विशेष

पत्रकारिता का ये बुरा और संवेदनशील दौर है : सुनक को भारतीय बताकर गर्व करो, सोनिया को विदेशी बताकर शर्म करो, दोग़लापन ऐसे ही बनाये रखो!

Sandeep Singh
@ActivistSandeep
अगर आज राहुल गांधी प्रधानमंत्री होते तो शायद बेरोजगारी महंगाई के मामले पर तुरंत एक्शन लेते जो नरेंद्र मोदी हिंदुत्व के नाम पर बेवकूफ बनाकर नहीं ले पा रहे हैं।

Ramkumar Singh
@indiark

सुनक को भारतीय बताकर गर्व करो, सोनिया को विदेशी बताकर शर्म करो। बेशर्मी और दोगलापन ऐसे ही बनाये रखो..! ब्रिटेन को नया प्रधानमंत्री मुबारक..!!

Shyam Meera Singh
@ShyamMeeraSingh
पहले समझता था सिर्फ़ एंकर ही सरकार के प्रॉपगैंडा को फैलाने के लिए नियुक्त किए हुए हैं लेकिन अभी देखता हूँ ABP न्यूज़, न्यूज़ 18, जी न्यूज़, टाइम्स ग्रुप, इन चैनलों के सामान्य पत्रकार भी नेताओं को टैग कर-करके ख़ुश करने में लगे हुए हैं। पत्रकारिता का ये बुरा और संवेदनशील दौर है।

Gurpreet Garry Walia
@_garrywalia
अंधभक्त ट्विटर स्पेस पर कह रहे थे अब ऋषि भाई आ गया VISA तो एक मिनट में लगेगा

Shakeel Akhtar
@shakeelNBT
अभी हम जब सुषमा स्वराज पर लिख रहे थे तो भक्त लोग नाराज हो गए। तो हम कहना चाहते हैं कि हम उनकी बहुत इज्जत करते हैं।
सुषमा और अरुण जेटली दोनों ही बहुत प्रतिभावान थे। और उनका बेस्ट समय UPA के 10 साल था। जहां दोनों ने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया।
उससे पहले वाजपेयी के शासन में दोनों

Arunoday Vishvakarma
@Vishvakarma09
सूर्य ग्रहण तो 3 घंटे मे हट गया लेकिन भारत में जो अंधजीवियों के दिमाग़ में ग्रहण लगा है वो कब हटेगा.?😄😂

Vinod Kapri
@vinodkapri

जिस ब्रिटेन ने #RishiSunak को प्रधानमंत्री बनाया, वो पूरा का पूरा ब्रिटेन उनमें कहीं से भी हिंदू नहीं ढूँढ रहा है लेकिन सात समंदर पार भारत का एक सांप्रदायिक वर्ग ऋषि में लगातार हिंदू खोजने में लगा है।


President Biden
@POTUS

United States government official
Diwali is a reminder that each of us has the power to dispel darkness and bring light to the world.

It was my pleasure to celebrate this joyous occasion at the White House today.

Dr. Mohammad Ayub
@ppayub
ऋषि सुनक के UK का प्रधानमंत्री होने पर हम भारतीय हर्ष महसूस करते हैं क्योंकि वो भारतीय मूल के हैं।कितना अच्छा होता अगर हम सभी भारतीय दलित और मुसलमान को भी भारत का प्रधानमंत्री बना,एकता और भाईचारे का मिसाल दुनिया को देते।

Shyam Meera Singh
@ShyamMeeraSingh

मेरी किसी दोस्त से दुश्मनी नहीं है। मेरी प्रार्थनाएँ उनके साथ हैं। पर अच्छा नहीं लगता, दो नेता पूरे देश और मीडिया इंडस्ट्री को अपनी लात के नीचे रखते हैं और पूरी मीडिया इंडस्ट्री अपना सर उस पैर के नीचे रखकर सो गई है। इससे भारत का सम्मान नहीं है, भारत का सम्मान जूझने में है।

Shyam Meera Singh
@ShyamMeeraSingh
अयोध्या, बद्रीनाथ, काशी विश्वनाथ मंदिरों में सभी इंसानों की हैसियत बराबरी के दर्जे की है। लेकिन अब जब भी इन जगहों पर त्यौहार आदि कोई बड़ा कार्यक्रम होता है। “साहेब” अपने कैमरामैन लेकर पहुँच जाते हैं। पूरी ख़ाली सड़क पर साहेब चलते हैं, प्रजा बेरिकेडिंग के अग़ल-बग़ल खड़ी रहती है।

Shyam Meera Singh
@ShyamMeeraSingh

मंदिरों पर मंच सजते हैं, भगवान छोड़ पूरा ध्यान लाइट, कैमरा और एक्शन पर। टीवी चैनलों का पूरा फ़ोकस साहब पर। साहब का पूरा फ़ोकस कैमरा पर। जनता साहेब के हाथ हिलाने से ही मंत्रमुग्ध। भारतीय जनता, एक स्वतंत्र देश में अपना जनता होने का हक़ खोकर एक राजा की प्रजा बनकर रह गई है।

डिस्क्लेमर : ट्वीट्स में व्यक्त विचार लोगों के निजी विचार हैं, तीसरी जंग हिंदी का कोई सरोकार नहीं है