देश

भारत में मज़हब के आधार पर भेदभाव नही किया जाता है: गृहमंत्री राजनाथ सिंह

नई दिल्ली: भारतीय सरकार में महत्वपूर्ण पद ग्रहमंत्री के पद पर आसीन राजनाथ सिंह ने एक बात स्पष्ट रूप से कही है कि देश मे मज़हब के नाम पर किसी से भी भेदभाव नही किया जाता है ,पिछले दिनों से कुछ राजनीतिक लोगों की ब्यान बाज़ी पर ग्रहमंत्री ने नाराजगी जताई है और स्पष्टरूप से अपनी बात कही है।

भारतीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि भारत किसी के भी खिलाफ धर्म या संप्रदाय के आधार पर भेदभाव नहीं करता है। उनकी टिप्पणी दिल्ली के आर्कबिशप के उस बयान की पृष्ठभूमि में आई है जिसमें उन्होंने देश में बने ‘उथल-पुथल वाले राजनीतिक माहौल’ का जिक्र किया था और 2019 के आम चुनाव से पहले प्रार्थना अभियान शुरू करने की अपील की थी।

सिंह ने यहां कहा कि भारत में ऐसा करने की इजाजत नहीं दी जा सकती। दिल्ली के सभी पादरियों को भेजे पत्र में दिल्ली के आर्कबिशप अनिल काउटो ने वर्ष 2019 के आम चुनाव से पहले एक प्रार्थना आंदोलन शुरू करने और शुक्रवार के दिन व्रत करने का अनुरोध किया था।

पत्र में देश के अशांत राजनीतिक माहौल को खतरा बताते हुए कहा गया कि अपने देश और यहां के राजनीतिक नेताओं के लिए प्रार्थना करने की हमारी पवित्र प्रथा रही है लेकिन यह हम तब शुरू करें जब देश में चुनाव निकट आ रहा हो

राजनाथ सिंह की गिनती भारतीय जनता पार्टी में नरम दल के लोगों में होती है जिन्होंने कभी भी किसी भी जाति संप्रदाय धर्म को लेकर बयानबाज़ी या निशाना नही बनाया है,इसी कारण से उनकी मज़बूत पकड़ हर वर्ग के लोगों के बीच है।