देश

भारत जोड़ो यात्रा की तर्ज़ पर राहुल गांधी अब ‘मणिपुर से मुंबई’ तक भारत न्याय यात्रा निकालेंगे, यात्रा 14 जनवरी से शुरू होगी और 20 मार्च तक चलेगी : रिपोर्ट

भारत जोड़ो यात्रा की तर्ज़ पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी अब ‘मणिपुर से मुंबई’ तक भारत न्याय यात्रा निकालेंगे. यह यात्रा 14 जनवरी से शुरू होगी और 20 मार्च तक चलेगी.

इस यात्रा की घोषणा कांग्रेस पार्टी के महासचिव केसी वेणुगोपाल ने बुधवार को की.

वेणुगोपाल ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ़्रेंस में कहा, ”21 दिसंबर को कांग्रेस कार्यकारी समिति ने सर्वसम्मति से राय दी थी कि राहुल गांधी को पूरब से पश्चिम तक यात्रा निकालनी चाहिए. राहुल गांधी ने भी कांग्रेस कार्यसमिति की राय मान ली और वह यात्रा निकालने के लिए सहमत हैं. अखिल भारतीय कांग्रेस समिति ने 14 जनवरी से 20 मार्च तक मणिपुर से मुंबई तक भारत न्याय यात्रा निकालने का फ़ैसला किया है.”

65 दिन की यात्रा में राहुल गांधी 6,200 किलोमीटर दूरी तय करेंगे. यह यात्रा 14 राज्यों के 85 ज़िलों से होकर गुज़रेगी. इस यात्रा में राहुल गांधी मणिपुर, मेघालय, नगालैंड, असम, पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड, ओडिशा, छत्तीसगढ़, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, गुजरात और महाराष्ट्र जाएंगे.

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि राहुल गांधी इस दौरान युवाओं, महिलाओं और हाशिए के लोगों से बात करेंगे. राहुल गांधी ने भारत जोड़ों यात्रा पैदल चलकर पूरी की थी लेकिन भारत न्याय यात्रा बस पर सवार होकर करेंगे. वेणुगोपाल ने कहा कि बस से ज़्यादा से ज़्यादा लोगों तक पहुँचने में मदद मिलेगी. इस यात्रा में राहुल पैदल भी चलेंगे लेकिन लंबी दूरी बस से ही तय करेंगे.

यात्रा का मक़सद
राहुल गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा पिछले साल छह सितंबर से शुरू की थी और 150 दिनों तक चली थी. इस यात्रा में राहुल गांधी ने 4500 किलोमीटर की दूरी तय की थी. कांग्रेस पार्टी राहुल से भारत जोड़ो यात्रा के बाद एक और यात्रा निकालने का अनुरोध कर रही थी.

पिछले हफ़्ते 21 दिसंबर को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक हुई थी और इसी में सर्वसम्मति से कहा गया था कि राहुल गांधी को एक और यात्रा निकालनी चाहिए.

वेणुगोपाल ने बताया कि इस यात्रा का मकसद ‘सबके लिए न्याय’ है. उन्होंने कहा, ” हम महिलाओं, युवाओं और आम लोगों के लिए न्याय चाहते हैं. अभी सब कुछ अमीर लोगों के पास जा रहा है. ये यात्रा ग़रीब लोगों, युवा किसानों और महिलाओं की है.”

कांग्रेस को अभी पाँच राज्यों में हुए विधानसभा चुनाव में केवल तेलंगाना में जीत मिली है और बाक़ी के चार राज्यों में बुरी तरह से हार मिली है.

छत्तीसगढ़ और राजस्थान में कांग्रेस की सरकार थी लेकिन दोनों जगह बीजेपी को जीत मिली. भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान भी गए थे लेकिन विधानसभा चुनाव में यहाँ पार्टी वापसी नहीं कर पाई.

कांग्रेस की सरकार अब देश के महज़ तीन राज्यों कर्नाटक, तेलंगाना और हिमाचल प्रदेश में है.

कांग्रेस पार्टी में कम्युनिकेशन विभाग के प्रभारी और राज्यसभा सांसद जयराम रमेश ने भारत जोड़ो यात्रा और भारत न्याय यात्रा के बीच फ़र्क़ को बताया है.

कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने एक ट्वीट में कहा, “भारत जोड़ो यात्रा के दौरान राहुल गांधी ने तीन मुद्दे उठाए थे. उन्होंने आर्थिक विषमता के मुद्दे को उठाया था, सामाजिक ध्रुवीकरण के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाई थी और राजनीतिक तानाशाही, जो आज देश की हक़ीक़त बन गई है. उसके बारे में लोगों को अवगत कराया था. वह यात्रा मन की बात करने के लिए नहीं बल्कि जनता की चिंता थी. राहुल गांधी ने यात्रा के दौरान लोगों की समस्याओं को सुना था.”

उन्होंने कहा, “अब शुरू होने जा रही भारत न्याय यात्रा. आर्थिक न्याय के लिए, सामाजिक न्याय के लिए और राजनीतिक न्याय के लिए है. इसका उद्देश्य लोकतंत्र को बचाना है, संविधान को बचाना है और महंगाई और बेरोज़गारी से जो करोड़ों पीड़ित परिवार हैं, उनमें उज्ज्वल भविष्य का भरोसा जगाना है.”

राहुल गांधी की ये यात्रा ऐसे समय शुरू होगी जब देश में लोकसभा चुनाव 2024 के लिए तैयारियां ज़ोरो पर होंगी. इस बीच विपक्षी दलों के गठबंधन इंडिया में सीटों के बँटवारे पर चर्चा के लिए बैठकें भी जारी हैं.

कांग्रेस नेतृत्व कई राज्यों के स्थानीय नेताओं के साथ बैठक कर रही है. बिहार और यूपी के बाद कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे और राहुल गांधी ने आंध्र प्रदेश के नेताओं के साथ भी बैठक की है.

बीजेपी ने क्या कहा

राहुल गांधी की नई यात्रा पर बीजेपी ने निशाना साधा है.

बीजेपी प्रवक्ता नलिन कोहली ने कहा, ” भारत के लोगों ने ‘भारत जोड़ो यात्रा’ के विचार को ख़ारिज कर दिया था क्योंकि राहुल गांधी और कांग्रेस की कथनी और करनी में अंतर है. वो सोचते हैं कि वो कुछ नारे उछालकर भारत के लोगों को मूर्ख बना लेंगे. असल न्याय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार 2014 से ही दे रही है. “

कांग्रेस नेता दक्षिण भारत के राज्यों कर्नाटक और तेलंगाना के विधानसभा चुनावों में मिली सफलता का श्रेय भारत जोड़ो यात्रा को दे रहे हैं.

इंडिया गठबंधन के हिस्सा झारखंड मुक्ति मोर्चा ने भी इस पर प्रतिक्रिया दी है. झारखंड भी राहुल गांधी की न्याय यात्रा का हिस्सा है.

जेएमएम के प्रवक्ता मनोज पांडे ने इस यात्रा के बारे में कहा, “देखिए राहुल गांधी ने कन्याकुमारी से कश्मीर तक की जो यात्रा की थी, वो यात्रा बहुत ही सकारात्मक रही थी. राजनीतिक दृष्टिकोण से भी देखें तो उसका राजनीतिक लाभ भी मिला. लोगों को लगा कि ये व्यक्ति आम आदमी से जुड़ा रखता है, मोहब्बत की बात करता है, दंगे की बात नहीं करता है. पूरब से पश्चिम की यात्रा अभूतपूर्व होगी और इससे पूरे इंडिया गठबंधन को लाभ होगा.”