देश

जय शाह पर अर्जुन रणतुंगा की टिप्पणी के बाद श्रीलंका के राष्ट्रपति ने शाह को फोन करके खेद जताया!

बीसीसीआई के सचिव जय शाह पर अर्जुन रणतुंगा की टिप्पणी के बाद ख़बर है कि श्रीलंका के राष्ट्रपति रनिल विक्रमसिंघे ने शाह को फोन करके खेद जताया है.

श्रीलंका के सबसे बड़े न्यूज़ एग्रीगेटर ‘न्यूज़वायर’ और वहां की जानी मानी न्यूज़ वेबसाइट ‘कोलंबो गज़ट’ ने एक ख़बर में यह जानकारी दी है.

इनके अनुसार, देश के पर्यटन मंत्री हरिन फर्नान्डो और ऊर्जा मंत्री कंचना विजशेखरा ने श्रीलंका की संसद को बताया है कि राष्ट्रपति विक्रमसिंघे ने गुरुवार को इस विवाद पर बातचीत करने के लिए जय शाह को फोन किया था.

हरिन फर्नान्डो ने कहा कि श्रीलंका क्रिकेट का संकट भारत को शामिल करके कूटनीतिक मामले में बदल गया है.

वहीं कंचना विजशेखरा ने सोशल मीडिया साइट ​’एक्स’ से किए एक पोस्ट में कहा कि अपनी संस्थाओं की कमी के लिए हम एशियाई क्रिकेट काउंसिल के चेयरमैन या दूसरे देशों पर उंगली नहीं उठा सकते. ऐसा करना ग़लत है.

इससे पहले, 1996 में श्रीलंका की विश्व विजेता बनाने वाली टीम के कप्तान और फिर नेता बने अर्जुन रणतुंगा ने कहा था कि श्रीलंका के क्रिकेट को जय शाह ‘चला’ और ‘बर्बाद’ कर रहे हैं.

रणतुंगा का बयान भारत में चल रहे विश्व कप में श्रीलंका की टीम के ख़राब प्रदर्शन के बाद आया था.

टीम के ख़राब प्रदर्शन के बाद श्रीलंका की संसद ने क्रिकेट बोर्ड की गवर्निंग बॉडी को बर्ख़ास्त करने की मांग की. उसके बाद सरकार ने श्रीलंका क्रिकेट की गवर्निंग बॉडी को भंग कर दिया.

आईसीसी ने सरकार की इस कार्रवाई को बोर्ड के प्रशासन में दख़ल मानते हुए श्रीलंका क्रिकेट बोर्ड की सदस्यता निलंबित कर दी.