दुनिया

फ़िलिस्तीन में एक स्वतंत्र सरकार का गठन ज़रूरी है : अर्दोग़ान

तुर्किये के राष्ट्रपति रजब तय्यब अर्दोग़ान ने कहा है कि फिलिस्तीन में शांति व सुरक्षा स्थापित करने के लिए एक स्वतंत्र सरकार का गठन ज़रूरी है।

उन्होंने यह बात तुर्किये की यात्रा पर जाने वाले फिलिस्तीनी प्रशासन के प्रमुख महमूद अब्बास से अंकारा में होने वाली मुलाकात में कही। समाचार एजेन्सी इर्ना की रिपोर्ट के अनुसार रजब तय्यब अर्दोग़ान ने महमूद अब्बास के साथ एक प्रेस कांफ्रेन्स में एतिहासिक व पवित्र स्थलों विशेषकर मस्जिदुल अक्सा की स्थिति को बदलने के लिए किये जाने वाले कार्यों का विरोध किया।

उन्होंने कहा कि वह मरने वाले फिलिस्तीनियों की संख्या में वृद्धि, ग़ैर कानूनी ढंग से जायोनी कालोनियों का निर्माण और कालोनियों में रहने वाले जायोनियों की हिंसा से चिंतित हैं। इसी प्रकार तुर्किये के राष्ट्रपति ने फिलिस्तीन के साथ संबंधों में विस्तार और उसके समर्थन पर बल दिया और कहा कि पूरी शक्ति के साथ फिलिस्तीनियों की आकांक्षों का समर्थन जारी रखेंगे और फिलिस्तीनी लोगों की शांति व सुरक्षा में वृद्धि के लिए किसी प्रयास में संकोच से काम नहीं लेंगे।

उन्होंने कुछ पश्चिमी देशों की ओर से फिलिस्तीन विषय की अनदेखी किये जाने की ओर संकेत किया और इस मामले में विश्व समुदाय विशेषकर राष्ट्रसंघ की भूमिका व हस्तक्षेप को महत्वपूर्ण बताया।

इसी प्रकार इस मुलाकात में फिलिस्तीनी प्रशासन के प्रमुख महमूद अब्बास ने तुर्किये और फिलिस्तीन के एतिहासिक संबंधों पर बल दिया और इस मुलाकात को द्विपक्षीय संबंधों को और मज़बूत बनाने की दिशा में एक अवसर बताया।

ज्ञात रहे कि तुर्किये उन देशों में से है जिसके जायोनी शासन के साथ कूटनयिक संबंध भी हैं।