देश

कोर्ट को स्वतः संज्ञान लेकर उस पति को दण्डित करे जिसने अपनी पत्नी को न छोड़ा है न रखा है : रिपोर्ट

भारत जोड़ो यात्रा के दौरान कुछ महिलाओं ने राहुल गाँधी से मिल कर अपने साथ हुए यौन उत्पीड़न के बारे में बताया था, जिस को लेकर दिल्ली पुलिस जानकारी हासिल करने के लिए दिल्ली में राहुल गाँधी के आवास पर पहुँच गयी, पुलिस की भारी तादाद देख कर लग रहा था कि जैसे पुलिस राहुल गाँधी को गिरफ्तार करने आयी हो, दिल्ली पुलिस की तत्परता देख कर लग रहा था कि केंद्र सरकार अडानी मामले में घिरी हुई है और वो राहुल गाँधी पर दबाव बनाने के लिए हथकंडे अपना रही है, वैसे पुलिस और कोर्ट स्वतः संज्ञान लेकर उस पति को दण्डित करे जिसने अपनी पत्नी को न छोड़ा है न रखा है

कांग्रेस सांसद राहुल गांधी ने रविवार (19 मार्च) को ‘महिलाओं के यौन उत्पीड़न’ पर अपने भारत जोड़ो यात्रा भाषण के संबंध में दिल्ली पुलिस के नोटिस का जवाब दिया है. पीटीआई के सूत्रों के अनुसार दिल्ली पुलिस (Delhi Police) के नोटिस पर राहुल गांधी ने 4 पेज का जवाब भेजा है. इसमें राहुल गांधी ने भाषण के 45 दिन बाद पुलिस की ओर से अपनाई गई प्रक्रिया पर सवाल खड़ा किया है.

दिल्ली पुलिस के नोटिस के जवाब में राहुल गांधी ने कहा कि ये कार्रवाई अभूतपूर्व है. उन्हें उम्मीद है कि इस पुलिस कार्रवाई का अडानी मामले सहित विभिन्न मुद्दों पर संसद और बाहर उनके स्टैंड से कोई लेना-देना नहीं है. राहुल गांधी ने दिल्ली पुलिस के नोटिस के प्रारंभिक जवाब में ज्यादा जानकारी देने के लिए 8-10 दिन मांगे. दिल्ली पुलिस ने कहा कि राहुल गांधी की ओर से प्रारंभिक जवाब मिला है, लेकिन उनकी ओर से कोई जानकारी साझा नहीं की गई है जो जांच को आगे बढ़ा सके.

दिल्ली पुलिस गई थी राहुल गांधी के आवास पर

इससे पहले रविवार को दिन में दिल्ली पुलिस की टीम महिलाओं के यौन उत्पीड़न के बयान के संबंध में राहुल गांधी की ओर से की गई टिप्पणी को लेकर बात करने के लिए उनके आवास पर पहुंची थी. दिल्ली के स्पेशल सीपी (एल एंड ओ) सागर प्रीत हुड्डा ने कहा कि दिल्ली पुलिस की टीम भारत जोड़ो यात्रा के दौरान की गई उनकी महिलाओं का अब भी यौन उत्पीड़न वाली टिप्पणी को लेकर जारी नोटिस के सिलसिले में आवास पर पहुंची. ये मामला गंभीर है और हम पीड़ितों के बारे में अधिक जानकारी प्राप्त करने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने बताया कि राहुल गांधी ने कहा है कि वह जितनी जल्दी हो सके सभी आवश्यक जानकारी साझा करेंगे.

क्या कहना है पुलिस का?

दरअसल, दिल्ली पुलिस ने सोशल मीडिया पोस्ट का संज्ञान लेते हुए कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को एक प्रश्नावली भेजी थी और उनसे यौन उत्पीड़न की शिकायत को लेकर संपर्क करने वाली महिलाओं के बारे में जानकारी देने को कहा था. पुलिस के मुताबिक, राहुल गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा के श्रीनगर फेज के दौरान बयान दिया था कि मैंने सुना है कि महिलाओं का अब भी यौन उत्पीड़न हो रहा है. अधिकारियों ने बताया कि पुलिस ने कांग्रेस नेता से इन पीड़ितों का विवरण देने को कहा था, ताकि उन्हें सुरक्षा मुहैया कराई जा सके.