विशेष

दुनिया की सबसे आकर्षक महिला ने एक महल का निर्माण किया

सुलैमान के नीतिवचनों से बुद्धि
===============
नीतिवचन 9:1
बुद्धि ने अपना घर बनाया है, उसने अपने सात खम्बे गढ़े हैं।
दुनिया की सबसे आकर्षक महिला ने एक महल का निर्माण किया है, और आपको अपने शेष जीवन के लिए वहां रहने के लिए आमंत्रित किया जा रहा है। यह हर जरूरत के लिए मंगलमय सुख-सुविधाओं और हर खतरे से पूरी-पूरी सुरक्षा के साथ रहने के लिए उपयुक्त स्थान है। कहीं और रहने का चुनाव क्यों करें?

सुलैमान के नीतिवचन सुंदर और शक्तिशाली भाषा का प्रयोग करते हैं। यहाँ भाषालंकार प्रयुक्त किया गया है जिसे व्यक्तित्वकरण कहा जाता है, जहाँ बुद्धि नामक अमूर्त चीज़ को एक महान महिला के रूप में प्रस्तुत किया गया है जो पुरुषों को अपनी मित्रता का सुअवसर प्रस्तुत कर रही है, ताकि उन्हें सुरक्षा और सफलता दे। नीतिवचन 8:1 पर टिका देखें।

स्टैच्यू ऑफ़ लिबर्टी को 1886 में न्यूयॉर्क बंदरगाह में जनता को समर्पित किया गया था। लाखों अप्रवासी इस नज़ारे गवाह बने थे, और लाखों लोगों ने स्वतंत्रता की इस रोमी देवी लिबर्टा की छवि को संयुक्त राज्य अमेरिका में स्वतंत्रता और अवसर का एक अनमोल प्रतीक माना है।

लेकिन अगर सच कहा जाए, तो कुलीन महिला बुद्धि, जिसके विषय में यह नीतिवचन वर्णन कर रहा है, संयुक्त राज्य अमेरिका की तुलना में कहीं अधिक मूल्यवान लाभ प्रदान करती है। यहां तक कि जब अमेरिका आज की तुलना में अधिक महान हुआ करती थी, तब भी उसमें बहुत मूर्खता थी, जब कि बुद्धि का कभी ऐसा हाल नहीं हुआ।

आप समृद्धि और सुरक्षा के लिए बुद्धि कहाँ से प्राप्त कर सकते हैं? देश के संविधान से नहीं, बल्कि परमेश्वर यहोवा और प्रभु मसीह के लिखित शास्त्रों से। हमारी बाइबल समय और आनेवाले अनंत काल के लिए सभी बुद्धि प्रदान करने वाली एक आदर्श दिव्य पुस्तकालय है। लेकिन आपको इससे तभी फायदा हो सकता है जब इसे पढ़ते हैं, और उनसे सीखने हैं जिन्हें परमेश्वर ने इसका प्रचार करने के लिए आपके पास भेजा है।

बुद्धि ने एक घर बनाया है – एक विशाल घर जिसमें कई लोग समा सकते हैं – उसे आप एक महल समझ सकते हैं। वहां आप समृद्धि और आनंद से भरा एक सुरक्षित और लंबा जीवन जी सकते हैं, क्योंकि उसने आपकी आवश्यकताओं और इच्छाओं को पूरा करने के लिए हर सुविधा तैयार की है। यह वह स्वर्ग है जिसकी आपको तलाश है।

उसके घर बहुत से कमरे उपलब्ध हैं, और वह मेहमानों को पुकारती है (नीत 1:20-21; 8:1-4)। उसमे प्रवेश करने के लिए आपको केवल मूर्ख होना है और बुद्धिमान बनने की इच्छा रखनी है (नीत 9:4-5)! आपको कोई कीमत नहीं देनी है (यशा 55:1-3); उसके घर से आपको तब तक बिलकुल ही छुट्टी नहीं दी जाएगी जब तक आप उसके साथ अपनी मित्रता नहीं छोड़ना चाहते।

इस आलिशान होटल को सात सुंदर स्तंभों द्वारा आधार देकर उसे सजाया गया है, जो बुद्धि की चिरस्थायी परिपूर्णता हैं। सात परमेश्वर और बुद्धि की सिद्ध संख्या है (उत्पत्ति 2:1-3)। तुम्हें क्षय की चिन्ता करने की आवश्यकता नहीं, क्योंकि उसे सनातनकाल से ही स्थापित किया गया है (नीतिवचन 8:23)। उसका मूल्य जाने!

प्रिय पाठक, आपको चुनाव करना होगा। क्या आप इस घर में अपना बाकी का जीवन व्यतीत करेंगे? या सड़क के मूर्ख लोग आपको आकर्षित करते हैं (नीतिवचन 1:10-19; 9:6)? क्या वह पराई स्त्री जो अपने द्वार पर बैठी है, आपको उसके साथ रहने के लिए फुंसला रही है (नीत 7:8; 9:13-17)? नीतिवचन 9:15 पर टिका देखें।

अधिकांश लोग महिला-बुद्धि के इस शानदार महल के पास से गुजरते हैं, परन्तु उसमे अपनी कोई दिलचस्पी नहीं दिखाते, क्योंकि वे अपने शरीर, और आँखों की वासनाओं, और जीवन के घमण्ड से मोहित हैं (1 यूहन्ना 2: 15-17)। वे बुद्धि नहीं चाहते, क्योंकि वे इस संसार की मूर्खता और अपने स्वार्थी विचारों से प्रेम करते हैं।

बुद्धि का महल अज्ञानी और भ्रष्ट दिमागों वाले लोगों को उबाऊ लगता है। परन्तु जो लोग इसमें प्रवेश करते हैं और दी हुई सुख-सुविधाओं में भाग लेते हैं, वे सभी बहुमूल्य पदार्थ, आनंद और दीर्घ जीवन पाएंगे (नीतिवचन 3:13-18; 8:11,18-21)। आपके लिए उसकी तैयारियों को ध्यान से देखे (नीत 9:2-5)!

उसके निमंत्रण की उपेक्षा मत करो। कमरे निःशुल्क हैं, लेकिन उन्हें ठुकराना बहुत महंगा पड़ सकता है। यदि आप शांति और समृद्धि के उसके मुफ्त प्रस्ताव को अस्वीकार करते हैं, तो वह आपके मूर्ख हृदय को विपत्तियों और संकटों के द्वारा दंड देगी। वह भय और आतंक के साथ आपका नाश कर डालेगी (नीत 1:24-32)। वह आपकी शत्रु बन जाएगी और आपके जीवन को दु:ख और पीड़ा से उलट-पुलट कर देगी।
जो कोई मनुष्य कुलीन है वह अपने आप को दीन करेगा, स्वर्ग की ओर कृतज्ञ धन्यवाद की पुकार को ऊँचा उठाएगा, और आज ही इस महल की ओर दौड़ेगा। वह सूचना काउंटर और द्वारपाल का उपयोग हर उस अवसर और सुख-सुविधाओं का पता लगाने के लिए करेगा जिसका प्रस्ताव बुद्धि ने उसके सामने रखा है, और वह एक निरोगी और सुखी जीवन में स्थायी रूप से बने रहने के लिए आवश्यक इस महल के नियमों का पालन करने के लिए पूरी लगन के साथ खुद को समर्पित करेगा। इस कुलीन महिला बुद्धि को अपना जोश दिखाएं!

इस महिला-बुद्धि का घर बुद्धि का स्थान है। यह ज्ञान और उपदेश का स्रोत है। नीतिवचन और शेष पवित्रशास्त्र में बताए गए बुद्धि और ज्ञान के मार्ग को चुनकर आप उसके घर में प्रवेश करने का चुनाव करते हैं। और उसे आप तब अस्वीकार करते हैं जब आप अपने ही विचारों और दुनिया के विचारों का पालन करते हैं। यह एक आसान चुनाव होना चाहिए, लेकिन अधिकांश लोग नरक के लिए चौड़ा रास्ता अपनाएंगे।
प्रिय मसीही, प्रभु यीशु मसीह ने अपना घर, अर्थात् कलिसियाँ और जीवित परमेश्वर का मंदिर बनाया (मत्ती 16:18), जहां पवित्र आत्मा अपने लोगों के विश्राम और सफलता के लिए रहता है (इफि 2:19-22; 1तीमुथियुस 3 :15)। विश्वास से भरे हुए शुद्ध हृदय से उसमें प्रवेश करके, आप स्वर्ग में उस अनन्त घर में शामिल हो जाते हैं, जो धर्मी मनुष्यों और स्वर्गदूतों की आत्माओं से भरा हुआ है (इब्रानियों 12:22-24)।

क्या आप उन लोगों के उत्साह में होकर उसके घर में प्रवेश कर रहे हैं, जिन्होंने यूहन्ना बपतिस्मा देने वाले और यीशु के वचनों को सुना? उन्होंने बलपूर्वक परमेश्वर के राज्य में प्रवेश किया (मत्ती 11:12-13; लूका 16:16)। वे जानते थे कि उनकी मूर्खता के लिए उन्हें उसके सामने विनम्र पश्चाताप में तोड़ा जाना बेहतर था बजाए इसके कि वह उनके ढीठ विद्रोह के कारण उन्हें पीसकर चूर-चूर कर दे (मत्ती 21:43-45)।

क्या उसका घर इतना महत्वपूर्ण है कि आप कहीं और रहने के बजाय वहाँ एक द्वारपाल बनना पसंद करेंगे (भजन 84:10)? क्या यह आपके बड़े आनन्द से भी बढ़कर है (भजन 137:5-6)? क्या जीवन भर यहोवा के भवन में रहने की लालसा ही आपकी एक ही बड़ी लालसा है (भजन 27:4)? यह होना ही चाहिए।