दुनिया

मार खाने के बाद, चोरी-छिपे ग़ज़्ज़ा पहुंचकर अपनी पब्लिसिटी के लिए फ़ोटो खिंचवा रहे हैं नेतनयाहू : हमास

चोरी-छिपे ग़ज़्ज़ा पहुंचकर नेतनयाहू वहां पर फोटो खिंचवा रहे हैं।

हमास का कहना है कि बहुत ही गोपनीय ढंग से नेतनयाहू का ग़ज़्ज़ा जाना, खुली हुई पराजय की निशानी है। फ़िलिस्तीन के इस्लामी प्रतिरोध आन्दोलन हमास के अनुसार पब्लिकसिटी पाने के लिए छिपकर ग़ज़्ज़ा में आकर अपनी फोटो खिंचवाना, अवैध ज़ायोनी शासन की पराजय को दर्शाता है।

हमास ने कहा है कि यह काम शक्ति की निशानी नहीं है बल्कि कमज़ोरी और परायज का चिन्ह है। हमास के नेता बासिम नईम ने स्पष्ट किया कि अवैध ज़ायोनी शासन, फ़िलिस्तीनियों की खुशी को रोकना चाहता है जो उनको अपने बंधुओं की स्वतंत्रता से मिली है।

याद रहे कि अवैध ज़ायोनी शासन के प्रधानमंत्री नेतनयाहू के कार्यालय ने रविवार को बताया था कि नेतनयाहू ने ग़ज़्ज़ा पट्टी की यात्रा की है। नेतनयाहू के कार्यालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि प्रधानमंत्री नेतनयाहू ने ग़ज़्ज़ा में इस्राईली सैनिकों के साथ भेंट की। उसका कहना था कि पूरी विजय हासिल होने तक सेना अपना काम जारी रखेगी।