खेल

Video:बंग्लादेश और श्रीलंका के खिलाड़ियों के बीच मैदान में हुई हाथापाई और मारपीट-हार से बौखलाई लंका

नई दिल्ली: श्रीलंका और बांग्लादेश के बीच शुक्रवार को निदाहास टी20 ट्रॉफी के छठे मैच में क्रिकेट एक बार फिर शर्मसार हो गया। कोलंबो के आर प्रेमदासा स्टेडियम में बैठे हजारों दर्शक उस समय दंग रह गए जब बांग्लादेश के कप्तान शाकिब अल हसन ने अचानक अपने खिलाड़ियों को वापस पवेलियन बुला लिया।

यही नहीं, इस दौरान बांग्लादेश और श्रीलंकाई खिलाड़ियों के बीच मैदान पर भी गर्मागर्म बहस भी हुई। पहले बांग्लादेश के स्थानापन्न खिलाड़ी नुरुल हसन और श्रीलंकाई कप्तान थिसारा परेरा के बीच गहमागहमी हुई। फिर मैच खत्म होने के बाद कुसल मेंडिस और नुरुल हसन के बीच मारपीट होने से बची।

दरअसल, बांग्लादेश को आखिरी ओवर में 12 रन की दरकार थी। इसुरु उडाना ओवर करने आए और स्ट्राइक पर मुस्ताफिजुर रहमान थे। उडाना ने ओवर की पहली गेंद कंधें से ऊपर की बाउंसर डाली। तेज गेंदबाज ने अगली गेंद भी कंधें से ऊपर की बाउंसर डाली, जिस पर मुस्ताफिजुर रन लेने की फिराक में रनआउट हो गए।

https://twitter.com/beingnik07/status/974698903143555072?s=19

अंपायर्स ने इसे वाइड या नो बॉल करार नहीं दिया, जिस पर बांग्लादेशी टीम के खिलाड़ी काफी नाराज हुए। बांग्लादेश के खिलाड़ियों ने विरोध भी किया, लेकिन अंपायर्स पर इसका कोई असर नहीं दिखा। इससे नाराज शाकिब अल हसन ने अपने बल्लेबाजों को पवेलियन वापस बुला लिया। यह घटनाक्रम करीब पांच मिनट तक चला। पूर्व बांग्लादेशी क्रिकेटर खालिद महमूद ने समझदारी का परिचय देते हुए ने इसे खत्म किया।

यह खालिद महमूद ही थे, जिनके समझाने पर शाकिब ने अपने खिलाड़ियों को दोबारा बल्लेबाजी करने के लिए भेजा। बता दें कि अगर बांग्लादेश के बल्लेबाज क्रीज पर नहीं लौटते तो पूरी टीम को टूर्नामेंट से डिसक्वालिफाई कर दिया जाता।

बांग्लादेश को मुकाबला जिताने वाले महमुदुल्लाह ने मैच के बाद बताया कि आखिरी ओवर की शुरुआती दोनों गेंदें कंधे से ऊपर थीं और फील्ड अंपायर ने नो-बॉल नहीं दिया। इसकी वजह से हमने विरोध जताया। बता दें कि यह ओवर उडाना कर रहे थे। पहली गेंद पर मुस्ताफिजुर रहमान कोई रन नहीं बना पाए, जबकि दूसरी गेंद पर वह रनआउट हुए। जब यह घटना घटी तो बांग्लादेश को जीत के लिए 4 बॉल में 12 रन चाहिए थे। महमूदुल्लाह (31) और रुबेल हुसैन (0) क्रीज पर थे।

https://twitter.com/OnlyCricket_/status/974842570072260608?s=19

जब महमुदुल्लाह और रूबेल क्रीज पर लौटे तब भी दोनों देशों के खिलाड़ियों में गुस्सा स्पष्ट रूप से दिख रहा था। महमुदुल्लाह (43 रन) ने फिर ओवर की तीसरी गेंद पर चौका, चौथी गेंद पर 2 रन और 5वीं गेंद को छक्का उड़ाकर बांग्लादेश को एक गेंद शेष रहते 2 विकेट से जीत दिला दी। बांग्लादेश टीम की फाइनल में भिड़ंत भारत से 18 मार्च को इसी मैदान होगी। बांग्लादेश के खिलाड़ियों ने जीत का जश्न नागिन डांस करके मनाया।

मैच खत्म होने के बाद भी दोनों देशों के खिलाड़ी एक-दूसरे से बहस करते दिखे। बांग्लादेशी क्रिकेटरों ने काफी देर तक मैदान पर जश्न के तौर पर नागिन डांस भी किया। हालांकि, जीत के बाद शाकिब अल हसन और महमुदुल्लाह ने अपने खिलाड़ियों को संभाला, लेकिन आईसीसी बांग्लादेशी टीम और उसके कप्तान की इस हरकत को नजरअंदाज करे यह कहना मुश्किल ही है।