देश

लोकतंत्र और संविधान हमारी देश की आत्मा है, स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ – @kharge

Mallikarjun Kharge
@kharge
राष्ट्रीय आंदोलन के दौरान, अनगिनत भारतीयों ने अपना बलिदान दिया था, उन सभी के क़ुर्बानियों को हम नमन करते हैं।

महात्मा गाँधी, पंडित जवाहरलाल नेहरु, सरदार वल्लभ भाई पटेल, नेताजी सुभाष चंद्र बोस, मौलाना आज़ाद, राजेंद्र प्रसाद, सरोजिनी नायडू व बाबासाहेब अंबेडकर जैसे हमारे महान पूर्वजों ने, न सिर्फ़ राष्ट्रीय आंदोलन में अपना अमूल्य योगदान दिया बल्कि भारत की मज़बूत नींव रखने में सशक्त भूमिका निभाई।

हम बड़े आदर से, उनको आज श्रद्धांजलि अर्पित करते है।

लोकतंत्र और संविधान हमारी देश की आत्मा है।

जहां भी अन्याय होगा, कांग्रेस पार्टी न्याय स्थापित करेगी, लड़ेगी और आवाज़ उठाएगी।

▫️युवाओं के अधिकारों के लिये,
▫️किसानों की भलाई के लिए,
▫️महिलाओं के सम्मान के लिये,
▫️समाज के वंचितों के न्याय के लिये,
▫️छोटे व्यापारियों की कमाई के लिये !

एक बार फिर स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएँ। 🇮🇳


Abhishek Anand Journalist 🇮🇳
@TweetAbhishekA
पहली तस्वीर में एक नहीं 1000 समस्याएं हैं.

इसीलिए कहते हैं ऐसी संस्कृति को नष्ट हो जाना चाहिए. जहां महिलाएं आखिर में खाती हैं. बचाखुचा खाती हैं.

एक युवा पत्रकार साथी का अभी ट्वीट देखा, उसने लिखा, संबित जी की तस्वीर में कुछ भी गलत नहीं है. बस, बच्चे के सामने भी थाली होती.

वह उदार तो हुआ, लेकिन उतना भी नहीं हो सका.

बच्चों के साथ, महिलाओं के सामने भी थाली क्यों नहीं हो सकती? महिलाएं भी साथ क्यों नहीं खा सकतीं?

मेहमान के साथ घर के लोग नहीं खा सकते? नहीं इससे वे कम VVIP हो जाएंगे. फिर कैमरे के फ्रेम में सब बराबर आ जाएंगे. फ्रेम खराब हो जाएगा. है ना?


Manak Gupta

@manakgupta
कुछ लोग अमित शाह और CJI की तस्वीर ग़लत तरीक़े से दिखा रहे हैं, दावा कर रहे हैं कि CJI ने हाथ जोड़े और अमित शाह ने इग्नोर किया

ये रहा पूरा वीडियो

पहले दोनों ने एक दूसरे को हाथ जोड़ कर सम्मान दिया, उसके बाद CJI ने मिसेज़ शाह को हाथ जोड़ कर नमस्ते किया, तब तक अमित शाह अपनी सीट पर जाने के लिए मुड़ चुके थे. इसी पल का ग्रैब ले कर वायरल किया जा रहा है. सरासर झूठ है