दुनिया

विश्व के 172 मानवाधिकार संगठनों की मांग, ”यमन पर कुछ तो तरस खाओ”

विश्व के 172 संगठनों ने यमन में मानवीय त्रासदी को रोकने तथा इस देश के परिवेष्टन को समाप्त करने की मांग की है।

तसनीम समाचार एजेन्सी के अनुसार विश्व के 172 मानवाधिकार संगठनों ने एक संयुक्त बयान जारी करके यमन की वर्तमान मानवीय स्थति पर चिंता व्यक्त की है।

इन संगठनों के अनुसार दो करोड़ से अधिक यमनवासी इस समय अकाल की चंगुल में फंस चुके हैं और इस संख्या में बहुत तेज़ी से वृद्धि हो रही है। मानवाधिकार संगठनों के संयुक्त बयान में कहा गया है कि यमन में मानवीय दृष्टि से हालात दिन प्रतिदिन ख़राब होते जा रहे हैं।

बयान के अनुसार मानव की अंतरात्मा को भूखे-प्यासे और बीमार यमनियों की समस्याओं को अनेदखा नहीं करना चाहिए क्योंकि थोड़ी बहुत तवज्जो से उनकी परेशानियों को समाप्त किया जा सकता है। इन संगठनों ने यमन पर आक्रमण करने वाले गठबंधन के सदस्य देशों से भी मांग की है कि मानवािधकारों का ध्यान रखते हुए यमन के परिवेष्टन को यथाशीघ्र समाप्त किया जाए।

याद रहे कि अमरीका के समर्थन से सऊदी अरब और संयुक्त अरब इमारात ने मार्च 2015 को यमन के विरुद्ध आक्रमण आरंभ किया था जिसके बाद इस देश की बंदरगाहों का परिवेष्टन कर लिया जो अब भी जारी है।