उत्तर प्रदेश राज्य

मुरादाबाद : रामसरन ने पांच साल की बेटी की हत्या कर दी, शव जंगल में जलाया!

मुरादाबाद। मुरादाबाद के ठाकुरद्वारा थाना इलाके के सरकड़ा करीम गांव के रहने वाले रामसरन उर्फ टीटू ने पांच साल की सौतेली बेटी नैना की हत्या कर दी। इसके बाद जंगल में उसका शव जला दिया। पुलिस ने पत्नी की तहरीर पर आरोपी के खिलाफ गैर इरादतन हत्या और शव जलाने के आरोप में रिपोर्ट दर्ज की है।

 

फोरेंसिक टीम ने मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल की और नमूने लिए। ठाकुरद्वारा के सरकड़ा करीम गांव के रहने वाला रामसरन उर्फ टीटू केमिकल के टैंकर पर हेल्पर का काम करता है। इसके चलते उसका दिल्ली में आना-जाना होता है। इस दौरान उसकी मुलाकात दिल्ली निवासी सुनीता से हो गई थी।

करीब तीन साल पहले वह सुनीता को दिल्ली से अपने घर ले आया था। गांव स्थित मंदिर में ही रामसरन ने सुनीता से शादी की। सुनीता के पहले पति से एक बेटी नैना थी। जिसे रामसरन अपने साथ ही रखता था। सुनीता ने करीब चार माह पहले एक बच्चे को भी जन्म दिया।

सुनीता ने पुलिस को बताया कि टीटू नशे का आदी है। 30 दिसंबर शाम को भी रामसरन ने शराब पी थी। सुनीता ने विरोध किया तो रामसरन उसे डंडे से पीटने लगा। इस दौरान पांच वर्षीय बेटी नैना ने मां को बचाने का प्रयास किया, इस पर रामसरन से उसे भी पीटा था। जिससे वह घायल हो गई थी।

पुलिस ने बताया कि शाम को रामसरन बच्ची को पास के ही गांव खाकरखेड़ा में एक डॉक्टर को दिखाने की बात कहकर निकल गया, जहां डॉक्टर ने बच्ची को मृत घोषित कर दिया। इस दौरान पति के डर से सुनीता अपने चार माह के बच्चे को लेकर चली गई।

उधर, आरोपी डॉक्टर के पास से बच्ची के शव को लेकर घर चला आया। 30 दिसंबर की रात में शव घर में रखा और अगले दिन सुबह गांव से करीब 500 मीटर दूर नहर के पास खेत में ले गया। यहां उसने शव पर झाड़ियां रख दी और आग लगा दी।

सुबह ग्रामीणों के पहुंचने पर रामसरन वहां से भाग गया। एक जनवरी को ग्रामीणों को फिर रामसरन को खेत में घूमने और वहां से राख इकट्ठा करने की सूचना मिली। इस पर ग्रामीण वहां पहुंचे तो वहां से कुछ राख गायब मिली। ग्रामीणों का आरोप है कि आरोपी सबूत मिटाने के लिए वहां से राख हटाने की कोशिश कर रहा था।

सूचना पर सोमवार रात को पुलिस घटना स्थल पर पहुंची और रामसरन की तलाश में छापे मारे। हालांकि रामसरन पुलिस को नहीं मिला। पुलिस ने खेत में जाकर देखा तो नहर के किनारे कादर पड़ा था। मंगलवार सुबह सीओ राजेश कुमार तिवारी और प्रभारी निरीक्षक विजेंद्र सिंह ने भी घटना स्थल पर पहुंचे।

वहीं शाम के समय एसपी देहात संदीप मीना ने भी घटना स्थल का मुआयना किया। उधर, मंगलवार शाम को सुनीता की तहरीर पर उसके पति रामशरण उर्फ टीटू के खिलाफ हत्या और शव को छिपाने के आरोप में रिपोर्ट दर्ज की है।

फॉरेंसिक टीम ने मौके पर जाकर घटना की जांच की और मौके से राख और मिली हड्डियां आदि परीक्षण के लिए कब्जे में ली। वहीं आरोपी रामसरन के घर पर ताला लटका मिला। पड़ोसी पूजा ने बताया कि रामसरन नशे में आए दिन पत्नी के साथ मारपीट करता रहता था, उसके तीन भाई बाहर रहते हैं।

कोतवाली प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि आरोपी रामसरन की पुलिस तलाश कर रही है। सीओ राजेश कुमार तिवारी ने बताया कि घटना की रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है। आरोपी की तलाश की जा रही है।

अफसर पहुंचे गांव, फोरेंसिक टीम ने लिए साक्ष्य
एक बच्चे की हत्या करने के बाद शव जलाए जाने की सूचना मिलने पर एसपी देहात संदीप कुमार मीना और सीओ ठाकुरद्वारा गांव पहुंचे। उन्होंने ग्रामीणों से पूछताछ की और पूरे मामले की जानकारी ली। एसपी देहात ने बताया कि मौके से डीएनए के लिए नमूने लिए गए हैं। महिला के ब्लड के सैंपल लेकर डीएनए के लिए भेजे जाएंगे। जिससे पता चल सकेगा कि जंगल में जलाया गया शव बच्ची था या नहीं।

सुनीता ने टीटू से की है तीसरी शादी
सीओ राजेश कुमार ने बताया कि सुनीता ने रामसरन उर्फ टीटू से तीसरी शादी की है। उसने टीटू से शादी करने से पहले पति से तलाक ले लिया था। रामसरन की मारपीट से सुनीता को भी चोटें आई है।