का किया दौरा
कैथल। गणतंत्र दिवस पर हरियाणा के पूर्व खेल मंत्री संदीप सिंह का विरोध करने वाली युवा नेत्री सोनिया दूहन ने कहा है कि हरियाणा की सत्तारूढ़ भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार महिलाओं को सुरक्षा प्रदान करने के मामले में बुरी तरह से फेल साबित हुई है।

सोनिया दूहन आगामी 19 फरवरी को हरियाणा के पूर्व खेल मंत्री संदीप सिंह के विरोध में होने वाली महापंचायत के संबंध में आज यहां पत्रकारों से बातचीत कर रही थी। सोनिया दूहन ने आज महापंचायत में शामिल होने के लिए गांव चंदाना, कैलरम, चौशाला, जुलानी खेड़ा, बालू, सौगरी, गुल्याणा, किठाना, पेगा, खेड़ी बुला, रेहड़ा माजरा समेत कई गावों का दौरा करके लोगों को महापंचायत में शामिल होने का निमंत्रण दिया।

इससे पहले पत्रकारों से बातचीत में दूहन ने कहा कि चंडीगढ़ पुलिस ने संदीप सिंह के खिलाफ 31 दिसंबर को मामला दर्ज किया था। गैरजमानती धाराओं के तहत मामला दर्ज किए जाने के बावजूद आजतक संदीप सिंह की गिरफ्तारी नहीं हुई है। संदीप सिंह खुलेआम कार्यक्रमों में भाग ले रहा है। सोनिया दूहन ने कहा कि 26 जनवरी को उन्होंने जब पिहोवा में जाकर संदीप सिंह को झंडा फहराने से रोका तो उनके साथ भी संदीप सिंह के गुंड़ों ने अभद्र व्यवहार किया है।
दूहन ने कहा कि हरियाणा में आज महिलाएं तथा लड़कियां असुरक्षित महसूस कर रही हैं। चाहे वह महेंद्रगढ़ या करनाल के कल्पना चावला कालेज की घटना क्यों न हो। मुख्यमंत्री मनोहर लाल संदीप सिंह तथा अन्य आरोपियों को बचाने में जुटे हुए हैं। हरियाणा की महिला खिलाडिय़ों को इंसाफ दिए बगैर ही शांत करवा दिया गया। यह किसी बड़ी साजिश का हिस्सा है।

सोनिया दूहन ने कहा कि महिला उत्पीडऩ की घटनाओं के विरोध में वह पूरे हरियाणा का दौरा करेंगी। 19 फरवरी को कैथल में होने वाली महापंचायत के दौरान संदीप सिंह के विरोध में बड़ा फैसला लिया जाएगा। उन्होंने कहा कि वह तथा अन्य नेता महापंचायत के लिए कैथल के गांवों में लगातार दौरा करके लोगों को हरियाणा सरकार की बेकायदगियों के बारे में बता रहे हैं। इस अवसर पर किसान नेता सुनील गोयत समेत कई गणमान्य मौजूद थे।