दुनिया

कैसे बदल गया तेलअवीव का माहौल!

फ़िलिस्तीन की मज़लूम जनता पर हर दिन मौत के रूप में बम बरसाने, गोली चलाने और मीसाइल दाग़ने वाला आतंकी अवैध ज़ायोनी शासन आज अपने ही लोगों को सुरक्षा प्रदान करने में पूरी तरह नाकाम नज़र आ रहा है।

प्राप्त रिपोर्ट के मुताबिक़, फ़िलिस्तीनी जनता की ज़मीनों पर अवैध तरीक़े से क़ब्ज़ा करके बनाई गई ग़ैर-क़ानूनी कॉलोनियों में रहने वाले निवासी वर्तमान स्थिति से बहुत भयभीत हो गए हैं, जिसके परिणामस्वरूप वे हर क़ीमत पर अवैध अधिकृत क्षेत्रों से भागने की कोशिश कर रहे हैं। इस बीच यह भी सूचना सामने आ रही है कि फ़िलिस्तीन के अवैध क़ब्ज़े वाले इलाक़ों में रहने वाले ज़ायोनी बड़ी संख्या में दूसरे देशों की नागरिकता हासिल करने का प्रयास कर रहे हैं। ऐसी रिपोर्टें हैं कि आतंकी ज़ायोनी शासन के प्रधानमंत्री नेतन्याहू की कट्टरपंथी नीतियों और उसके जवाब में फ़िलिस्तीनी निवासियों की प्रतिरोधक कार्यवाहियों ने अवैध अधिकृत क्षेत्रों से ज़ायोनियों के पलायन को गति दी है।

अवैध ज़ायोनी शासन के विकास केंद्र के प्रमुख लव बेकमैन ने भी कहा है कि ज़ायोनी नागरिकों में दूसरे देशों के पासपोर्ट को प्राप्त करने के लिए होड़ सी लगी हुई है, उनमें से ज़्यादातर लोगों का मानना है कि अवैध अधिकृत फ़िलिस्तीन अब उनके लिए सुरक्षित स्थान नहीं रह गया है। इस बीच अवैध अधिकृत फ़िलिस्तीन में ज़ायोनी प्रधानमंत्री नेतन्याहू के ख़िलाफ़ विशाल प्रदर्शन हर दिन व्यापक होते जा रहे हैं। हज़ारों ज़ायोनी प्रदर्शनकारियों ने ज़ायोनी सरकार के प्रधान मंत्री नेतन्याहू के मंत्रिमंडल की योजनाओं और अवैध अधिकृत फ़िलिस्तीन में न्यायपालिका के सुधार को भी खारिज कर दिया है। नेतन्याहू की कैबिनेट की योजनाओं और अधिकृत फ़िलिस्तीनी न्यायपालिका में सुधार के प्रति अपना विरोध व्यक्त करने के लिए हज़ारों ज़ायोनी हाइफ़ा, तेल अवीव और अधिकृत बैतुल मुक़द्दस शहर में एकत्रित हुए हैं।