दुनिया

हमास की क़ैद से रिहा होने वाली इस्राईली महिला क़ैदी के बयान से नेतनयाहू सरकार के लिए बड़ी मुसीबत खड़ी हो गई : रिपोर्ट

हमास की क़ैद से रिहा होने वाली इस्राईली महिला ने बताया – ग़ज़ा के भीतर हमारे गार्ड अपनी जान पर खेल कर हमारी रक्षा कर रहे थे!

हमास की क़ैद से रिहा होने वाली इस्राईली महिला क़ैदी के बयान से नेतनयाहू सरकार के लिए एक और मुसीबत खड़ी हो गई है।

त्शीन अलमोग गोल्डस्टाइन अपने तीन बच्चों के साथ ग़ज़ा पट्टी में क़ैदी के रूप में रहीं जिसके बाद उन्हें रिहाई मिली। गोल्डस्टाइन ने बताया कि हमारी सुरक्षा पर तैनात हमास के जवान अपनी जान ख़तरे में डालकर हमारी रक्षा करते थे।

उन्होंने कहा कि कई बार यह स्थिति हुई कि इस्राईली हमलों के कारण हमास के उन जवानों की ज़िंदगी ख़तरे में पड़ गई जिनके नियंत्रण में हम थे और उन्होंने जान पर खेल कर हमारी हिफ़ाज़त की।

अलमोग़ ने अपनी बेटी के साथ मीडिया से बात करते हुए कहा कि हमास ने जो पहरेदार हमारे लिए रखे थे उनके लिए हमारी ज़िंदगियां बहुत अहम थीं। अलमोग़ ने कहा कि हमने कई बार उनसे पूछा कि क्या वे हमें क़त्ल करने का इरादा रखते हैं तो उनका जवाब था कि आपके मरने से पहले हम मरेंगे।

यह पूछे जाने पर क़ैद में उन्होंने अपना समय कैसे बिताया, अलमोग़ ने कहा कि मैं अपने बच्चों के साथ खेलती थी और मेरी बेटी ओग़ाम पूरे समय एक्सरसाइज़ करती रहती थी।

अलमोग़ ने बताया कि हमास के गार्ड ने मेरी बेटी से पंजा भी लड़ाया लेकिन अपने हाथ पर उसने रूमाल रख लिया क्योंकि वे ग़ैर औरत को छूना दीन के एतेबार से हराम समझते हैं।

अलमोग़ ने अपने छोटे बेटों के बारे में बताया कि वे दिन भर ड्राइंग करते रहते थे और दूसरे खेलों में अपने समय गुज़ारते थे।

ज्ञात रहे कि हमास ने पकड़े गए क़ैदियों में से 50 को रिहा किया और उनके बदले में 150 फ़िलिस्तीनियों को इस्राईली जेलों से रिहा करवाया था।