देश

प्रधानमंत्री अदानी का नाम अपने मुंह पर नहीं लाते, सरकार इस दलदल में बुरी तरह फंसी हुई है. जांच से सरकार क्यों भाग रही है? : राहुल गांधी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी केरल में अपने संसदीय क्षेत्र वायनाड पहुंचे हैं. यहां उन्होंने सार्वजनिक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अदानी का नाम अपने मुंह पर नहीं लाते हैं.

राहुल गांधी ने कहा, “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी राज्यसभा और लोकसभा में अपनी बात रखते हैं, लेकिन एक बार भी अदानी का नाम उनके मुंह पर नहीं आता है. इसका मतलब है कि सरकार इस दलदल में बुरी तरह फंसी हुई है. जांच से सरकार क्यों भाग रही है?”

राहुल गांधी ने क्या कहा पढ़ें …

कुछ दिन पहले मैंने संसद में हमारे प्रधानमंत्री और अदानी के रिश्ते के बारे में भाषण दिया था. मैंने बेहद विनम्र और सम्मानजनक तरीक़े से अपनी बात रखी. मैंने किसी भी तरह की ख़राब भाषा का इस्तेमाल नहीं किया, ना किसी को अपशब्द कहे, मैंने सिर्फ़ कुछ तथ्यों को उठाया.
मैंने सिर्फ़ ये बताया कि अदानी किस तरह प्रधानमंत्री के साथ विदेशों की यात्रा करते हैं और उसके तुरंत बाद इन देशों में उन्हें ठेके मिल जाते हैं.
मैंने ये दिखाया कि किस तरह एयरपोर्ट पर आने वाला तीस प्रतिशत ट्रैफ़िक अदानी के नियंत्रण में है क्योंकि उनके प्रधानमंत्री के साथ रिश्ते हैं.
मैंने ये बताया कि किस तरह नियमों को बदला गया ताकि अदानी को ये एयरपोर्ट मिल सकें. पहले जिन लोगों के पास एयरपोर्ट के संचालन का अनुभव नहीं होता था वो आवेदन नहीं कर सकते थे. लेकिन अदानी को प्रक्रिया में शामिल कराने के लिए नियम बदल दिए गए.

नीति आयोग और अन्य संस्थानों ने इस पर टिप्पणी की और कहा कि उन्हें अनुमति नहीं दी जानी चाहिए लेकिन फिर भी उन्हें अनुमति दी गई.
श्रीलंका में एक सार्वजनिक सुनवाई के दौरान एक अधिकारी ने ये कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने अदानी को बंदरगाह का ठेका देने के लिए दबाव बनाया था.
प्रधानमंत्री के बांग्लादेश जाने के कुछ दिन बाद ही अदानी को बांग्लादेश में बिजली का ठेका मिल जाता है.
अदानी और प्रधानमंत्री ऑस्ट्रेलिया जाते हैं और भारत का स्टेट बैंक अदानी को एक खदान प्रोजेक्ट के लिए एक अरब डॉलर का क़र्ज़ दे देती है.
मेरे भाषण देने के बाद मेरे भाषण के अधिकतर हिस्से को एडिट कर दिया गया और उसे संसद के रिकॉर्ड में दर्ज नहीं किया गया.
दरअसल अदानी और अंबानी का नाम एक साथ लेना प्रधानमंत्री का अपमान मान लिया गया है. लेकिन आप प्रधानमंत्री और उनकी साथ में तस्वीरें इंटरनेट पर देख सकते हैं. प्रधानमंत्री अदानी के जहाज में हंस रहे हैं. जब प्रधानमंत्री किसी देश में होते हैं तो अदानी किसी जादू से वहां पहुंच जाते हैं.
मैंने जो कुछ भी कहा था वो सब इंटरनेट पर मौजूद है. आप ये सवाल पूछिए गूगल से और आपको सबकुछ मिल जाएगा.