दुनिया

क्या तुम यह चाहते है कि हमारी लाशें वापस आएं : नेतनयाहू को इस्राईली क़ैदियों का संदेश!

फ़िलिस्तीनी रेज़िस्टेंस फ़ोर्स के पास मौजूद इस्राईली कैदियों ने ज़ायोनी प्रधानमंत्री बिनयामिन नेतनयाहू के लिए एक वीडिया संदेश जारी करके पूछा है कि क्या तुम यह चाहते है कि हमारी लाशें वापस आएं?

जेहादे इस्लामी संगठन की सैनिक शाखा क़ुद्स फ़ोर्स के पास मौजूद दो इस्राईलियों ने यह संदेश जारी किया है जिसमें इस्राईल की युद्ध कैबिनेट को चेतावनी दी गई है कि ज़ायोनी सेना के आप्रेशन की वजह से क़ैदियों की जानें ख़तरे में हैं और यह महसूस हो रहा है कि इस्राईली सरकारी हमें जीवित वापस नहीं आने देना चाहती।

एक क़ैदी ने जिसका नाम गादी मोज़ेस है कहा कि हमें हर क्षण मौत का ख़तरा है और हम इस्राईली सेना की बमबारी के नतीजे में मारे जा सकते हैं और हमें यह लगने लगा है कि इस्राईली सरकार हमारी वापसी चाहती ही नहीं।

मोज़ेस ने अपने मित्रों और समर्थकों से अपील की है कि वे सरकार पर दबाव डालें ताकि वे क़ैदियों की रिहाई के लिए अधिक प्रयास करे।

दूसरे क़ैदी ने जिसका नाम इलआद कत्सीर है कहा कि इस्राईली सेना के मिसाइलों की वजह से हम गंभीर ख़तरे में हैं, हमें अपने घर की याद आ रही है, हम जीवित वापस आना चाहते हैं।

कत्सीर ने नेतनयाहू सरकार से मांग की कि संघर्ष विराम और क़ैदियों की रिहाई के लिए जो भी ज़रूरी हो वह करे, हम ग़ज़ा में मरना नहीं चाहते, हमारी ज़िंदगी ख़तरे में है।