दुनिया

सऊदी अरब ने ग़ज़ा पट्टी में जनसंहार के मुकदमे में इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस के फैसले का स्वागत किया!

सऊदी अरब ने ग़ज़ा पट्टी में जनसंहार के आरोप के मुकदमे में इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस के फैसले का स्वागत किया है.

आईसीजे ने इसराइल से कहा है कि वह ग़ज़ा में फ़लस्तीनियों को हो रहे किसी भी तरह के नुक़सान को तुरंत रोके.

सऊदी अरब के विदेश मंत्रालय ने एक बयान जारी कर कहा है, ”हम इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस का समर्थन करते हैं. साथ हीये ग़ज़ा पट्टी में इसराइल के कब्जे करने की रवैये को भी ख़ारिज करता है. ये जनसंहार जैसे मामलों में संयुक्त राष्ट्र के नियमों का भी उल्लंघन है.”

मंत्रालय ने दक्षिण अफ्रीका की भी तारीफ की है और कहा है कि ग़ज़ा पट्टी में इसराइली कब्जे के ख़िलाफ़ इंटरनेशनल कोर्ट में जाने के लिए दक्षिण अफ्रीका की तारीफ की जानी चाहिए.

साथ इसने ग़ज़ा में युद्धविराम के लिए अंतरराष्ट्रीय सहयोग की अहमियत पर भी जोर दिया.

यह आदेश दक्षिण अफ़्रीका या फ़लस्तीनियों के लिए पूरी जीत नहीं माना जा सकता, क्योंकि आईसीजे ने इसराइल को युद्धविराम करने या सैन्य अभियान रोकने का आदेश नहीं दिया