देश

भगवंत मान ने कहा-बड़े-बड़े कील और कंटीले तार लगाकर इंडिया और पंजाब का बॉर्डर न बनाओ, खरगे बोले, कांग्रेस किसानों के साथ खड़ी है!

किसान आंदोलन की वजह से पंजाब और हरियाणा में सियासत भी गर्माने लगी है। हरियाणा सरकार ने पंजाब से लगने वाली सीमाओं पर सुरक्षा व्यवस्था चाक चौबंद कर दी है। सभी सीमाओं को सील कर दिया गया है। सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ), रैपिड एक्शन फोर्ड (आरएएफ) और हरियाणा पुलिस के जवान तैनात हैं। इस बीच दोनों ही प्रदेशों के सीएम ने आंदोलन पर अपनी बात रखी। मान ने केंद्र से किसानों की मांगों को मानने की अपील की तो वहीं मनोहर लाल ने कहा कि अगर हथियार बांधकर किसान आते हैं तो उन्हें रोका जाएगा।

पंजाब और इंडिया का बॉर्डर न बनाओ: मान
पंजाब के सीएम भगवंत मान ने केंद्र सरकार से अपील की है कि वह किसानों की जायज मांगों को स्वीकार कर ले। सोशल मीडिया पोस्ट पर उन्होंने लिखा कि बड़े-बड़े कील और कंटीले तार लगाकर आप इंडिया और पंजाब का बॉर्डर न बनाओ। केंद्र सरकार किसानों के साथ बैठकर बात करे और उनकी जायज मांगों को मान लें।

हथियार बांधकर जाएंगे तो जरूर रोकेंगे: मनोहर लाल
हरियाणा के सीएम मनोहर लाल ने कहा कि पंजाब के किसानों को हरियाणा में घुसने से रोकने के लिए प्रदेश के सभी बॉर्डर सील किए जा चुके हैं। अगर किसान ट्रैक्टर पर हथियार बांधकर ले जाएंगे तो हम उन्हें जरूर रोकेंगे।

कांग्रेस किसानों के साथ खड़ी: खरगे

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने किसान आंदोलन का समर्थन किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस किसानों के साथ खड़ी है। हमारी पार्टी ने पहले भी किसानों का साथ दिया और अब भी देगी। उन्होंने एलान किया कि 2024 में कांग्रेस की सरकार बनने पर इन तीनों कृषि कानूनों को रद्द किया जाएगा। उनका आरोप है कि मोदी सरकार किसानों को खत्म कर सब कुछ कॉर्पोरेट को देना चाहती है।

सोनीपत में ट्रैक्टर में 10 लीटर से अधिक नहीं मिलेगा डीजल
हरियाणा में बीएसएफ और आरएएफ की 50 कंपनियां तैनात हैं। 15 जिलों में अब तक धारा 144 लागू की जा चुकी है। वहीं सात जिलों में इंटरनेट सेवा ठप है। शंभू के बाद झरमड़ी बॉर्डर को भी सील कर दिया गया है। सिंघु बॉर्डर पर दिल्ली पुलिस ने भारी बैरिकेडिंग की है। उधर, सोनीपत जिले में 12 और 13 फरवरी को खुले में डीजल-पेट्रोल बेचने पर रोक लगा दी है। वहीं ट्रैक्टर पर 10 लीटर से अधिक डीजल नहीं डालने की हिदायत दी गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *