दुनिया

यूक्रेन में विदेशी लड़ाके सक्रिय : अगले कुछ महीने यूक्रेन युद्ध के लिए बहुत महत्वपूर्ण होंगे : रिपोर्ट

रूस का कहना है कि यूक्रेन की सहायता के बहाने पश्चिमी देश लड़ाकों को वहां भेज रहे हैं।

रूस के विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता ने कहा कि मानवाधिकार की सहायता की आड़ में विदेशी लड़ाकों को यूक्रेन भेजा जा रहा है।

मारिया ज़ाख़ारोवा ने गुरूवार को कहा कि विदेशी लड़ाके न केवल सैन्य गतिविधियां अंजाम दे रहे हैं बल्कि वे आम नागरिकों के विरुद्ध भी हिंसक कार्यवाहियां करते हैं। उन्होंने कहा कि बहुत से वे देश जहां से यूक्रेन के लिए लड़ाके आते हैं वहां से दूसरे देशों में जाकर सैन्य गतिविधियां करना क़ानूनी अपराध है।

इससे पहले रूस के रक्षा मंत्रालय ने सचेत किया था कि वे विदेशी लड़ाके जो यूक्रेन पहुंच रहे हैं उनको सैनिक नहीं माना जाएगा और उनके विरुद्ध क़ानूनी कार्यवाही की जाएगी। रूस के विदेश मंत्रालय की ओर से पेश किये गए आंकड़ों के अनुसार विश्व के लगभग 60 देशों के लड़ाके इस समय यूक्रेन में मौजूद हैं। बयान में कहा गया है कि माॅस्को इस मामले को पश्चिम द्वारा यूक्रेन की सहायता के अर्थ में देखता है।

रूसी अनुसंधान समिति के प्रमुख एलेक्ज़ेंडर बासतृीकिन का कहना है कि वे विदेशी लड़ाके जो यूक्रेन युद्ध में भाग ले रहे हैं उनको वेतन के रूप में कम से कम 2734 डालर दिये जाते हैं। रूस के अनुसार यूक्रेन का यह मान अन्तर्राष्ट्रीय नियमों के विपरीत है। इससे पहले रूस ने अमरीका और पश्चिम के कई सैनिकों को यूक्रेन युद्ध के दौरान गिरफ़्तार किया था।

अगले कुछ महीने यूक्रेन युद्ध के लिए बहुत महत्वपूर्ण होंगेःसीआईए

अमरीकी गुप्तचर सेवा सीआईए का मानना है कि अगले 4 से 6 महीने, यूक्रेन युद्ध के लिए बहुत महत्वपूर्ण होंगे।

विलयम बर्नज़ ने कहा है कि हमारी जानकारी के हिसाब से यूक्रेन युद्ध के लिए अगले 4 से 6 महीने बहुत ही विशेष महत्व के स्वामी होंगे।

सीआईए के प्रमुख ने कहा कि रूस के राष्ट्रपति विलादिमीर पुतीन, वार्ता के लिए तैयार नहीं हैं। उन्होंने कहा कि एसी स्थति में वार्ता केवल युद्ध के मैदान की प्रगति पर ही निर्भर हो सकती है। उनका कहना था कि आगे का फैसला अब यह युद्ध ही करेगा।

इसी बीच सीआईए के डायरेक्टर विलयम बर्नज़ ने यूक्रेन युद्ध के संदर्भ में चीन के बारे में कहा कि शी जीपिंग ने रूस के लिए हथियार भेजने के बारे में अभी कोई फैसला नहीं किया है। हालांकि उन्होंने यह दावा किया कि हमारे पास एसे प्रमाण मौजूद हैं जो यह बताते हैं कि चीन के नेताओं के दृष्टिगत यह विषय पाया जाता है किंतु उसके बारे में उन्होंने अभी कोई निर्णय नहीं लिया है।

अमरीकी गुप्तचर सेवा सीआईए के प्रमुख के कथनानुसार वर्तमान समय में चीन के अधिकार इस बात की समीक्षा कर रहे हैं कि रूस के लिए सैन्य उपकरण भेजने पर पश्चिम की जवाबी कार्यवाही क्या होगी और उससे कैसे निबटा जाएगा। उल्लेखनीय है कि 24 फरवरी सन 2022 से यूक्रेन युद्ध आरंभ हुआ था। इस युद्ध को शुरू हुए एक साल से अधिक का समय हो चुका है किंतु इसके समाप्त होने की कोई संभावना दूर-दूर तक दिखाई नहीं दे रही है।