दुनिया

तीन बड़ी ख़बरें फ़िलिस्तीन से : फ़िलिस्तीनियों का हमला जारी, कम से कम 6 ज़ायोनी ढेर : रिपोर्ट

https://youtu.be/WjZ8ixYvRGg

फ़िलिस्तीनियों ने इस्राईल पर कर दिया हमला

फ़िलिस्तीन के हमास संगठन की सैनिक शाखा क़स्साम ब्रिगेड के विख्यात कमांडर मुहम्मद ज़ैफ़ ने एलान कर दिया है कि अलअक़सा तूफ़ान नाम से सैनिक आप्रेशन की शुरूआत कर दी गई है।

उन्होंने कहा कि यह समय कि प्रतिरोध करने वाले सारे संगठन एकजुट हो जाएं, जिसके भी हाथ में कोई हथियार है बाहर निकले और क़ाबिज़ इस्राईल के ख़िलाफ़ प्रतिरोध करे।

मुहम्मद ज़ैफ़ ने इस्लामी देशों से भी अपील की कि मस्जिदुल अक़सा की तरफ़ आगे बढ़ें, एडवेंचर का ज़माना बीत गया अब समय आ गया है कि क़ाबिज़ ताक़तों को झाड़ू लगाकर फ़िलिस्तीन से बाहर निकाल दें।

हमास के कमांडर का कहना था कि अलअक़सा तूफ़ान आप्रेशन के पहले चरण में 5000 मिसाइल इस्राईल के हवाई अड्डों और अन्य प्रतिष्ठानों पर फ़ायर करने का फ़ैसला किया गया। हमने पक्का फ़ैसला कर लिया है कि ज़ायोनी शासन के सारे अपराधों का हम जवाब देंगे।

मुहम्मद ज़ैफ़ ने कहा कि ज़ायोनी शासन को मालूम होना चाहिए कि मारो और भाग लो वाला ज़माना उसके लिए अब गुज़र चुका है।

रिपोर्टें बताती हैं कि फ़िलिस्तीनी संघर्षकर्ताओं ने एक बड़ी सफलता हासिल करते हुए ग़ज़्ज़ा पट्टी के क़रीब स्थित ग़ैर क़ानूनी ज़ायोनी बस्तियों में से एक बस्ती में प्रवेश किया। जबकि दूसरी तरफ़ ज़ायोनी सूत्रों ने भी बताया है कि तेल अबीब में एक सरकारी इमारत की दीवार पर एक मिसाइल आकर लगा है और इमारत को आग लग गई।

ग़ज़्ज़ा पट्टी के पास जिस बस्ती में फ़िलिस्तीनी संघर्षकर्ता घुसे हैं वहां एक ज़ायोनी मारा गया है।

इन घटनाओं से इस्राईल के भीतर तहलका मचा हुआ है और मीडिया में ज़ायोनी सरकार की क्षमताओं पर गंभीर सवाल उठा रहा है।

फ़िलिस्तीनियों का हमला जारी, कई ज़ायोनी ढेर

इस्राईल टाइम्स ने हमले में घायल हुए लोगों की हालत को बहुत चिंताजनक बताया है।

फ़िलिस्तीनियों के अलअक़सा तूफ़ान हमले में कम से कम 6 ज़ायोनी मारे गए हैं।

इस्राईल के संचार माध्यमों के अनुसार शनिवार को फ़िलिस्तीन के प्रतिरोधकर्ताओं की ओर से ज़ायोनी शासन में की गई कार्यवाही में कम से कम 6 ज़ायोनी मारे गए। इस हमले मे अबतक 300 से अधिक ज़ायोनी घायल बताए जा रहे हैं। इस्राईल टाइम्स के अनुसार घायलों में कई की हालत बहुत चिंताजनक है।

रिपोर्ट के अनुसार फ़िलिस्तीनियों ने हमला करके ज़ायोनियों की “नेहालऊज़” कालोनी को अपने नियंत्रण में ले लिया है। फ़िलिस्तीनियों ने ज़ायोनी शासन के दक्षिणी क्षेत्र में इस्राईल के कुछ युद्धक विमानों एफ-16 भी अपने क़ब्ज़े में ले लिए हैं। कुछ सूत्रों का कहना है कि उनको ग़ज़्ज़ा स्थानांतरित कर दिया गया है।

इस्राईल के चैनेल-13 की रिपोर्ट में बताया गया है कि हमास की ओर से आज किये जाने वाला हमला सन 2008 के बाद से अबतक का अभूतपूर्व हमला है जिमसें हमास की ओर से ज़ायोनी शासन पर 5 हज़ार से अधिक मिसाइल और राकेट बरसाए गए हैं। इसी बीच ज़ायोनी सूत्रों ने बताया है कि तेलअवीव में एक सरकारी इमारत की दीवार पर मिसाइल आकर लगा है जिससे इमारत को आग लग गई।


फ़िलिस्तीनी प्रतिरोध के साथ हम संपर्क में हैः हिज़बुल्ला

अवैध ज़ायोनी शासन के भीतर घुसकर फ़िलिस्तीनियों के आपरेशन पर हिज़बु्ल्ला ने प्रतिरोधकर्ताओं को बधाई दी है।

लेबनान के प्रतिरोध आन्दोलन हिज़बुल्ला का कहना है कि वह फ़िलिस्तीन के प्रतिरोधकर्ताओं के नेताओं के साथ संपर्क में है।

शनिवार को हिज़बुल्ला की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि अलअक़सा तूफान नामक फ़िलिस्तीनियों का अभियान, फ़िलिस्तीनियों के विरुद्ध अवैध ज़ायोनी शासन के अत्याचारों का जवाब है। हिज़बुल्ला के अनुसार फ़िलिस्तीनियों का यह हमला, पूरे अरब जगत, इस्लामी जगत तथा ज़ायोनी शासन के साथ संबन्ध सामान्य करने वाले देशों के साथ ही पूरी दुनिया के लिए एक खुला संदेश है।

लेबनान के इस्लामी प्रतिरोध आन्दोलन ने विश्व के सभी स्वतंत्रता प्रेमियों से फ़िलिस्तीनियों के प्रतिरोध का साथ देन की मांग की है। हम पूरे घटनाक्रम पर बहुत ही नज़दीक से नज़र रखे हुए हैं। हिज़बुल्ला, फ़िलिस्तीन के भीतर और बाहर दोनो स्थानों पर प्रतिरोधकर्ताओं के साथ सीधे संपर्क में है।

उल्लेखनीय है कि फ़िलिस्तीन के प्रतिरोधकर्ताओं ने आज 7 अक्तूबर को अवैध ज़ायोनी शासन के भीतर घुसकर उसके विरुद्ध अलअक़सा तूफ़ान नामक एक आपरेशन शुरू किया जिसके अंतर्रगत, हज़ारों मिसाइल और राकेट फाएर किये।