देश

महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन ने कहा ‘बलात्कारियों को फांसी देने के लिए मैं जल्लाद बनने को भी तैयार हूँ”

नई दिल्ली: इन दिनों देश बहुत ज़्यादा दर्द से गुज़र रहा है क्योंकि एक के बाद एक कई रेप की घटनाओं के कारण सेलिब्रिटी से लेकर आम आदमी तक गुस्से में है,हर किसी ने इन घटनाओं की कड़े शब्दों में निंदा करी है और पीड़ितों के लिये इंसाफ की माँग करी है।

बॉलीवुड ने सड़कों पर उतरकर इंसाफ की मांग करी है,तथा खेल जगत से विराट कोहली और वीरेंद्र सहवाग सहित अन्य लोगों ने भी इन घटनाओं पर दुख जताया है,अब देश के बड़े उद्धोगपति और महिंद्रा ग्रुप के चेयरमैन आनंद महिंद्रा भी इन घटनाओं से आहत हैं उन्होंने ट्विटर पर अपने गुस्से को जाहिर किया है।

आनंद महिंद्रा ने ट्विटर पर लिखा कि जल्लाद की नौकरी ऐसी नहीं है कि हर कोई उसे चाहे. लेकिन अगर रेप करने वालों आरोपियों और छोटी बच्चियों को मारने वालों को सज़ा देने की बात हो तो मैं ये नौकरी खुशी-खुशी करना चाहूंगा. मैं शांत रहने की काफी कोशिश करता हूं लेकिन अपने देश में इस प्रकार की घटनाएं देखकर मेरा खून खौलता है।

रविवार को भी उन्नाव और कठुआ रेप केस के विरोध में सिविल सोसायटी के लोगों ने दिल्ली के जंतर-मंतर पर प्रदर्शन किया. इस विरोध प्रदर्शन में बड़ी तादाद में लोग शामिल हुए. प्रदर्शन में पुरुष, महिला, थर्ड जेंडर, छात्र, वरिष्ठ नागरिकों समेत छोटे बच्चे भी शामिल हुए. इन लोगों की मांग है कि उन्नाव और कठुआ घटना के दोषियों को सख्त सजा दी जाए. यह प्रदर्शन शाम करीब पांच बजे से शुरू हुआ।

इस प्रदर्शन में देश के विभिन्न हिस्सों और विश्वविद्यालयों- जवाहर लाल यूनिवर्सिटी, दिल्ली यूनिवर्सिटी, अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के छात्र और शिक्षक पहुंचे हैं. इनके अलावा सुप्रीम कोर्ट के कई वकील भी विरोध प्रदर्शन में शामिल हैं।