देश

नेपाल के एकमात्र मुस्लिम मंत्री अब्दुल ख़ान ने भारतीय मुसलमानों और उनके हालात के बारे में कहा…..!!!

नेपाल के एक मात्र मुस्लिम मंत्री अब्दुल ख़ान का कहना है कि नेपाल की जनता में राजनैतिक चेतना ज़्यादा है और इतने मुस्लिम होने के बावजूद अगर भारत में कोई मंत्री नहीं बन पा रहा है, तो इसका मतलब यही है कि उनमें राजनीतिक चेतना का अभाव है या यह भी हो सकता है कि उनको वहाँ बनने नहीं दिया जा रहा है।

बीबीसी में छपी रिपोर्ट के अनुसार उन्होंने कहा कि नेपाल छोटा देश है, लेकिन कई तरह के आंदोलन जारी रहते हैं इसलिए लोग राजनीति को लेकर ज़्यादा सजग हैं।

अब्दुल ख़ान कहते हैं कि भारत में अल्पसंख्यकों को लेकर कुछ विवाद होता है, तो नेपाल के मुसलमान सीधे तौर पर प्रभावित होते हैं।

अब्दुल ख़ान का कहना था कि मधेस के मुसलमान सीधा प्रभावित होते हैं, राम मंदिर को लेकर भारत में कुछ होता है, तो नेपाल में तनाव बढ़ जाता है, राम मंदिर को लेकर यहाँ के लोग भी संगठित होने लगते हैं, यहाँ भी बहस चलने लगती है कि मुस्लिम बहुत हावी हो रहे हैं और राम मंदिर के लिए हिन्दुओं को एकजुट होना चाहिए।

उन्होंने हालात के बारे में बताया कि इस प्रकार का मुद्दा उठने पर नेपाली हिंदुओं में भी यह विचार उठने लगता है कि राम मंदिर निर्माण के लिए नेपाल से ईंट और पत्थर जाने चाहिए। उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी को लेकर कहा जाता है कि इंडिया से संचालित है, ऐसे में जनमत पार्टी मज़बूत होगी, तो मुसलमानों के साथ जो भारत में हो रहा है, वही नेपाल में भी होगा, ऐसे में मुस्लिम जनमत पार्टी से जुड़ने पर परहेज़ करते हैं।

अब्दुल ख़ान कहते हैं कि भारत में क्या हो रहा है, इससे उन्हें मतलब नहीं है, लेकिन सबको अपने-अपने धर्म को लेकर आज़ादी मिलनी चाहिए।

ख़ान ने कहा कि मैं यह नहीं कहूँगा कि नेपाल में मुसलमानों का प्रतिनिधित्व बहुत अच्छा है, अगर ऐसा होता तो नेपाल की जो बड़ी पार्टियाँ हैं, ख़ासकर प्रचंड और ओली की पार्टी के साथ नेपाली कांग्रेस में भी मुसलमानों की मौजूदगी होती, लेकिन ऐसा नहीं है, नेपाल की संसद में कुल छह सांसद हैं और वे भी समानुपातिक प्रणाली से हैं।

नेपाल के प्रधानमंत्री पुष्प कमल दाहाल ‘प्रचंड’ की कैबिनेट मुस्लिम मंत्री अब्दुल ख़ान 37 साल के हैं जो मधेस इलाक़े में बर्दिया ज़िले के हैं, यह ज़िला भारत के उत्तर प्रदेश के बहराइच से लगा है।

अब्दुल ख़ान जनमत पार्टी से सांसद हैं, जनमत पार्टी चंद्रकांत राउत की पार्टी है, चंद्रकांत राउत ने इस बार सप्तरी-2 से जनता समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष और नेपाल के पूर्व विदेश मंत्री उपेंद्र यादव को बड़े अंतर से हराया था।

जनमत पार्टी के कुल छह सांसद हैं और उन्होंने प्रचंड को समर्थन दिया है।