देश

दरगाह आला हजरत ने मोहम्मद अली जिन्ना की फ़ोटो पर जारी करी अपील-देखिए क्या कहा ?

बरेली : अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में मोहम्मद अली जिन्ना की तस्वीर को लेकर विवाद काफी बढ़ चूका है,जिसमें यूनिवर्सिटी के छात्र नेता सहित कई घायल हुए हैं जिसके बाद से विश्विद्यालय के गेट पर छात्र धरना देकर बैठ गए हैं।

पुलिस ने यूनिवर्सिटी परिसर में हंगामा करने वालो को गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है लेकिन इसके बावजूद छात्र अपनी माँगों पर अड़े हुए हैं,जिन्ना की फ़ोटो पर तमाम मुस्लिम स्कॉलर और धार्मिक गुरुओं ने अपनी बेबाकी से राय दी है,और जिन्ना की फ़ोटो का विरोध जताया है।

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में लगी पाकिस्‍तान के संस्‍थापक मोहम्‍मद अली जिन्‍ना की तस्‍वीर पर उपजे विवाद पर मचे घमासान के बीच बरेली की आला हजरत दरगाह ने फतवा जारी किया है. दरगाह ने फतवा जारी कर कहा कि मुस्लिम समुदाय द्वारा मोहम्‍मद अली जिन्‍ना का समर्थन करना जायज नहीं है. दरगाह आला हजरत के प्रवक्‍ता मौलाना शहाबुद्दीन ने जिन्‍ना को देश का दुश्‍मन बताया है. फतवे में कहा गया है कि जिन्‍ना हमारे देश का हिस्‍सा नहीं हैं. जहां-जहां भी जिन्‍ना की तस्‍वीरें लगी हुई हैं, वहां से उसे हटा देना चाहिए।

बता दें कि एएमयू में लगी जिन्‍ना की तस्‍वीर का मामला सामने आने के बाद देश में राजनीतिक माहौल गरमाया हुआ है. इस मामले में कई नेता अपने-अपने बयान दे चुके हैं. कुछ संगठन उनकी तस्‍वीर के मामले में विरोध प्रदर्शन कर रहे हैं. अब मामले में मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ द्वारा चिंता जताने के बाद जिन्‍ना की तस्‍वीर को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से हटाने की कवायद तेज कर दी गई है. प्रदेश के अल्‍पसंख्‍यक आयोग के अध्‍यक्ष के मुताबिक जिन्‍ना की तस्‍वीर हटाने को लेकर जल्‍द ही एएमयू की कार्यपरिषद में प्रस्‍ताव पेश किया जाएगा।

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी स्पष्ट कर दिया था कि जिन्ना को इतना महत्व देने का कोई मतलब नहीं है. इसके बाद विश्वविद्यालय कार्यपरिषद की ओर से जिन्ना की तस्वीर हटाने को लेकर प्रस्ताव लाने की कवायद शुरू की गई है. यूपी अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष और एएमयू कार्यपरिषद के सदस्य तनवीर हैदर उस्मानी के मुताबिक विश्वविद्यालय से जिन्ना की तस्वीर हटाने के लिए कार्यपरिषद में एक प्रस्ताव पेश किया जाएगा. उन्होंने कहा कि जिन्ना की तस्वीर एएमयू में किसी भी सूरत में नहीं होनी चाहिए. इसके लिए जल्द कार्यवाही शुरू की जाएगी।